• Hindi News
  • Punjab News
  • Gurdaspur News
  • डाॅ. ज्योति को क्लीन चिट देने के बयान से मुकरे सिविल सर्जन, बोले- किसी और केस में दी क्लीन चिट
--Advertisement--

डाॅ. ज्योति को क्लीन चिट देने के बयान से मुकरे सिविल सर्जन, बोले- किसी और केस में दी क्लीन चिट

कार्रवाई में जान-बूझकर की जा रही देरी भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर 21 अप्रैल को एक बच्चे की मां की कोख में ही...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:25 AM IST
कार्रवाई में जान-बूझकर

की जा रही देरी

भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर

21 अप्रैल को एक बच्चे की मां की कोख में ही मौत हो गई थी। इसके चलते पीड़ित परिवार द्वारा डाॅ. ज्योति पर आरोप लगाया गया था कि बच्चे की मौत डाॅ. ज्योति की अनदेखी के कारण हुई है, क्योंकि महिला को अस्पताल में भर्ती करवाने के 15 घंटे तक डाक्टर उसका चेकअप करने तक नहीं पहुंची। डाक्टर घर बैठे फोन पर ही स्टाफ से सारी जानकारी लेती रही। जब उसे पता चला कि महिला व बच्चे की हालत गंभीर हो गई है, तो उसने स्टाफ को फोन करके उसे रेफर करवा दिया।

इसके बाद अमृतसर में डिलिवरी के बाद मरा हुआ बच्चा पैदा हुआ। पीड़ित परिवार का आरोप है कि यह सब डाक्टर की लापरवाही के कारण हुआ है। मृतक बच्चे के पिता दीपक निवासी प्रेमनगर ने अपने परिजनों के साथ मृत बच्चे के साथ शहर में रोष मार्च निकाला तथा सिविल सर्जन कार्यालय में नारेबाजी भी की थी। 21 अप्रैल को सहायक सिविल सर्जन, डीसी व एसएसपी को शिकायत पत्र देकर पीड़ित परिवार ने कार्रवाई की मांग की थी।

इस मामले में सोमवार को सिविल सर्जन डाॅ. किशन चंद ने भास्कर से कहा था उन्होंने डाॅ. ज्योति को जांच के बाद क्लीन चिट दे दी है, क्योंकि इसमें उनकी कोई गलती नहीं थी। लेकिन, समाचार प्रकाशित होने के बाद जब पीड़ित परिवार ने सिविल सर्जन से बातचीत की, तो वह अपने बयान से सीधे मुकर गए तथा कहा कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा। उन्होंने सिर्फ यही कहा था कि डाॅ. ज्योति को क्लीन दी गई है, लेकिन वह किसी ओर मामले में दी गई है। बच्चे की मौत के संबंध में अभी जांच चल रही है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..