• Home
  • Punjab News
  • Dhuri News
  • नशे के कारोबारियों को बख्शा नहीं जाएगा : डीएसपी
--Advertisement--

नशे के कारोबारियों को बख्शा नहीं जाएगा : डीएसपी

नशे के पूर्ण खात्मे के लिए डी.एस.पी धूरी आकाशदीप सिंह औलख ने सब डिवीजन धूरी के अधीन थाना सदर धूरी, सिटी धूरी तथा...

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 03:30 AM IST
नशे के पूर्ण खात्मे के लिए डी.एस.पी धूरी आकाशदीप सिंह औलख ने सब डिवीजन धूरी के अधीन थाना सदर धूरी, सिटी धूरी तथा शेरपुर के अतिरिक्त इन थानों के अधीन पड़ती पुलिस चौकियों के प्रभारियों के साथ बैठक की। बैठक में उप जिला अटार्नी (लीगल) हुस्न लाल भी विशेष तौर पर मौजूद रहे। डी.एस.पी. धूरी आकाशदीप सिंह औलख ने कहा कि नशे के कारोबार में लिप्त किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। यदि किसी भी राजनीतिज्ञ या पुलिस अधिकारी की नशा तस्करी में मिलीभगत सामने आती है, तो उसके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस मौके पर उप जिला अटार्नी (लीगल) हुस्न लाल ने नशा तस्करों के खिलाफ कड़ी धाराओं के तहत मामले दर्ज करने संबंधी जानकारी दी। बैठक के उपरांत डी.एस.पी. आकाशदीप सिंह औलख ने बताया कि क्षेत्र में नशा करने वाले चार व्यक्तियों की शिनाख्त करके उन्हें नशामुक्ति केन्द्र में दाखिल करवाया गया है, ताकि यह नौजवान ठीक होकर समाज की मुख्य धारा में शामिल होकर नई जिंदगी शुरू कर सकें। उन्होंने कहा कि नशा तस्कर या नशा करने वाले व्यक्ति संबंधी यदि किसी को भी कोई जानकारी हो, तो वह इस संबंधी उनके साथ या संबंधित पुलिस स्टेशन में संपर्क करें। इस मौके पर सिटी धूरी के एस.एच.ओ. बलजिंदर सिंह पन्नू, सदर एस.एच.ओ. हरविंदर सिंह खैहरा, शेरपुर एस.एच.ओ. हीरा सिंह, रणीके चौकी इंचार्ज नरिन्दर सिंह भल्ला, भलवान चौकी इंचार्ज मनप्रीत कौर तथा रीडर टू डी.एस.पी जसबीर सिंह भी मौजूद थे। (अमित जिंदल)

कार्रवाई

नशे की रोकथाम के लिए डीएसपी आकाशदीप सिंह औलख ने धूरी के अधीन थाना व चौकी इंचार्जों से की बैठक

डी.एस.पी आकाशदीप सिंह औलख पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए।

नशा छोड़ने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति पुलिस से करें संपर्क : पलविंदर सिंह

अमरगढ़|
डीएसपी पलविंदर सिंह चीमा, एसएचओ गुरभजन सिंह व सरपंच परमजीत सिंह ने सैंसी वर्ग के लोगों के साथ बैठक की। डीएसपी पलविंदर सिंह चीमा ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नशे के कारोबार को बंद कर एक अच्छा जीवन व्यतीत करना चाहिए। पंजाब सरकार ने हर तरह के नशे पर पाबंदी लगा दी है परंतु यदि फिर भी कोई नशा का कारोबार करता पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति नशा छोड़ना चाहता है तो पुलिस से संपर्क करे। पुलिस उसे नशामुक्ति केन्द्र में भर्ती करवाकर उपचार करवाएगी। उन्होंने कहा कि नशा तस्करी करने वाले की सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा। इस मौके पर सैंसी वर्ग के लोगों ने डीएसपी को नशा न बेचने का विश्वास दिलवाया। (दुग्गल)