• Hindi News
  • National
  • Gurdaspur News Ayushmann Card Has Started To Be Started In Punjab Dr Chand

पंजाब में बनने शुरू हो चुके हैं आयुष्मान कार्ड : डॉ. चंद

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर

सिविल सर्जन कार्यालय में सिविल सर्जन डॉ. किशन चंद के नेतृत्व में एसएमओ, डिप्टी मेडिकल कमिश्नर और जिला प्रोग्राम अधिकारियों संग बैठक की। इस दौरान डॉ. चंद ने बताया कि आयुष्मान भारत सरबत विकास योजना तहत पंजाब में ई-कार्ड बनाने की शुरुआत हो चुकी है। ई-कार्ड बनाने के लिए आधार कार्ड, राशन कार्ड और पैन कार्ड आदि जरूरी दस्तावेज अनिवार्य हैं। ये दस्तावेज लेकर आम आदमी कॉमन सर्विस सेंटर में संपर्क कर अपना ई-कार्ड बना सकता है।

उन्होंने बताया कि गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को 5 लाख रुपए तक की सेहत सेवाओं का लाभ पहुंचाने के लिए आयुष्मान भारत सरबत विकास योजना 20 अगस्त को पूरे पंजाब में लागू हो जाएगी। ऐसे में ग्रामीण इलाकों में भी कॉमन सर्विस सेंटर बनाए गए हैं। हरके जरूरतमंद परिवार को वार्षिक 5 लाख रुपए तक की इलाज और सेहत बीमे की सुविधा पंजाब सरकार दे रही है। जबकि यह सुविधा सूचीबद्ध 10 प्राइवेट और 11 सरकारी अस्पतालों में दी जाएगी। उधर, डिप्टी मेडिकल कमिश्नर डॉ. हरसिमरत सिंह वड़ैच ने बताया कि 1 अगस्त से ई-कार्ड बनाने की प्रक्रिय ा का आगाज हो चुका है। जबकि ये कार्ड 2011 की जनगणना के अनुसार बनाए जा रहे हैं। 1 अगस्त को बाद जो जरूरतमंद परिवार रह जाएंगे, वे परिवार भी अस्पताल या सेवा केंद्र में विजिट कर कार्ड बना सकेंगे।

इस मौके सहायक सिविल सर्जन डॉ. सुनीता भल्ला, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भारत भूषण, जिला डेंटल हेल्थ अधिकारी डॉ. जैसमीन नंदा, डॉ. मनजीत सिंह बब्बर, डॉ. दीपक सहोता आदि मौजूद थे।

सेहत अधिकारियों संग बैठक करते सिविल सर्जन डॉ. किशन चंद।

खबरें और भी हैं...