सुरक्षा फोर्सों के बहादुर जवानों की कुर्बानियों से ही कायम है अमन शांति

Gurdaspur News - शहीदी स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए एसपी निर्मलजीत सिंह। आतंकवाद में अब तक 1841 पुलिस अधिकारी और जवान...

Oct 22, 2019, 07:35 AM IST
शहीदी स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए एसपी निर्मलजीत सिंह।

आतंकवाद में अब तक 1841 पुलिस अधिकारी और जवान शहीद
शहीदों के परिवारों के दुखों का निवारण ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि : एसएसपी

गुरदासपुर पुलिस लाइन में ‘पुलिस शहीदी दिवस’ समारोह में शहीद परिवारों की मुश्किलें सुनकर मौके पर किया समाधान

भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर

देश की खातिर शहादतें देने वाले पुलिस जवानों की खातिर ही आज हम आजादी माहौल में सांस ले रहे हैं और इन्हीं की बदौलत ही देश में अमन शांति और खुशहाली बरकरार है। यह बात एसएसपी गुरदासपुर स्वर्णदीप सिंह ने स्थानीय पुलिस लाइन में आयोजित जिला स्तरीय पुलिस शहीदी दिवस समारोह के दौरान कही।

एसएसपी ने कहा कि पंजाब पुलिस का इतिहास गौरवमय रहा है, जिसने देश की अंदरुनी और बाहरी सुरक्षा के लिए हमेशा आगे आकर कुर्बानियां दी हैं। पंजाब में जब आतंकवाद का दौर चल रहा था तो पुलिस जवानों/अधिकारियों ने शहादतें देकर देश में अमन-शांति कायम की। उन्होंने कहा कि शहीद परिवारों के सुख-दुख में शामिल होना और उनकी मुश्किलें हल करना ही, शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। शहीद परिवारों की मुश्किलें पहल के आधार पर हल होंगी।

उन्होंने कहा कि गुरदासपुर जिले के शहीद परिवारों के लिए उनके दफ्तर 24 घंटे खुले हैं और वह जब चाहें अपनी दुख तकलीफ साझी कर सकते हैं। इसके बाद उन्होंने 21 अक्टूबर दिन के इतिहास संबंधी बताया कि 21 अक्टूबर 1959 को लद्दाख के होट स्प्रिंग क्षेत्र में सीआरपीएफ और इंटेलिजेंस ब्यूरो की साझी पैट्रोलिंग पार्टी भारत-तीन की सरहद पर गश्त कर रही थी। इस पार्टी में करीब 10 जवान शामिल थे। इसी बीच चीनी फौजियों ने हमला कर दिया, लेकिन जवानों ने पूरी बहादुरी से सामना किया और दुश्मन को मातृभूमि में दाखिल नहीं होने दिया। उसी दिन की याद में पूरे भारत में पुलिस शहीदी दिवस मनाया जाता है, जिसकी शुरुआत साल 1960 से की गई। इससे पहले पंजाब पुलिस के जवानों ने शहीदों को सलामी दी और समारोह में पहुंची सभी हस्तियों ने शहीदी स्मारक पर श्रद्धासुमन भेंट किए।

इसके बाद एसपी (हेडक्वार्टर) नवजोत सिंह सिद्धू ने शहीद हुए जवानों/अधिकारियों के नाम पढ़कर सुनाए। इस अवसर पर शहीद हुए जवानों के परिवार वालों को सम्मानित भी किया गया और उपरांत शहीद हुए जवानों के परिवार वालों की मुश्किलें भी सुनीं और उनका मौके पर हल किया गया। समारोह के अंत में सभी को रिफ्रेशमेंट दी गई। समारोह में जिला सेशन जज जतिंदरपाल सिंह खुरमी, एसपी (डी) हरविंदर सिंह संधू, पूर्व डीएसपी अवतार सिंह, जिले के सभी थाना प्रभारी, शहीद जवानों के पारिवारिक मेंबर व पूर्व पंजाब पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

पुलिस शहीदी दिवस पर करवाए समारोह में श्रद्धांजलि देते न्यायाधीश जतिंदरपाल सिंह खुरमी व (दाएं) शहीद के परिजनों की मुश्किलें सुनते एसएसपी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना