--Advertisement--

मान को खैहरा गुट प्रधान मानने को तैयार नहीं

कहा- बठिंडा कन्वेंशन में जब पार्टी की बॉडी ही भंग हो गई तो प्रधान कैसा, पार्टी के वालंटियर ही चुनेंगें प्रधान...

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 02:20 AM IST
मान को खैहरा गुट प्रधान मानने को तैयार नहीं
कहा- बठिंडा कन्वेंशन में जब पार्टी की बॉडी ही भंग हो गई तो प्रधान कैसा, पार्टी के वालंटियर ही चुनेंगें प्रधान

भास्कर न्यूज | चंडीगढ़

पंजाब में आम आदमी पार्टी का संगठनात्मक ढांचा बठिंडा कन्वेंशन में पहुंचे करीब 50 हजार वॉलंटियर्स खत्म कर चुके हैं। अब वॉलंटियर्स ही पार्टी का नया प्रदेश प्रधान चुनेंगे और वही विरोधी दल का नेता और अन्य पदाधिकारियों का चुनाव करेंगे। अब पार्टी की पंजाब इकाई के फैसले दिल्ली के कहने पर नहीं चलेंगे। पंजाब के वालंटियर खुद अपनी पार्टी के फैसले लेंगे। ऐसे में सांसद भगवंत मान की ओर से पार्टी के प्रदेश प्रधान पद पर हामी भरने का क्या मतलब। यह बात यहां सोमवार को आम आदमी पार्टी के विधायक सुखपाल सिंह खैहरा ने कही। उनके साथ पार्टी विधायक कंवर संधू, मास्टर बलदेव सिंह, नाजर सिंह मानशाहिया समेत पार्टी के दूसरे नेता मौजूद थे। खैहरा ने कहा कि पार्टी की पंजाब इकाई का पूरा संगठनात्मक ढांचा नए सिरे से तैयार किया जाएगा।

सुखपाल खैहरा समेत बागी विधायकों ने नया ढांचा बनाने की घोषणा की

विधानसभा चुनाव के दौरान हुई टिकटों की खरीद-फरोख्त की होगी जांच

पंजाब के मामलों में अब भी दखल दे रहे हैं पाठक

खैहरा ने कहा कि जब पंजाब विधानसभा चुनाव में पार्टी टिकटों की खरीद-फरोख्त के आरोप लगने पर दुर्गेश पाठक को पंजाब से दिल्ली वापस भेज दिया गया था। अब वह दोबारा से पंजाब के मसलों पर दखल दे रहा है। विधायकों को फोन कर धमका रहा है। खैहरा ने कहा कि पंजाब को बर्बाद करने वाले व्यक्ति की दखलंदाजी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

आरोप- विधानसभा चुनाव में केजरीवाल के चहेते दुर्गेश पाठक ने किया पंजाब में अाम अादमी पार्टी को बर्बाद

इस दौरान खैहरा ने कहा कि पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी टिकटों की खरीद-फरोख्त के जो आरोप लगते रहे हैं, उन्हें लेकर पार्टी का संगठनात्मक ढांचा पूरा तैयार होने के बाद जांच कराई जाएगी। अाखिरकार इस सौदेबाजी में किन किन नेताअों का हाथ था उनके नाम सार्वजनिक किए जाएंगे। टिकटों के गलत बंटवारे के कारण ही पार्टी 117 से 20 विधायकों पर अा कर टिक गई।

सिसोदिया से बैठक के दौरान भी पाठक को भेजा था बाहर

खैहरा ने कहा कि जब वो दिल्ली में मनीष सिसोदिया से मीटिंग करने गए थे, तब भी दुर्गेश पाठक वहां बैठा था, लेकिन उन्होंने और फूलका ने तब सिसोदिया को साफ कह दिया था कि जब तक पंजाब को बर्बाद करने वाले व्यक्ति को यहां से नहीं भेजा जाएगा, तब तक वो मीटिंग नहीं करेंगे। तब दुर्गेश पाठक को बाहर भेजा गया था और मीटिंग हुई थी।

इधर, गढ़शंकर से आप विधायक रोड़ी ने दिया खैहरा को समर्थन...

गढ़शंकर/चंडीगढ़ | खैहरा की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचे गढ़शंकर के विधायक जयकिशन रोड़ी ने सुखपाल खैहरा को समर्थन देने के ऐलान किया। उन्होंने कहा कि मैंने इस बात की बहुत कोशिश की कि खैहरा और पार्टी हाईकमान में आपसी बातचीत से मसला हल हो, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। उन्होंने साफ कहा कि मनीष सिसोदिया के गले में कीला अड़ा है और उनकी अकड़ खत्म नहीं हो रही है। उन्हें अपनी अकड़ दूर करनी चाहिए। इसके अलावा दुर्गेश पाठक जैसे लोगों को पार्टी से दूर करना चाहिए। विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ा नुकसान दुर्गेश पाठक जैसे लोगोें के चलते हुअा है। रोड़ी ने कहा कि केजरीवाल के साथ आज भी हम हैं, लेकिन दिल्ली वालों को पंजाबियों को अपने फैसले खुद नहीं करने देने के खिलाफ हैं। रोड़ी ने कहा कि केजरीवाल तक सही तरीके से बात नहीं पहुंचाई जा रही, जिस कारण ही पंजाब में पार्टी को नुकसान हो रहा है।

मान को खैहरा गुट प्रधान मानने को तैयार नहीं
X
मान को खैहरा गुट प्रधान मानने को तैयार नहीं
मान को खैहरा गुट प्रधान मानने को तैयार नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..