30 गांवों से एकत्रित किए गए 50 से 100 साल पुराने सामान की लगाई स्टॉल

Ferozepur News - धीअां दी लोहड़ी

Jan 24, 2020, 07:45 AM IST
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
धीअां दी लोहड़ी
आंगनबाड़ी सेंटर्स पर सेल्फ हेल्फ ग्रुप को मिलेगा सेल काउंटर महिलाओं को सैनेटरी नैपकिन बनाने की दी जाएगी ट्रेनिंग

जिला प्रोग्राम अफसर र|दीप कौर संधू ने कहा कि विभाग की तरफ से महिलाओं व बच्चों के कल्याण के लिए अकसर इस तरह के कार्यक्रम करवाए जाते हैं। उन्होंने कहा कि हर साल जिला स्तर पर लोहड़ी का पर्व मनाया जाता है और इस बार भी इसे धूमधाम से मनाया गया है। कार्यक्रम में जिला कानूनी सेवाएं अथारिटी के सचिव अमनप्रीत सिंह, सिविल जज संदीप कुमार, रेडक्रास सोसायटी के सेक्रेटरी अशोक बहल समेत कई अधिकारी मौजूद थे।

भास्कर न्यूज| फिरोजपुर

जिले के सभी आंगनबाड़ी सेंटर्स पर सेल्फ हेल्प ग्रुप बनाकर कारोबार करने वाली महिलाओं को एक-एक सेल काउंटर अलॉट किया जाएगा, जहां वे अपने हाथों से तैयार किए गए उत्पादों की बिक्री कर सकेंगी। ये ऐलान डिप्टी कमिश्नर चंद्र गैंद ने वीरवार को शहीद भगत सिंह स्टेडियम में 151 नवजन्मी बच्चियों के सम्मान में आयोजित जिला स्तरीय लोहड़ी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए किया। डिप्टी कमिश्नर ने सेल्फ हेल्प ग्रुप चलाने वाली महिलाओं की हौंसला अफजाई करते हुए कहा कि दूसरे लोगों को भी इनसे सीख लेनी चाहिए। प्रशासन इन ग्रुप्स की हर संभव मदद करेगा। उन्होंने बैंकों और संबंधित सरकारी महकमों को इन महिलाओं की मदद के लिए आगे आने और इन्हें आत्मनिर्भर बनाने में अपना योगदान डालने का आह्वान किया। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि सेल्फ हेल्प ग्रुप के जरिए कारोबार करने वाली महिलाओं को जल्द ही सैनेटरी नैपकिन प्रोडक्शन की ट्रेनिंग दिलाई जाएगी। दिल्ली और मुंबई की बड़ी कंपनियों से संपर्क कर इन्हें ट्रेंड करवाया जाएगा ताकि ग्रामीण स्तर पर ये महिलाएं नैपकिन बनाकर उन्हें बेच सकें। कार्यक्रम में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मुहिम की जिला ब्रांड एम्बेसडर अनमोल बेरी बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुई, जिन्हें डिप्टी कमिश्नर चंद्र गैंद ने सम्मानित किया।

कार्यक्रम में 11 गर्भवती महिलाओं की गोद भराई की रस्म करवाई गई, जिन्हें नींबू का पौधा, गुड़ और पोष्टिक आहार भेंट किया गया। नींबू और गुड़ के सेहत से संबंधित फायदों पर जोर देते हुए ये महिलाओं को भेंट किया गया। इसी तरह मुंगफली, गुड़ और तिल को अग्निभेंट करके लोहड़ी की रस्म अदायगी की गई। कार्यक्रम में पोषण अभियान में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली 12 आंगनबाड़ी वर्करों और 3 सुपरवाइजर्स को सम्मानित किया गया। फिरोजपुर जिले से संबंधित ताईक्वांडो चैंपियन वीरपाल कौर को सम्मानित किया गया। इसी तरह पांच ऐसे परिवारों को सम्मानित किया गया, जिन्होंने लड़कों का मोह न रखते हुए अपनी बेटियों की बेटों की तरह परवरिश की।

कार्यक्रम में डिप्टी कमिश्नर की तरफ से यहां स्थापित 30 स्टॉल्स का दौरा किया। यहां स्त्री व बाल विकास विभाग की तरफ से कई स्टॉल्स लगाए गए, जिनमें पंजाबी संस्कृति से जुड़े साजो-सामान, पौष्टिक आहार से जुड़े उत्पादों और घरेलू उत्पादों का प्रदर्शन किया गया। जिला कानूनी सेवाएं अथारिटी, वन स्टॉप सेंटर, नगर काउंसिल, सेहत विभाग की तरफ से स्थापित किए गए काउंटर्स की डिप्टी कमिश्नर चंद्र गैंद ने खुलकर प्रशंसा की।

शहीद भगत सिंह स्टेडियम में डीसी ने 151 नवजन्मी बच्चियों का किया सम्मान

जिला स्तरीय कार्यक्रम में अनमोल बेरी रहीं मुख्य अतिथि, 11 महिलाओं की हुई गोद भराई

शहीद भगत सिंह स्टेडियम में धीयां दी लोहड़ी कार्यक्रम के तहत नवजात बच्चियों को सम्मानित करते डीसी चंद्र गैंद।

धीआं दी लोहड़ी कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को सशक्त बनाने व उन्हें विभिन्न स्कीमों के बारे में जागरूक करने के लिए लगाई गई स्टॉलों में पंजाबी विरसे को दर्शाती स्टॉल पर सभी के कदम रूके। स्टॉल पर आंगनबाड़ी वर्करों में एक अपनी सासू मां का 70 साल पुराना शादी के समय पहना गया कलीरा लेकर पहुंची तो वहीं खाई फेमेके निवासी एक आंगनबाड़ी वर्कर करीब 70 साल पुराना डब्बी चरखी लेकर पहुंची जिसे देखने के लिए महिलाओं का हुजूम उमड़ पड़ा। वहीं इस स्टॉल पर करीब 100 साल पुराना श्रृंगार बॉक्स लाया गया था तो इसके अलावा कई साल पुराने पीतल, तांबे व कैंह के बर्तनों ने लोगों को अपनी अाेर आकर्षित किया।

पंजाबी विरासत में यह भी

50 से 100 साल पुराने सामान में तांबे, पीतल व कैंह के बर्तन, पुराना चरखा, माम दस्ता, सेवी मशीन, पुराना रेड़ियो, शिंगार बॉक्स, लालटेन, चक्की, मिट्टी की हांडी, डोरी सोटी, लोहे के दातर, लकड़ी की नमकदानी, खरल, दरिया बनाने वाले पंजे, लकड़ी की मधनी, मधानी, छन्ने, कैंह का बना कौल, टैरन व छानना आकर्षण का केंद्र बने।

पुराने समय में मनोरंजन के लिए बनाया गया साजो समान पहने लोगों का मनोरंजन करती महिला।

50 साल पुराना चरखा

करीब 50 साल पहले हुई अपनी शादी के समय दहेज में मिले गांधी चरखे पर सूत बुनती सर्बजीत कौर।

महिलाओं और बच्चों के कल्याण के लिए हर साल होता है प्रोग्राम

अपनी सास की शादी के समय पहनाया गया कलीरा दिखाती जसविंद्र कौर।

Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
X
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
Firozpur News - stalls of 50 to 100 years old goods collected from 30 villages
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना