Hindi News »Punjab »Dina Nagar» जनरल ओबीसी फ्रंट ने एससी-एसटी एक्ट और जाति आरक्षण का पुतला फूंक जताया विरोध

जनरल ओबीसी फ्रंट ने एससी-एसटी एक्ट और जाति आरक्षण का पुतला फूंक जताया विरोध

एससी-एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीमकोर्ट द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को दरकिनार करते हुए इस एक्ट में संशोधन के लिए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 06, 2018, 02:01 AM IST

  • जनरल ओबीसी फ्रंट ने एससी-एसटी एक्ट और जाति आरक्षण का पुतला फूंक जताया विरोध
    +1और स्लाइड देखें
    एससी-एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीमकोर्ट द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को दरकिनार करते हुए इस एक्ट में संशोधन के लिए केंद्र सरकार की ओर से संसद में बिल पेश किए जाने के फैसले के विरोध में जनरल ओबीसी कैटेगरी फ्रंट द्वारा बस स्टैंड के बाहर एससी-एसटी एक्ट और जाति आधारित आरक्षण का पुतला जलाकर रोष प्रदर्शन किया गया।

    इससे पहले फ्रंट के प्रधान डिंपल खजूरिया, चेयरमैन पिंदर पाल सिंह राजू और सिटी प्रधान रोहित महाजन की संयुक्त अगुवाई में रोष मार्च निकालकर एक्ट के विरोध में नारेबाजी करते हुए सरकार से इस एक्ट को रद करने और जाति आधारित आरक्षण को समाप्त कर आर्थिक आरक्षण लागू करने की मांग की गई। वक्ताओं ने कहा कि देश के सभी राजनीतिक दल एससी-एसटी एक्ट की आड़ में अपनी राजनीतिक रोटियां सेंककर समाज को बांटने का प्रयास कर रहे हैं। इससे जनरल समाज और ओबीसी समाज खुद को बुरी तरह से प्रताड़ित और उपेक्षित महसूस कर रहा है। दुख की बात है कि वोट की राजनीति के प्रभाव में जकड़े जनरल समाज के सांसद और विधायक भी मूकदर्शक बन समाज को जातियों में बांटने वाले कानूनों को बढ़ावा देने में अपना योगदान दे रहे हैं।

    फ्रंट के चेयरमैन पिंदर पाल सिंह राजू ने कहा कि जनरल समाज देश में समानता की वकालत करते हुए अपनी आवाज बुलंद कर रहा है। लेकिन, उस पर तानाशाही एससी-एसटी एक्ट को थोपकर जाति आधारित भेदभाव को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने इस एक्ट को पूरी तरह गैर संवैधानिक बताया। कहा कि जनरल समाज इसका डटकर विरोध करेगा और आने वाले समय में इस काले कानून के खिलाफ संघर्ष को तेज किया जाएगा।

    एससी-एसटी एक्ट रद्द करने की मांग लेकर रोष मार्च निकालते जनरल ओबीसी फ्रंट के सदस्य।

    एक्ट रद्द करने के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे : डिंपल

    फ्रंट के प्रधान डिंपल खजूरिया ने कहा कि संविधान में समानता के अधिकार के विपरीत जाकर बनाए गए इस गैर संवैधानिक कानून रद करने करवाने के लिए फ्रंट की तरफ से जल्द ही सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की जा रही है। उन्होंने कहा कि एससी-एसटी समाज के हकों को खुद इसी समाज के साधन संपन्न लोग हड़प रहे हैं । देश के सामने इस सच्चाई को लाया जाएगा कि एससी-एसटी समाज के नाम पर राजनीति करने वाले कैसे निजी फायदों के लिए अपने ही वर्ग का शोषण कर रहे हैं।

    सामाजिक समानता के लिए आर्थिक आरक्षण लागू करना जरूरी : रोहित

    सिटी प्रधान रोहित महाजन ने जाति आधारित आरक्षण का विरोध करते हुए आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू करने की मांग करते हुए कहा कि देश में सामाजिक समानता लाने के लिए नई आरक्षण व्यवस्था को लागू किया जाना बेहद जरूरी है। इससे समाज की सभी जातियों को समानता का अधिकार मिलेगा और सभी जातियों के कमजोर वर्ग को ऊपर उठाने में मदद मिलेगी। इस अवसर पर उपप्रधान प्रवीण चौधरी, अनिल महाजन चपाटा, संगठन मंत्री हरप्रीत सिंह, सचिव रोबिन शर्मा, संजीव शर्मा, प्रिंस आनंद, सौरभ महाजन, विशाल महाजन, कुणाल महाजन, नोहित शर्मा, हर्ष अग्रवाल, नवनीत सोढी, सूरत सिंह काटल, वरुण शर्मा, सतीश कुमार पंडोरी, तरसेम महाजन, ठाकुर युवराज सिंह, विजय कुमार मेहता, सूबेदार निर्मल सिंह, जुगल शर्मा, कुलजीत सिंह, भवित सिंगला, रमेश शर्मा, नरिंदर शर्मा, रोजी, युवराज सैनी, अमित कुमार शर्मा, सुधांषु पुष्प, भारती महाजन, विक्रांत महाजन, अंकुश शर्मा, आतिश महाजन, राजू मेहरा, राहुल गुप्ता, गोपाल शर्मा, हरदीप सिंह आदि मौजूद रहे।

  • जनरल ओबीसी फ्रंट ने एससी-एसटी एक्ट और जाति आरक्षण का पुतला फूंक जताया विरोध
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dina Nagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×