• Home
  • Punjab News
  • Gurdaspur News
  • एडीसी की फटकार पर सोमवार ऑफिस पहुंची लेबर इंस्पेक्टर
--Advertisement--

एडीसी की फटकार पर सोमवार ऑफिस पहुंची लेबर इंस्पेक्टर

निराश मजदूरों ने दफ्तर के बाहर फिर दिया धरना भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर शुक्रवार को लेबर ऑफिस में...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:15 AM IST
निराश मजदूरों ने दफ्तर के बाहर फिर दिया धरना

भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर

शुक्रवार को लेबर ऑफिस में रजिस्टर्ड मजदूरों की कॉपियां ऑनलाइन करने की प्रक्रिया के दौरान लेबर इंस्पेक्टर की औचक छुट्टी के चलते मजदूरों को निराश खाली हाथ वापस जाना पड़ा था। इसके बाद निराश मजदूरों ने ऑफिस के बाहर ही धरना लगा दिया। इस पर एडीसी विजय स्याल ने मजदूरों की समस्या सुनी और लेबर कार्यालय को ताड़ना की कि मजदूरों का काम सोमवार को हो जाना चाहिए।

वहीं सोमवार को अपना ऑनलाइन कार्य पूरा होने की आस लिए सुबह साढ़े 7 बजे से ही मजदूर कतारों में लगना शुरू हो गए। लेकिन सुबह साढ़े 8 बजे लेबर इंस्पेक्टर निर्मला शर्मा के कार्यालय पहुंचने के बावजूद भी मजदूरों का काम नहीं हो सका। इस अवसर पर मजदूर बलविंदर सिंह, फतेह सिंह, राज कुमार, प्रेम चंद, सतनाम सिंह, दलीप कुमार, यश मसीह ने बताया कि वह सुबह से ही दफ्तर के बाहर खड़े हैं, लेकिन लेबर इंस्पेक्टर के ऑफिस आने के बाद भी उनका काम नहीं किया जा रहा। उन्होंने बताया कि नेट बंद होने की वजह से आज भी उनका कार्य नहीं हो पाएगा, लेकिन जब साढ़े 12 बजे दैनिक भास्कर की टीम लेबर ऑफिस के अंदर पहुंची तो इंटरनेट बंद होने की वजह लेबर इंस्पेक्टर से पूछी। इस पर इंस्पेक्टर ने सफाई दी कि सुबह से कार्यालय का इंटरनेट नहीं चल रहा, जिसके कारण आज भी मजदूरों का काम नहीं हो पाएगा, वहीं इसका मैसेज हेड ऑफिस को भी कर दिया गया है, लेकिन जब भास्कर टीम ने स्टाफ सदस्यों को अच्छे से नेट चेक करने के लिए कहा तो पलभर में ही इंटरनेट चल पड़ा।

वहीं, जहां मजदूरों को अगले दिन आने का समय दिया जा रहा था, वहीं उनका ऑनलाइन काम साढ़े 12 बजे से शुरू हो गया।

लेबर दफ्तर में कॉपियां ऑनलाइन करवाने को कतारों में खड़े मजदूर तथा (दाएं) नेट चलने पर लेबर स्टाफ ऑनलाइन काम करते।

मामला

शुक्रवार को मजदूर कापियां ऑनलाइन करने के लिए सुबह 5 बजे से ही कतारों में खड़े थे, लेकिन जब कार्यालय खुला तो उन्हें पता चला कि आज लेबर इंस्पेक्टर छुट्टी पर है। यह बात सुनकर मजदूरों ने कार्यालय के बाहर ही धरना लगा दिया। इस पर एडीसी स्याल ने हस्तक्षेप कर मजदूरों का काम सोमवार को हर हाल में पूरा करवाने के लिए लेबर कार्यालय को फटकार लगाई थी।