निर्जला एकादशी पर श्री द्वादश अक्षर मंत्र का किया जाप, कमाया पुण्य

Ferozepur News - श्री कल्याण कमल आश्रम हरिद्वार के अनंत श्री विभूषित 1008 महामंडलेश्वर स्वामी कमलानंद गिरि जी महाराज की सद्प्रेरणा...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:45 AM IST
Fazilka News - chanting of sri dwashash chitra on nirjala ekadashi earning virtue
श्री कल्याण कमल आश्रम हरिद्वार के अनंत श्री विभूषित 1008 महामंडलेश्वर स्वामी कमलानंद गिरि जी महाराज की सद्प्रेरणा से श्रीराम भवन में निर्जला एकादशी पर श्री द्वादश अक्षर मंत्र जाप का आयोजन हुआ। इस दौरान श्रद्धालुओं ने सामूहिक रूप से श्री द्वादश अक्षर मंत्र जाप कर पुण्य-लाभ कमाया। मंदिर प्रांगण भगवान विष्णु के जयकारों से गूंज उठा। प्रवक्ता रमन जैन ने श्रद्धालुओं को निर्जला एकादशी का महत्व बताते हुए कहा कि इस एकादशी को भीमसेनी एकादशी भी कहते हैं। उन्होंने कहा कि पांडवों में भीम सेन शारीरिक शक्ति में सबसे बलवान थे। उनके उदर में वृक नामकी अग्नि थी। इसलिए उन्हें वृकोदर भी कहा जाता है। वे जन्मजात शक्तिशाली तो थे ही, मगर नागलोक में जाकर वहां के दस कुंडों का रस पीकर उनमें दस हजार हाथियों के समान शक्ति हो गई थी। इस रसपान के कारण उनकी भोजन पचाने की क्षमता व भूख भी बढ़ गई थी। सभी पांडव व द्राेपदी एकादशियों का व्रत करते थे, मगर भीम के लिए ये व्रत दुष्कर थे। अत: व्यास जी ने उनसे जेष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी का व्रत निर्जल रहते हुए करने को कहा और कहा कि इसके प्रभाव से तुम्हें वर्ष भर की एकादशियों के बराबर फल मिलेगा। व्यास जी के कहने पर भीम ने ये व्रत शुरु किया। इसलिए इस दिन को भीमसेनी एकादशी भी कहा जाता है। इस मौके ठंडे मीठे जल की छबील व तरबूज व खरबूजे का लंगर भी लगाया गया।

इस एकादशी को भीमसेनी एकादशी भी कहते हैं

श्रीराम भवन में निर्जला एकादशी के मौके पर श्री द्वादश अक्षर मंत्र जाप करते श्रद्धालु व प्रसाद लेते लोग।

सेवा भारती ने मनाया निर्जला एकादशी त्याेहार

फाजिल्का|समाजसेवा में अग्रणी सेवा भारती द्वारा निर्जला एकादशी का त्याेहार मनाया गया। प्रधान संदीप सचदेवा ने कहा कि सेवा भारती फाजिल्का द्वारा बादल कॉलोनी स्थित डाॅ. गोबिंदराम शर्मा लाइब्रेरी चौक में प्रत्येक वर्ष की तरह आज भी ठंडे मीठे जल की छबील लगा कर निर्जला एकादशी मनाई गई। इस कार्यक्रम के मुख्य प्रबंधक प्रांतीय उपाध्यक्ष कृष्ण अरोड़ा, महासचिव रमन सेतिया, जिलाध्यक्ष रमेश सुधा, महिलाध्यक्ष रमां भारती शर्मा, फिरोजपुर विभाग संस्कार केंद्र प्रमुख ओमप्रकाश कटारिया, सतपाल जलंधरा टैंट हाउस व राकेश गिल्होत्रा थे जबकि इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए विरेंद्र बतरा, अशोक कालड़ा, अशोक धमीजा, राजकुमार शर्मा, अमित दाहुजा, सिद्धार्थ सेतिया, भावेश, मयंक, प्रिया, मनप्रीत कौर, रजनी व भारती देवी दीदी आदि ने विशेष सहयोग दिया।

X
Fazilka News - chanting of sri dwashash chitra on nirjala ekadashi earning virtue
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना