• Hindi News
  • Rajya
  • Punjab
  • Ferozepur
  • Abohar News confrontation about irresponsibility the leader of the bargani front and sukhbir supporters in front of shaid bjp office on abohar road

बेअदबी को लेकर विरोध-प्रदर्शन, अबोहर रोड पर शिअद-भाजपा दफ्तर के सामने बरगाड़ी मोर्चा के नेता और सुखबीर समर्थक भिड़े

Ferozepur News - भास्कर संवाददाता|फाजिल्का/ अबोहर/ बल्लुआना बरगाड़ी इंसाफ मोर्चा ने शुक्रवार को फिरोजपुर लोकसभा हलके के...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:30 AM IST
Abohar News - confrontation about irresponsibility the leader of the bargani front and sukhbir supporters in front of shaid bjp office on abohar road
भास्कर संवाददाता|फाजिल्का/ अबोहर/ बल्लुआना

बरगाड़ी इंसाफ मोर्चा ने शुक्रवार को फिरोजपुर लोकसभा हलके के प्रत्याशी सुखबीर बादल के खिलाफ स्थानीय गुरुद्वारा सिंह सभा फाजिल्का में काली झंडियाें के साथ रोष मार्च निकाला। इस दौरान फाजिल्का -अबोहर रोड पर स्थित अकाली भाजपा के फिरोजपुर लोकसभा के उम्मीदवार सुखबीर सिंह बादल के दफ्तर के सामने मोर्चा के नेता और वर्करों के बीच झड़प हुई। मौके पर पहुंचे थाना सिटी प्रभारी प्रेमनाथ ने मामले को संभाला और दोनों पक्षों को शांत करवाया। इधर, टकसालियों ने अकालियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि टकसालियों द्वारा शांतिपूर्वक किए जा रहे रोष मार्च के सामने आकर नारेबाजी शुरू कर दी गई, जिससे यह माहौल तनावपूर्ण हुआ है। जानकारी देते हुए एक टकसाली नेता ने बताया कि सुखबीर बादल के राज में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के अंगों की बेअदबी हुई व उनके अंग गलियों में रोले गए तथा बहबल कलां व बरगाड़ी में शांतमयी ढंग से बैठे सिखों पर गोलियां चलाकर उनको शहीद किया गया। इसके रोष स्वरूप आज सिख संगत द्वारा पूरे पंजाब में रैलियां निकालकर बादल भगाओ-पंजाब बचाओ के नारे लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि उनका शांतमयी ढंग से रोष मार्च निकाला जा रहा था तथा कुछ शरारती अनसरों द्वारा उनके काफिले के सामने खड़े होकर सुखबीर बादल जिंदाबाद के नारे लगाकर रोष मार्च में विघ्न डाला गया, जिससे माहौल तनावपूर्ण बन गया था। उन्होंने बताया कि हरेक धर्म के लोग गुरु ग्रंथ साहिब जी को मानते हैं, यदि यह अपने गुरु के नहीं हुए तो वह पूरी पंजाब की जनता का क्या होगा। इन्होंने पूरे पंजाब के लोगों के साथ बहुत बड़ा धोखा किया है तथा यह आवाज उन्होंने पूरे पंजाब में लेकर जानी है। पहला काफिला उन्होंने बरगाड़ी से लंबी तक निकाला था अब यह चौथा काफिला है। उधर, पुलिस प्रशासन ने मौके पर आकर दोनों तरफ के समर्थकों को शांत किया। इसके बाद यह रोष मार्च अबोहर की तरफ निकल गया

मोर्चा के नेताओं ने अकालियों पर लगाया रोष मार्च रोकने का आरोप, अनहाेनी से निपटने के लिए पुलिस व सेना के जवान दिखे मुस्तैद

