स्टांप की कीमत से अधिक पैसे वसूलने पर डीसी ने वेंडर का लाइसेंस कैंसिल करने का दिया आदेश

Ferozepur News - भ्रष्टाचार विरुद्ध जागरुकता मंच मलोट ने सरकारी व अर्ध सरकारी विभागों में फैले भ्रष्टाचार को नकेल डालने के लिए...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:31 AM IST
Malot News - dc ordered to cancel the license of the vendor after charging more money than the stamp price
भ्रष्टाचार विरुद्ध जागरुकता मंच मलोट ने सरकारी व अर्ध सरकारी विभागों में फैले भ्रष्टाचार को नकेल डालने के लिए शुरू की गई मुहिम के सार्थक परिणाम सामने आने लगे हैं। भ्रष्टाचार के विरुद्ध जागरूकता मंच के सीनियर मेंबर व बार एसोसिएशन मलोट के एडवोकेट अमनदीप सिंह ने सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट के कार्यालय में अष्टाम वेंडर के विरुद्ध की गई शिकायत पर कार्रवाई करते डीसी मुक्तसर एमके अराविंद ने वेंडर का लाइसेंस मुअत्तल करने का आदेश जारी किया है। सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट के कार्यालय में स्टांप वेंडर स्टांप की फीस अपनी मनमर्जी की वसूल कर रहे थे जिस बारे में लिखित शिकायत देने के बाद उक्त आदेश जारी किए गए। मंच के प्रधान हरदीप सिंह खालसा ने डीसी एमके अराविंद द्वारा की गई कार्रवाई का स्वागत करते कहा कि अफसर भ्रष्टाचार को नकेल डालने के लिए काम करें तो भ्रष्टाचार खत्म किया जा सकता है। एडवोकेट अमनदीप सिंह ने डीसी मुक्तसर के आदेशों की कॉपी दिखाते हुए बताया कि उसने 17 जुलाई को कार्यालय के काम के लिए सतीष रानी स्टांप वेंडर से 50 रुपए का स्टांप लेने गया तो उसको 50 वाले स्टांप के 80 रुपए मांगे परंतु जब उसने कहा कि 50 रुपए के 80 रुपए क्यों वसूले जा रहे हैं तो उसने कहा कि 80 रुपए ही देने पड़ेंगे। अमनदीप सिंह ने आरोप लगाया कि अधिक पैसे वसूल लिए व उससे दुर्व्यवहार भी किया। इस संबंधी उसने 26 अगस्त 2019 को लिखित शिकायत डीसी मुक्तसर एमके अराविंद के पास की जिस पर कार्रवाई करते इस मामले की जांच एसडीएम मलोट गोपाल सिंह को सौंपी जिसकी रिपोर्ट पेश किए जाने के बाद डीसी के पत्र नं 209499 एचआरसी जारी करते सतीश रानी स्टैंप वेंडर प|ी राम लाल दुकान नंबर 13 का लाइसेंस नंबर 45एमए/ मुक्तसर को अष्टाम फीस अधिक वसूलने, अनअधिकारित तौर पर फोटोस्टेट मशीन व कंप्यूटर रखने व आम लोगों को परेशान करने व बुरे व्यवहार करने के आरोप में कार्रवाई करते हुए अगले आदेशों तक लाइसेंस मुअत्तल कर दिया। डीसी के आदेशों की कॉपियां सब डिवीजन मजिस्ट्रेट, जिला खजाना अधिकारी, तहसीलदार मलोट, खजाना अधिकारी मलोट व ब्रांच मैनेजर स्टाक हाेल्डिंग कॉपोरेशन ऑफ इंडिया, बठिंडा, स्टांप फरोश सतीश रानी दुकान नंबर 13 तहसील कांप्लेक्स मलोट को भेजी गई है। एडवोकेट अमनदीप सिंह बब्बर ने कहा कि वह देश के नागरिक होने के नाते सरकारी कार्यालयों में आम लोगों की हाे रही लूट के खिलाफ आवाज उठाते रहेंगे।

एडवोकेट अमनदीप सिंह डीसी द्वारा जारी किए गए आदेशों की कॉपी दिखाते हुए।

X
Malot News - dc ordered to cancel the license of the vendor after charging more money than the stamp price
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना