• Home
  • Punjab News
  • Fazilka
  • गुप्त योजना के विरोध में आर्य समाज का प्रतिनिधिमंडल डीसी से मिला
--Advertisement--

गुप्त योजना के विरोध में आर्य समाज का प्रतिनिधिमंडल डीसी से मिला

पंजाब विश्वविद्यालय में स्थापित स्वामी दयानंद चेयर को संस्कृत विभाग में विलय करने के बहाने समाप्त करने की...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 03:20 AM IST
पंजाब विश्वविद्यालय में स्थापित स्वामी दयानंद चेयर को संस्कृत विभाग में विलय करने के बहाने समाप्त करने की प्रस्तावित गुप्त योजना के विरोध में आर्य समाज फाजिल्का के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को अध्यक्ष डॉ. नवदीप जसूजा के नेतृत्व में डीसी ईशा कालिया को ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर आर्य समाज के पदाधिकारी सुशील वर्मा, अमर लाल बाघला, सतीश आर्य, प्रदीप अरोड़ा, मोहन बिदानी, सुनील नागपाल, राजबीर सिंह, हरबंस लाल व स्त्री आर्य समाज की ओर से अध्यक्ष इंदु भुसरी, सिम्मी जसूजा, सरोज बिदानी, सुनीता मिड्ढा उपस्थित थे। ज्ञापन में बताया गया है कि पंजाब विश्वविद्यालय में भी यूजीसी द्वारा 1975 में दयानंद चेयर की स्थापना की गई थी। जिसमें अब तक 70 से अधिक छात्रों द्वारा महर्षि दयानंद पर शोध कर पीएचडी की डिग्री प्राप्त की गई। गत कुछ समय से पंजाब विश्वविद्यालय के प्रशासन द्वारा चेयर को संस्कृत विभाग में विलय करने के बहाने खत्म करने की गुप्त योजना बनाई जा रही है। इससे आर्य समाज के पदाधिकारियों व सदस्यों में रोष है। ज्ञापन में बताया गया है कि यदि विश्वविद्यालय ने विलय के बहाने स्वामी दयानंद चेयर को समाप्त किया तो आर्य समाज व इससे जुड़े शैक्षणिक संस्थान व संगठन आर्य प्रतिनिधि सभा पंजाब व आर्य विद्या परिषद के तत्वावधान में आंदोलन करेंगे।