2017 विधानसभा चुनाव में भी शिअद का हुआ था विरोध, अब लोकसभा चुनाव में भी जारी

श्री गुरुग्रंथ साहिब की बेअदबी को लेकर विवादों में फंसे बादल परिवार पर 2017 के विधानसभा चुनाव के बाद 2019 लोकसभा चुनाव भी भारी पड़ सकता है। सिख संगठनों के मन में इस घटना के विरोध में रोष की लहर और गुस्सा अभी भी बरकरार है। फाजिल्का के अलावा शुक्रवार को अबोहर और बल्लुआना आदि इलाके के गांवों में लगभग 50 वाहनों के काफिले को लेकर सिख काली झंडिया लगाके रोष प्रदर्शन करने पहुंचे। जब काफिला अपना प्रदर्शन कर रहा था तो उनके साथ लगभग दो दर्जन पुलिसकर्मी भी मौजूद रहे ताकि कोई हिंसक घटना घटित न हो। सिख संगठनों के वक्ताओं ने कहा कि वे लोगों से सुखबीर बादल को वोट न डालने की अपील कर रहे हैं, क्योंकि अकाली-भाजपा सरकार के समय श्री गुरुग्रंथ साहिब जी की बेअदबी की बादल परिवार ने सही जांच कराने की जगह उल्टा सिखों को गोलियां मरवा दी थीं। 2017 में बादल परिवार को सिखों ने सबक सिखा दिया और अब 2019 में अकाली दल के हर उम्मीदवार सबक सीखने के लिए तैयार हैं। पत्रकारों से बातचीत के दौरान गुरभेज सिंह खुईखेड़ा, चन्नण सिंह घागां, गुरजिंद्र सिंह ग्रैवाल, जसवंत सिंह कंधवाला, बलदेव सिंह मम्मूखेड़ा, अजैब सिंह पट्‌टी सदीक, मेयर सिंह संधू, बचित्र सिंह विरक, महल सिंह, लखवीर सिंह, नर सिंह, मंजीत सिंह, इकबाल सिंह भुल्लर, गुरमीत सिंह, बाज सिंह कटि्टयांवाली आदि ने बताया कि पंजाब के इतिहास में बादल सरकार के समय सिखों के सर्वोच्च ग्रंथ श्री गुरुग्रंथ साहिब की बेअदबी हुई और उस समय सरकार ने कुछ नहीं किया।

बेअदबी को दर्शाती ‘कच्चा चिट्‌ठा’नामक किताब भी बांटी

मार्च के दौरान पंथक एसेंबली श्री अमृतसर साहिब की ओर से प्रकाशित कच्चा चिट्‌ठा नामक 60 पन्नों की किताब को भी लोगों के बीच बंटवाया जा रहा है। इस किताब में श्री गुरुग्रंथ साहिब की बेअदबी की समस्त घटनाओं को विस्तार से बताया गया है।

सुखबीर और हरसिमरत बोल रहे- बेअदबी कराने वाले परिवार दा कक्ख न रवे|लोकसभा चुनाव में बार-बार जब यह मुद्दा उठ रहा है तो सुखबीर बादल ने एक सप्ताह पूर्व अपनी एक सभा में संबोधित करते हुए कहा था कि उनके परिवार को बेअदबी कांड का कसूरवार ठहराने की बड़ी साजिश हो रही है। लेकिन वह ईश्वर से अरदास करते हैं कि जिस किसी ने यह घिनौनी हरकत की, उसके परिवार का कक्ख न रहे। ठीक इसी तरह हरसिमरत कौर बादल भी अपने भाषणों में इन्हीं शब्दों का उपयोग कर रहीं हैं। इधर बेअदबी को लेकर तो सुखबीर बादल ने इतना बड़ा बयान देकर खुद को नापाक साफ बताने का प्रयास किया है, लेकिन सिख संगठनों ने यह भी कहा कि सुखबीर बादल गोली चलाने के हुक्म पर भी यह बात क्यों नहीं बोलते कि सिख नेताओं पर गोली चलाने के हुक्म जिसने दिए उसके परिवार का कुछ न रहे।



Abohar News - confrontation about irresponsibility the leader of the bargani front and sukhbir supporters in front of shaid bjp office on abohar road
Abohar News - confrontation about irresponsibility the leader of the bargani front and sukhbir supporters in front of shaid bjp office on abohar road
X
Abohar News - confrontation about irresponsibility the leader of the bargani front and sukhbir supporters in front of shaid bjp office on abohar road
Abohar News - confrontation about irresponsibility the leader of the bargani front and sukhbir supporters in front of shaid bjp office on abohar road
Abohar News - confrontation about irresponsibility the leader of the bargani front and sukhbir supporters in front of shaid bjp office on abohar road
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना