200 दिव्यांग पहुंचे अस्पताल, कुर्सियों की व्यवस्था नहीं होने के कारण फर्श पर बैठे

Ferozepur News - बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. साहब राम ने 10 दिव्यांगों के रेलवे पास बनाए फाजिल्का केमिस्ट एसोसिएशन के प्रधान बाल कृष्ण...

Feb 15, 2020, 07:40 AM IST
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. साहब राम ने 10 दिव्यांगों के रेलवे पास बनाए

फाजिल्का केमिस्ट एसोसिएशन के प्रधान बाल कृष्ण कटारिया व पंजाब कैमिस्ट एसोसिएशन के कार्यकारिणी सदस्य अशोक कामरा ने बताया कि पंजाब केमिस्ट एसोसिएशन (पी.सी.ए.) के प्रधान सुरिन्द्र दुग्गल ने पंजाब के केमिस्टों को आ रही समस्याओं के बारे में पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह को एक पत्र लिखा है। उन्होंने बताया कि गत 18 नवंबर को चंडीगढ़ में पीसीए की स्वास्थ्य मंत्री के साथ एक बैठक हुई थी। जिसमें प्रशासनिक व ड्रग विभाग के उच्चाधिकारी भी शामिल हुए थे। इस बैठक में केमिस्टों को पेश आ रही विभिन्न प्रकार की समस्याओं पर गहन चर्चा हुई। उक्त बैठक में नए लाइसेंसों के बारे में, सुपर डिस्ट्रीब्युटर, सुपर स्टोकिस्ट, कोई पार्टनरशिप में अलग अलग होना चाहे, किसी पार्टनर की आर्थिक स्थिति खराब होने पर कोई नया पार्टनर मिलाना, फर्म को एक जगह से दूसरी जगह शिफ्ट करना आदि पर विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने आश्वासन दिया था कि जल्दी ही इस संबंधी नई नीति बनाई जाएगी। लेकिन करीब तीन माह बीत जाने के बावजूद विभाग द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने बताया कि अब पीसीए की कार्यकारिणी की बैठक 8 मार्च को लुधियाना में रखी गई है। पंजाब के सभी जिलों के प्रधान, सचिव व कार्यकारिणी के सदस्य इसमें भाग लेंगे तथा अगली रणनीति पर विचार किया जाएगा।

स्कूल संचालकों को आ रही मुश्किलों व बोर्ड परीक्षाओं संबंधी चर्चा आज

भास्कर न्यूज|अबोहर

रिकोग्नाइज्ड एंड एफिलिएटि स्कूल्स एसोसिएशन की बैठक स्थानीय होटल हैवनव्यू में 15 फरवरी शनिवार दोपहर 12 बजे आयोजित होगी। रासा के प्रांतीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष शाम लाल अरोड़ा ने बताया कि इस बैठक में रासा की प्रदेश स्तरीय कौर कमेटी पहुंचेगी, जिनका स्वागत किया जाएगा। बैठक के दौरान स्कूल संचालकों को आ रही मुश्किलों एवं बोर्ड परीक्षाओं संबंधी विस्तार से चर्चा होगी और उन समयाओं का हल भी किया जाएगा।

रिक्रीएशन क्लब के पदाधिकारियों ने डीसी व एसएसपी से की मुलाकात

फाजिल्का| रिक्रिएशन क्लब के उपाध्यक्ष डॉ. रविकांत गगनेजा, सचिव पवन भठेजा व कोषाध्यक्ष राकेश खेड़ा ने गत दिवस जिला फाजिल्का के नवनियुक्त डीसी अरविन्द पाल सिंह संधू व एसएसपी विवेकशील सोनी के कार्यालय में जाकर मुलाकात की व बुके भेंट करके फाजिल्का में नियुक्ति पर स्वागत किया। फाजिल्का के डिप्टी कमिशनर रिक्रिएशन क्लब के अध्यक्ष पद पर व एसएसपी वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर नामित किए जाते हैं। क्लब के तीनों पदाधिकारियों ने डीसी व एसएसपी से हुई शिष्टाचार भेंट में उन्हें क्लब की गतिविधियों से अवगत करवाया व उन्हें क्लब में आने का निमंत्रण देते हुए आग्रह किया कि क्लब को और बेहतर बनाने के लिए सुझाव दें व मार्गदर्शन करें।

घर में आप और आपके बच्चे कैसे जागते हैं?

आपको टूथपेस्ट के एक विज्ञापन का वो हीरो याद है, जिसकी स्वीटहार्ट पिछली रात टेनिस में हार जाने और रैकेट टूटने के कारण उदास है और हीरो उसे खुश करने की कोशिश करता है। वह तुरंत ब्रश करने की कोशिश करती है और अचानक बहुत एक्टिव हो जाती है। उस एड के इस सीन का प्रतीकात्मक मतलब है कि टूथपेस्ट सुस्ती हटा देता है और शरीर नए दिन की नई चुनौतियों के लिए नई ऊर्जा से भर जाता है। मैं नहीं जानता कि इसके पीछे कोई विज्ञान है या नहीं, लेकिन मुझे अमेरिका के ‘प्लॉस वन’ जर्नल में एक शोध के बारे में पढ़ने को मिला। इसके एक लेख के मुताबिक सुरीला अलार्म सुबह की सुस्ती दूर कर सकता है और हमारी सजगता या सतर्कता बढ़ा सकता है। जी हां, यह हमें उन ध्वनियों पर ध्यान देने की सलाह देता है, जो हमें रोजाना उठाती हैं। अमेरिका की आरएमआईटी यूनिवर्सिटी द्वारा किया गया अध्ययन बताता है कि सुरीले अलार्म सतर्कता का स्तर सुधार सकते हैं, जबकि कर्कश अलार्म सुबह सुस्तीपन या मदहोशी बढ़ा सकते हैं। वैज्ञानिकों को लगता है कि आप खुद को जगाने के लिए रिदम और मैलोडी का जो मिश्रण चुनते हैं, उसके कुछ जटिल नतीजे होते हैं। अध्ययन कहता है कि यह उन लोगों के लिए खासतौर पर जरूरी है जो सुबह उठकर ऐसे कामों पर जाते हैं, जिनमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत होती है। जैसे फायर ब्रिगेड में काम करने वाले या पायलट।

इससे मुझे मेरे बचपन के दिन याद आ गए, जब मेरे माता-पिता मुझे बहुत धीरे-धीरे उठाते थे। वास्तव में मेरे पिता, जो हमेशा मुझसे कठोर आवाज में बात करते थे, वे भी अपनी आवाज को थोड़ा धीमा और मधुर कर बोलते थे, ‘बेटा उठ जाओ, देर हो रही है।’ मुझे यह सुनना बहुत अच्छा लगता था। जब भी मुझे और प्यार-दुलार पाना होता था, मैं रजाई में और अंदर घुस जाता था, उन सर्दियों के दिनों में जो मार्च में होली तक चलती थीं। पिताजी थोड़ी देर ये लाड़-दुलार जारी रखते थे, लेकिन वे जल्दी में होते थे, क्योंकि उन्हें रेलवे स्टेशन जाना होता था, चूंकि उन दिनों रिजर्वेशन काउंटर सुबह 7 बजे खुल जाते थे। फिर पिताजी के नहाने जाने पर ये काम मेरी मां संभालती थीं। वे इसमें कुछ विशेषण जोड़ देती थीं। जैसे ‘मेरा बहादुर बच्चा उठ जा’ और ‘मेरा मेहनती बेटा’ आदि। ‘मेहनती’ शब्द मेरे कानों को किसी संगीत की तरह लगता था। इससे मैं रजाई के आराम से बाहर निकलकर घर के लिए दूध लाने की अपनी जिम्मेदारी के लिए तैयार हो जाता था, जैसे ये मेरे परिवार के लिए मेरा सबसे बड़ा योगदान हो।

उन दिनों सरकारी बूथ से दूध की बोतलें लाना मेरी ड्यूटी थी। आपको वो नीली या लाल धारियों वाली, एल्युमिनियम के ढक्कन वाली दूध की बोतलें याद हैं? साइकिल पर इन बोतलों को लाने के लिए बहुत सतर्क रहना पड़ता था। एक हाथ से साइकिल का हैंडल और दूसरे हाथ से बोतलें संभालनी पड़ती थीं, क्योंकि जाते समय तो बोतलें खाली और लौटते हुए भरी हुई रहती थीं। खासतौर पर तब, जब खराब सड़क पर साइकिल चलानी हो। बूथ पर मौजूद व्यक्ति किनारों से टूटी हुई या दरार वाली खाली बोतलें नहीं लेता था, जबकि मेरे जैसे बच्चे को देखकर खुद चुपके से दरार वाली बोतलें देने की कोशिश करता था। ऐसी बोतलों को लेने से इनकार करने के लिए सतर्क रहना जरूरी था। हालांकि, मेरे माता-पिता को आज की रिसर्च के बारे में कोई अंदाजा नहीं था, लेकिन वे तब एक बात जानते थे कि अगर हम हमारे बच्चों को सतर्क-सजग और ऊर्जावान रखना चाहते हैं तो उन्हें ऐसे शब्दों से उठाना होगा जो उन्हें सुरीले संगीत जैसे लगें। शोधकर्ताओं ने यह भी पाया है कि कर्कश ‘बीप-बीप’ वाली अलार्म टोन उठने के बाद चलने में भ्रमित और दिमाग की गतिविधियों को अस्त-व्यस्त कर सकती है।

छात्रों को दी ट्रैफिक नियमों की जानकारी

जलालाबाद| स्वामी नरायण नंद सरस्वती सर्वहितकारी विद्या मंदिर में सीनियर पुलिस कप्तान, फाजिल्का के दिशा निर्देश अनुसार चल रहे ट्रैफिक एजुकेशनल सेल के इंचार्ज एएसआई जंगीर सिंह ने ट्रैफिक नियमों की जानकारी के लिए सेमिनार लगाया जिसमें विद्या मंदिर के करीब 250 विद्यार्थियों, वैन ड्राइवरों व स्टाफ ने भाग लिया। जंगीर सिंह ने विद्यार्थियों को जानकारी दी कि ट्रैफिक नियमों की पालना करना बहुत जरुरी है। आए दिन होने वाली सडक दुर्घटनाएं ट्रैफिक नियमों की पालना न करने से हो रही हैं। यदि हम इन नियमों की पालना ईमानदारी से करें तो हम किसी भी सडक हादसे से बच सकते हैं। सड़कों पर लगे ट्रैफिक चिन्हों की जानकारी विस्तार से दी गई। इस अवसर पर स्कूल के प्रिंसिपल पूर्ण चंद ने जंगीर सिंह का धन्यवाद किया।

नशे की रोकथाम के लिए करवाया कार्यक्रम

फाजिल्का| सरकारी आईटीआई फाजिल्का में प्रिंसिपल हरदीप कुमार के नेतृत्व में चल रहे बड्डी ग्रुप प्रोग्राम अंतर्गत बड्डी नोडल अधिकारी गुरजंट सिंह द्वारा नशे की रोकथाम के लिए ग्रुप डिस्कशन प्रोग्राम आयोजित किया गया, जिसमें संस्था के सभी बड्डी ग्रुपों ने भाग लिया और बाद में समूह बॉडीज ने नशे को जड़ से खत्म करने के लिए अपने-अपने विचार पेश किए। बड्डी वजिंद्र सिंह ट्रेनर ने बताया कि शिक्षार्थी/विद्यार्थी अपने अध्यापकों/इंस्ट्रक्टरों को काॅपी करते हैं, इसलिए इंस्ट्रक्टर्स को भी नशे से दूर रहना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि नशे के विरुद्ध राज्य सरकार द्वारा शुरु की गई मुहिम में हर बड्डी को बढ़-चढ़कर अपना योगदान डालना चाहिए। इस प्रोग्राम में सीनियर बड्डी सुदेश कुमारी, जसवीर कौर, नवजोत कौर, कैप्टन कुलवंत सिंह राठौर, राय साहिब, जसविन्द्र सिंह, सुभाष कुमार, रणजीत सिंह राणा, अमृत पाल, सचिन गोसाई समेत समूह स्टाॅफ शामिल था।


माता गुजरी पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने मनाया ग्रीन वैलेंटाइन डे

जलालाबाद| समाज मे फैली लोगों की वैलेंटाइन डे की नकारात्मक सोच को बदलते हुए माता गुजरी पब्लिक स्कूल में इसे अनोखे ढंग से मनाया गया जोकि समाज में अच्छी भूमिका निभा गया। 14 फरवरी के दिन जहां नौजवान पीढ़ी अपने किरदार से भटककर इस दिन समाज पर धब्बा बन रही है, वहीं माता गुजरी पब्लिक स्कूल में यह दिन ग्रीन वैलेंटाइन डे के रूप में मनाया गया। स्कूल के विद्यार्थियों ने सुंदर-सुंदर पौधे लगाकर अपने अध्यापक रूपी गुरु को टू लव डे पर बधाई दी। स्कूल प्रिंसिपल परविंदर जीत कौर व अनुप्रीत ने विद्यार्थियों के साथ मिलकर पौधे लगाए एवं इस दिन को समाज निर्माण दिन बनाकर मनाने के लिए विद्यार्थियों को प्रेरित किया।


एससी उम्मीदवारों को डेयरी प्रशिक्षण के साथ वजीफा भी दिया जाएगा : डिप्टी डायरेक्टर

भास्कर न्यूज|फाजिल्का

पंजाब सरकार द्वारा अनुसूचित जाति के उम्मीदवार को कृषि के साथ ओर सहायक धंधों की तरफ आकर्षित करने और स्वै. रोजगार के लिए किए जा रहे प्रयासों के अंतर्गत “स्कीम फाॅर प्रोमोशन आॅफ डेयरी फार्मिंग एज लिवलीहुड फाॅर एससी’ उम्मीदवारों को पूरे पंजाब में लागू किया गया है। इस संबंधी जानकारी देते हुए निरवैर सिंह बराड़ डिप्टी डायरेक्टर डेयरी फाजिल्का ने बताया कि इस स्कीम अंतर्गत अनुसूचित जाति के उम्मीदवारों को दो सप्ताह की मुफ्त डेयरी प्रशिक्षण अलग-अलग डेयरी प्रशिक्षण सेंटरों पर करवाकर डेयरी यूनिट स्थापित करने की योजना है। उन्होंने कहा कि इस स्कीम अंतर्गत एससी जाति के उम्मीदवारों को मुफ्त डेयरी प्रशिक्षण के साथ-साथ वजीफा भी दिया जाएगा। इस मौके पर मनप्रीत सिंह डेयरी विकास इंस्पेक्टर ने बताया कि फाजिल्का के साथ संबंधित उम्मीदवारों की काउंसलिंग 17 फरवरी को कार्यालय डिप्टी डायरेक्टर डेयरी कमरा नंबर-508, 509 डीसी कॉम्प्लेक्स एसएसपी ब्लॉक फाजिल्का में की जाएगी। इच्छुक उम्मीदवार कम से कम 5वीं पास हो और उसकी आयु 18 से 50 वर्ष होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि शिक्षार्थी पंजाब राज्य का रहने वाला होना चाहिए और एससी जाति का सर्टिफिकेट और पासपोर्ट साइज फोटो साथ लेकर पहंुचे। इसके अलावा उम्मीदवार ग्रामीण पृष्टभूमि से संबंधित होना चाहिए। शिक्षार्थी द्वारा काउंसलिंग वाले दिन राशन कार्ड, वोटर कार्ड, आधार कार्ड की फोटो काॅपी और उम्र, जाति और पंजाब राज्य का सर्टिफिकेट सबूत लाना यकीनी बनाया जाए तथा ज्यादा जानकारी के लिए डेयरी विकास इंस्पेक्टर मनप्रीत सिंह के मोबाइल नंबर पर संपर्क किया जा सकता है।

सिमरन कुमारी ने बीए 5वें सेमेस्टर में फाजिल्का जिले में पाया पहला स्थान

अबोहर| पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ द्वारा घोषित किए गए बीए 5वें सेमेस्टर के परिणामानुसार स्थानीय गोपीचंद आर्य महिला कॉलेज का परिणाम शानदार रहा। नतीजे के अनुसार सिमरन कुमारी ने 85 प्रतिशत अंक प्राप्त कर जिला फाजिल्का में प्रथम स्थान हासिल कर कॉलेज व इलाके को गौरवान्वित किया। वहीं रिंपी ने 84.25 प्रतिशत अंक व ममता रानी ने 82.75 प्रतिशत अंको सहित जिला फाजिल्का में क्रमश: तीसरा व चौथा और कॉलेज में दूसरा व तीसरा स्थान हासिल किया। उल्लेखनीय है कि कॉलेज पास प्रतिशत 100 प्रतिशत रहा। 64.56 प्रतिशत छात्राओं ने प्रथम श्रेणी में परीक्षा उत्तीर्ण की तो वहीं 102 छात्राओं ने 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए। कॉलेज प्राचार्या डा. रेखा सूद हांडा ने समस्त स्टाफ, छात्राओं व अभिभावकों को बधाई देते हुए छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना की तथा अगले समेस्टर में अधिक परिश्रम कर ओर अच्छे अंक प्राप्त करने की आशा प्रकट की।


राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के सत्याग्रह कार्यक्रम में उमड़े कार्यकर्ता

भास्कर न्यूज|फाजिल्का

राजीव गांधी पंचायती राज संगठन की ओर से सत्यग्रह संविधान बचाओ के तहत पंजाब की तरफ से राज्य भर में केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियों के बारे में जनता को बताने के लिए जिला स्तर पर पदाधिकारियों व पंचायती संस्थाओं के साथ जुड़े लोगों को एकत्रित करके जागरूकता रैलियां की जा रही है। जिसके तहत इस कार्यक्रम की शुरुआत शुक्रवार को फाजिल्का से की गई। इस संबंध में एक बैठक पंचायती राज संगठन के प्रांतीय कन्वीनर व हाउसफैड पंजाब के चेयरमैन सुखवंत सिंह बराड़ के नेतृत्व में हुई, जिसमें फाजिल्का के विधायक दविंद्र सिंह घुबाया, जलालाबाद के विधायक रमिंद्र सिंह आवला, पूर्व जिलाप्रधान विमल ठठई, कांग्रेस के ब्लाक प्रधान सुरिंद्र कालड़ा पप्पू के अलावा सीनियर नेता व कार्यकर्ता उपस्थित हुए। इस मौके संगठन के प्रदेश चेयरमैन सुखवंत सिंह बराड़ ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों को घर-घर पहुंचाने के लिए मुहिम शुरू कर दी गई है। वहीं उन्होंने बैठक में पार्टी वर्करों सहित गांवों से पहुंचे पंचों-सरपंचों को संगठन की रूपरेखा तथा कार्यप्रणाली के बारे जानकारी दी। उन्होंने बताया कि संगठन का मुख्य उद्देश्य ग्रामीणों व पंचायतों के साथ तालमेल बनाते हुए हर किसी की समस्या को गंभीरता से सुनना व उसका समाधान करवाना है। इस दौरान मंच संचालन बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एडवोकेट रितेश गगनेजा मनु ने किया। इस मौके पूर्व चेयरमैन कंवल धूड़िया, संजय सियाग, धर्म सिंह, चेतन ग्रोवर, बलविंद्र सिंह, खुशहाल, कृष्ण काठगढ़, पप्पू कालड़ा, रघुबीर सिंह, बेग चंद, नछतर सिंह बराड़, बब्बी कंबोज, सरपंच बलविंद्र सिंह, पार्षद महाबीर प्रसाद, इकबाल सिंह पप्पी, हैप्पी बराड़, राधेश्याम, गरविंदर सिंह काका, लिंकन मल्होत्रा, हरकमल, सरपंच बलकार सिंह, प्राण चंद के अलावा ब्लाक समिति व जिला समिति के सदस्य शामिल हुए।

सेहतमंत्री के आश्वासन के बाद भी केमिस्टों की समस्याओं का नहीं हुआ समाधान

पंजाब पुलिस ने मनाया गर्व दिवस, छात्रों ने किया प्रण

सालासर धाम के दर्शनों को आढ़तिया एसो. की वार्षिक बस आज होगी रवाना

मैनेजमेंट फंडा एन. रघुरामन की आवाज में मोबाइल पर सुनने के लिए 9190000071 पर मिस्ड कॉल करें

भास्कर न्यूज|फाजिल्का

मार्शल जिम एंड एकेडमी स्पोर्ट्स एंड एजूकेशन वेलफेयर सोसायटी द्वारा एमआर कॉलेज, डीएवी बीएड कॉलेज अबोहर, सरकारी स्कूल बनवाला, मार्शल एकेडमी, कैरियर बिल्डर एकेडमी, पंजाब पुलिस द्वारा गर्व दिवस मनाया गया जिसमें हजारों विद्यार्थियों ने देश सेवा का प्रण लिया। सोसायटी के सतपाल कंबोज तथा राज खनगवाल ने बताया कि लगभग 8 साल से गर्व सप्ताह 14 फरवरी को गर्व दिवस के रूप में मनाया जा रहा है जिसमें विद्यार्थियों तथा युवाओं को देश के महान शहीदों तथा माता-पिता, अध्यापक, गुरुओं, महान व्यक्तियों के प्रति अपना श्रद्धा तथा सम्मान प्रकट करने के लिए गर्व दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। इस दिन को आज विभिन्न स्कूलों, संस्थाओं में मनाया गया। जिसमें हजारों विद्यार्थियों व युवाओं ने देश तथा उनके महान शहीदों, गुरुओं, महानुभावों के प्रति गर्व प्रकट किया तथा देश व समाज के लिए कार्य करने का प्रण लिया ताकि आने वाली पीढ़ी भी उन पर गर्व कर सके। एमआर सरकारी कॉलेज में मार्शल ने कहा कि युवा देश की रीढ़ की हड्डी है।

अध्यापक तथा विद्यार्थी देश में बड़ा बदलाव लाएंगे व हमें देश के लिए काम करना चाहिए। इस दौरान प्रो. डॉ. गुरनाम चंद, प्रो. प्रदीप कुमार, सौरभ कामरा, परवेश शर्मा, मीनाक्षी वर्मा, ममता ग्रोवर, रिंकल गुप्ता आदि मौजूद रहे। डीएवी बीएड कॉलेज अबोहर में प्रो. अजय खोसला के नेतृत्व में गर्व दिवस मनाया गया। एमआर कॉलेज में प्रो. डॉ. गुरनाम चंद कार्यकारी प्रिंसिपल तथा मार्शल टीम के नेतृत्व में सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल बनवाला में लेक्चरर बलविंदर सिंह के नेतृत्व में पंजाब पुलिस फाजिल्का के डीएसपी जगदीश कुमार व नवदीप भट्टी के नेतृत्व में गर्व दिवस मनाया गया। कैरियर बिल्डर एकेडमी में मुकेश के नेतृत्व में विद्यार्थियों ने समाजसेवा का प्रण लिया। इस मौके पर मार्शल टीम के इस अभियान में नीरज सैन, गुरलाल, करण उपनेजा, हरीश उत्तम जेई, डॉ. ब्राडिक, पूर्ण सिंह, प्रो. अजय खोसला, डॉ. राकेश शर्मा आदि ने सहयोग दिया।

फाजिल्का में आयोजित सेमिनार में संबोधित करते मार्शल व अन्य।

सिमरन कुमार रिम्पी ममता रानी।

अरोड़वंश भवन में आयोजित बैठक में संबोधित करते वक्ता।


ट्राइसाइकिल पर बैठा दिव्यांग।

यूआईडी कार्ड बनाने के लिए दिव्यांग हो रहे परेशान

समाजसेवी शर्मा ने बताया कि जिन दिव्यांगों ने पहले दिव्यांगता के सर्टिफिकेट बनाए हैं। उन्हें अब प्रशासन द्वारा दोबारा से यूआईडी कार्ड बनाने के लिए कहा गया है। इस लिए दिव्यांगों को दोबारा से अब यूआईडी कार्ड बनाने के लिए अस्पतालों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। शर्मा ने बताया कि पहले दिव्यांगों के सर्टिफिकेट बनाए गए हैं, वो सिर्फ राज्य तक सीमित हैं। लेकिन जो यूआईडी कार्ड हैं वो पूरे भारत में चलते हैं। अगर किसी दिव्यांग कन्या का विवाह दूसरे राज्य में होता है तो पंजाब में बनाया सर्टिफिकेट उसका दूसरे राज्य में मान्य नहीं है।

हैप्पी बर्थडे/ मैरिज एनिवर्सरी**

फािजल्का . जलालाबाद.अबोहर**

वृद्धि

रागिनी

राजेश-स्नेहा

दिनेश जांगिड़-रजनी बाला।


गुणिका

नक्श चलाना

हमें अपने देश के शहीदों, गुरुओं व महानुभावों पर गर्व करना चाहिए : मार्शल

फाजिल्का|फाजिल्का की नई अनाज मंडी की आढ़तिया एसोसिएशन की वार्षिक धार्मिक यात्रा आज 15 फरवरी को रवाना होगी प्रधान ओम प्रकाश सेतिया ने बताया कि हमारी एसो. द्वारा हर साल सभी आढ़ती भाइयों की सहमति से श्री सालासर बाला जी के दर्शनों हेतु एक बस रवाना होती है जो कि 15 फरवरी को सुबह 10 बजे रवाना होगी दर्शन कर लौटेगी।

फंडा यह है कि  अगर आप परिवार को खुश रखना चाहते हैं और उन्हें सुरीली मधुर आवाज से जगाना चाहते हैं, तो सुबह का अलार्म तय करना होगा।

**

एन. रघुरामन

मैनेजमेंट गुरु

[email protected]

 

डेयरी प्रशिक्षण के लिए काउंसलिंग 17 फरवरी को

न राशन कार्ड, न बिजली पानी की सुविधा : कारज सिंह


गांव गद्दाडोब से सर्टिफिकेट बनवाने के लिए पहुंचे दोनों पांवों से दिव्यांग कारज सिंह ने कहा कि बचपन से उसकी नीचला हिस्सा काम नहीं करता। दिव्यांगता के चलते समाजसेवी शर्मा के प्रयासों से उसकी पेंशन तो लग गई है। लेकिन प्रशासन द्वारा न तो उसका राशन कार्ड बनाया जाता है और न ही उसके घर में बिजली-पानी की सुविधा है। जिससे उसे भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। उसने अपना राशन कार्ड बनाने के साथ बिजली पानी की व्यवस्था करने की भी मांग की।


भास्कर न्यूज| अबोहर

पिछले लंबे समय से डॉक्टरों की कमी व असुविधाओं से जूझ रहे सरकारी अस्पताल में दिव्यांगों को सर्टिफिकेट बनवाने के लिए जिला फाजिल्का के सिविल अस्पताल में जाने के लिए मजबूर होना पड़ता था। सिविल अस्पताल अबोहर में हड्डी रोग विशेषज्ञ की कमी पिछले काफी समय से चली आ रही थी। लेकिन दिव्यांगों की सहायता में जुटे समाजसेवी विपन शर्मा के प्रयासों से सिविल सर्जन द्वारा फाजिल्का के सरकारी अस्पताल में तैनात हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. विकास गांधी की हर महीने के दूसरे शुक्रवार को अबोहर में ड्यूटी लगाई गई ताकि अबोहर व आसपास के गांवों के दिव्यांगों को सर्टिफिकेट बनवाने के लिए दूर-दराज धक्के न खाने पड़े। जिसके तहत शुक्रवार शहर व आसपास के गांवों से 200 दिव्यांग सर्टिफिकेट बनवाने के लिए पहुंचे। लेकिन सरकारी अस्पताल अबोहर में दिव्यांगों के बैठने और सुरक्षा संबंधी सुविधाएं न होने से उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। शुक्रवार को डॉ. विकास गांधी ने दोपहर 3 बजे तक 85 दिव्यांगों के सर्टिफिकेट बनाए। इसके साथ ही बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. साहब राम द्वारा भी 10 दिव्यांगों के रेलवे पास बनाकर दिए गए। समाजसेवी विपन शर्मा ने बताया कि सिविल सर्जन के आदेशों से हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. विकास गांधी ने अबोहर के सरकारी अस्पताल में अब तक 3 कैंप लगाकर 200 दिव्यांगों के सर्टिफिकेट बनाए हैं। उन्होंने बताया कि पहले उन्हें दिव्यांगों के साथ जिला अस्पताल में जाना पड़ता था। लेकिन अब डॉ. गांधी के अबोहर में कैंप लगाने से जहां उन्हें बहुत राहत मिली हैं।उन्होंने स्वास्थ्य विभाग से डॉ. गांधी को महीने में 2 से 3 बार अबोहर के सरकारी अस्पताल में कैंप लगाकर दिव्यांगों को सेवाएं देने की मांग की है।

केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ निकाली जा रहीं रैलियां

03

बठिंडा, शनिवार 15 फरवरी, 2020 |

9466733399 (फिरोजपुर), 9815575366 (मुक्तसर)

जन्मदिन और सालगिरह की तस्वीरें मुफ्त छापी जाती हैं।

Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
X
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
Fazilka News - 200 divyang reached hospital sitting on floor due to no arrangement of chairs
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना