• Home
  • Punjab News
  • Gardhiwala News
  • िनंदर ने सहोता पर जेल में करवाया था हमला, उसी का हाल सिविल में जानने के बाद लौट रहे हनी को बनाया निशाना
--Advertisement--

िनंदर ने सहोता पर जेल में करवाया था हमला, उसी का हाल सिविल में जानने के बाद लौट रहे हनी को बनाया निशाना

भास्कर संवाददाता | होशियारपुर बलजीत हनी को गोलियां मारने के मामले में हाल ही में जेल से रिहा होकर गए कथित ड्रग...

Danik Bhaskar | Jul 19, 2018, 02:25 AM IST
भास्कर संवाददाता | होशियारपुर

बलजीत हनी को गोलियां मारने के मामले में हाल ही में जेल से रिहा होकर गए कथित ड्रग स्मलगर निंदर चक्करोंता (गढ़शंकर) और उसके साथी रवि बलाचौरिया के नाम हमले की शुरुआती जांच में सामने आए हैं, जो पहले से ही गढ़दीवाला के बहुचर्चित अमरीक सिंह मर्डर कांड में पुलिस को वांटेड हैं। फिलहाल पुलिस ने पूरे जिले में अलर्ट जारी करते हुए नाकाबंदी कर दी है और अभी तक पुलिस के कोई भी हत्थे नहीं चढ़ा है। इस कांड में पोलो और स्विफ्ट गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया और वारदात में 5 से 8 गैंगस्टरों के शामिल होने की बात कही जा रही है।

जेल सूत्रों के मुताबिक बलजीत सिंह उर्फ हनी (22) पुत्र बलवीर सिंह निवासी घागो रोड़ावाली (गढ़शंकर) को आज बुधवार को गोलियां मारी गईं। हनी पर हमले का कारण यह है कि उसका चचेरा भाई कमल सहोता काका शिकारी मर्डर केस में जेल में बंद था और उसका झगड़ा करीब 20 दिन पहले निंदर चक्करोंता से हुआ था। जब निंदर ड्रग के एक मामले में बेल पर रिहा होने जा रहा था तो कमल सहोता ने उसे जाते वक्त कहा था कि अब बाहर जाकर वह नशा न बेचे क्योंकि नशे से आजकल मौतें हो रही हैं। इस बात को लेकर वे दोनों जेल की ड्योढ़ा पर उलझ गए थे और दोनों में हाथापाई हुई थी। इसी बात का बदला लेने के लिए निंदर ने कमल सहोता पर हमला करने की योजना बनाई थी जिसके तहत जेल में बाकायदा चिट्‌टा और पैसे भेजे गए थे लेकिन वे जेल की ड्योढ़ी पर ही पकड़े लिए गए थे। लेकिन 16 जुलाई 2018 को जेल में कमल सहोता पर 7 लोगों ने हमला कर दिया था।

बताया गया है कि हमला करने वालों में कमल सहोता के पुराने साथी ही शामिल थे जो काका शिकारी मर्डर केस में उसके साथ जेल में बंद हैं। निंदर के इशारे पर मोनू गुज्जर, पंडित हल्लूवालिया और उसके भाई सोनू कपूरपिंड वाला ने सहोता पर हमला किया।

जिस समय हमला किया गया, उस समय संयोग से जेल की तलाशी के लिए भारी संख्या में जेल मुलाजिम अंदर थे और उन्होंने कमल सहोता की जान बचा ली। घायल सहोता को होशियारपुर सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया गया। हमले के संबंध में जेल प्रशासन ने बाकायदा तौर पर होशियारपुर पुलिस को लिखित शिकायत भी कर दी है। हालांकि पुलिस ने कमल सहोता पर हमले को लेकर कोई मामला दायर नहीं किया है। बलजीत हनी कमल सहोता से ही मिलकर आ रहा था कि उसपर हमला कर दिया गया।

घटना स्थल की जांच करते पुलिस अधिकारी। (मध्य) कमल सहोता) (दाएं) खस्ता हाल में खड़ा मोटरसाइकिल जिस पर तलवारों से वार किए गए।

दो दिन पहले निंदर की महिंदरा एक्सयूवी किरपानें मारकर तोड़-फोड़ दी थी, हमले में कमल सहोता के हाथ का शक

दो दिन पहले निंदर की महिंदरा एक्सयूवी (पीबी07 एडब्ल्यू 9807) पर गढ़शंकर-नंगल रोड पर गाड़ियां धोने के सर्विस स्टेशन पर कुछ लोगों ने हमला किया था। उसकी 9 सेकेंड की वीडियो भी वायरल हुई थी जिसमें कुछ लड़के किरपानें और खंडे मारकर उसकी एक्सयूवी तोड़ रहे हैं। इस संबंध में भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। बताया जा रहा है कि इस हमले में कमल सहोता का हाथ था और यह वीडियो फेसबुक पर भी लोड की गई थी लेकिन आज की घटना के बाद फेसबुक से इस वीडियो को हटा दिया गया।

निंदर की गाड़ी पर हमले के बाद फेसबुक पर कमल को मारने की दी थी धमकी

निंदर की गाड़ी पर हमला होने के तुरंत बाद फेसबुक पर कमल सहोता और उसके रिश्तेदारों को गोली मारने की धमकी दी गई थी, हालांकि उस धमकी को भी बाद में फेसबुक से हटा लिया गया और इसी के चलते कमल सहोता के चचेरे भाई बलजीत सिंह को गोलियां मारी गई और इसी दौरान फेसबुक पर हनी गुज्जर और अमना गुज्जर ने पोस्ट डालकर न केवल उसे गालियां दीं बल्कि यह भी बताया कि किस-किसने गोलियां मारी हैं।