Hindi News »Punjab »Ferozepur» प्रशिक्षण से महिलाओं को रोजगार दे रही छावनी की मंदिर संभाल कमेटी

प्रशिक्षण से महिलाओं को रोजगार दे रही छावनी की मंदिर संभाल कमेटी

भास्कर संवाददाता | फिरोजपुर महिलाओं को सशक्त बनाने के सरकारों के प्रयासों के बावजूद बहुत सी महिलाएं घरों में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:20 AM IST

प्रशिक्षण से महिलाओं को रोजगार दे रही छावनी की मंदिर संभाल कमेटी
भास्कर संवाददाता | फिरोजपुर

महिलाओं को सशक्त बनाने के सरकारों के प्रयासों के बावजूद बहुत सी महिलाएं घरों में बैठी रह जाती हैं मगर छावनी की प्राचीन श्री राधा कृष्ण मंदिर संभाल कमेटी बीते 5 वर्षों से न सिर्फ महिलाओं के हुनर को निखारने में जुटी है बल्कि उन्हें स्वरोजगार प्रदान कर सशक्त भी बना रही हैं। अब तक करीब 500 महिलाएं कमेटी की ओर से दिए जा रहे सिलाई, कढ़ाई, बुनाई, डोरी वर्क व अन्य प्रशिक्षण प्राप्त कर रोजगार शुरू कर चुकी हैं। छावनी के राम बाग रोड़ स्थित प्राचीन श्री राधा कृष्ण मंदिर काफी पुरातन है मगर 5 वर्ष पूर्व मंदिर का पुर्ननिर्माण किया गया तो उस समय प्राचीन श्री राधा कृष्ण मंदिर संभाल कमेटी का गठन किया गया। उसी समय से मंदिर में महिलाओं को प्रशिक्षण देकर सशक्त बनाने का बीड़ा उठाया गया। कमेटी में कुल 62 सदस्य हैं जोकि आपसी सहयोग से ही मंदिर में प्रशिक्षण शिविर, मेडिकल शिविर, पौधारोपण, जागरूकता शिविर व अन्य कई तरह के मानवता भलाई कार्य करते हैं। कमेटी के सदस्यों योगेश गुप्ता, सुरेंद्र, सुशील गुप्ता, लक्की, अशोक महावर, रजनीश, चंद्र मोहन आदि ने बताया कि कमेटी की ओर कोई भी लोक भलाई कार्य किया जाता है तो उसके लिए किसी तरह की कोई पर्चियां नहीं काटी जाती बल्कि कमेटी सदस्य आपसी सहयोग से ही सभी कार्य करते हैं।मंदिर संभाल कमेटी की ओर से मंदिर में ही सिलाई केंद्र खोला गया है। इसके अलावा क्रोशिया सिखाई व बुनाई केंद्र, हाथ से स्वेटर बुनना, डोरी मेकिंग आदि कार्यों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इससे पूर्व में कमेटी की ओर से महिलाओं का सेल्फ हेल्प ग्रुप बनाकर चिप्स बनाने की भी ट्रेनिंग दी गई वहीं महिलाओं की ओर से बीते डेढ़ साल से प्रत्येक सप्ताह मंदिर के समीप ही 5 रुपए में कढ़ी चावला बनाकर बेचे जाते रहे हैं लेकिन अब महिलाओं के ग्रुप ने कढ़ी चावल की जगह 20 रुपए में पूरी डाइट तैयार कर लोगों को मुहैया करवाना शुरू किया है जिसमें महिलाएं 3 रोटी, चावल, दाल व सब्जी दे रही हैं। पूरा सामान महिलाएं ही तैयार कर रही हैं व स्वयं ही काउंटर लगाकर बेच रही हैं। कमेटी सदस्य एडवोकेट योगेश गुप्ता ने बताया कि मौजूदा समय में घरेलू कलह के चलते परिवार टूटने लगे हैं इसीलिए वे ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर परिवार प्रबोधन के नाम से एक कार्यक्रम करते हैं। जिसमें एकत्रित हुए लोगों से परिवारों के टूटने की वजह व उसे बचाव के लिए चर्चा की जाती है। इसके अलावा कमेटी की ओर से प्रत्येक वर्ष पौधारोपण, मेडिकल जांच शिविर, नेत्र जांच शिविर आदि लगाकर लोक भलाई कार्य किए जाते हैं ।

प्राचीन श्री राधा कृष्ण मंदिर में प्रशिक्षण के दौरान महिलाएं ।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ferozepur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×