माइग्रेटरी पल्स पोलियो राउंड के पहले दिन 3640 बच्चों को पिलाई पोलियोरोधी बूंदें

Gurdaspur News - भास्कर संवाददादा | गुरदासपुर भारत में चलाए गए माइग्रेटरी पल्स पोलियो राउंड के तहत 15 सितंबर को गुरदासपुर जिले...

Sep 16, 2019, 07:46 AM IST
भास्कर संवाददादा | गुरदासपुर

भारत में चलाए गए माइग्रेटरी पल्स पोलियो राउंड के तहत 15 सितंबर को गुरदासपुर जिले में रहते बाहरी मजदूरों के 3640 बच्चों को पोलियो वैक्सीन बूंदें पिलाई गईं। इस मुहिम के दौरान जिले भर में कुल 6692 बच्चों को पोलियो बूंदें पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। सिविल सर्जन डा.किशन चन्द ने बताया कि इस मुहिम के तहत जिले भर में कुल 65 टीमें बनाई गई थीं इन टीमों ने तीन दिन घर घर जाकर जिले में रहते बाहरी मजदूरों जिनमें भट्ठे पर काम करने वाले मजदूर, फैक्टरियों में काम करने वाले, गुज्जरों के डेरों, टप्परवासी तथा सिकलीगरों के बच्चों को पोलियो वैक्सीन पिलानी है। इन टीमों को सुपरवीजन करने के लिए जिले में 26 सुपरवाइजर भी लगाए गए हैं। इस मुहिम को हर हाल में यकीनी बनाने की कोशिश की गई है ताकि कोई भी बाहरी मजदूर का बच्चा पोलियो बूंदें पीने से वंचित न रह जाए।

लोगों को पोलियोरोधी बूंदें पिलाने के दौरान जानकारी देते हुए एसएमओ डॉ. लखविंदर सिंह अठवाल। -भास्कर

कलानौर में प्लस पोलियो की शुरुआत

भास्कर संवाददाता | कलानौर

सिविल सर्जन डॉ. किशन चंद के निर्देशों पर डॉ.लखविंदर सिंह अठवाल एसएमओ कलानौर की अगुवाई में प्रवासी प्लस पोलियो की कलानौर ब्लॉक में शुरुआत की गई। डॉ.अठवाल ने बताया कि कलानौर ब्लॉक में 248 प्रवासी मजदूरों के 5 साल के नीचे बच्चों को पोलियो की बूंदें पिलानी हैं। यह एक्टीविटी 3 दिन तक चलेगी, जिसमें 0 से 5 साल के बच्चों को झुग्गी, झोंपड़ियों, भट्‌ठों, मंडियों व अन्य जगहों पर प्रवासी मजदूर रह रहे हैं। इस मुहिम का लक्ष्य भारत को पोलियो मुक्त बरकरार रखना है।

वहीं, डॉक्टर अठवाल ने बताया कि इस मौके टीमों को हिदायत की गई है कि कोई भी प्रवासी मजदूर का 0-5 साल का बच्चा पोलियो की दवा पीने के बिना नहीं रहना चाहिए। इस मौके पर हेल्थ इंस्पेक्टर दिलबाग सिंह, मेल वर्कर रविंदर सिंह, डॉ.सुरविंदर सिंह आदि मौजूद थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना