• Home
  • Punjab News
  • Gurdaspur News
  • आज छुट्टी लेकर डीसी फिरोजपुर के खिलाफ धरना देने जाएंगे डीसी दफ्तर के मुलाजिम
--Advertisement--

आज छुट्टी लेकर डीसी फिरोजपुर के खिलाफ धरना देने जाएंगे डीसी दफ्तर के मुलाजिम

भास्कर संवाददाता| गुरदासपुर डीसी फिरोजपुर द्वारा एसडीएम जोगिंद्र कुमार जीरा का तबादला कर दिया गया है। वहीं,...

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 02:25 AM IST
भास्कर संवाददाता| गुरदासपुर

डीसी फिरोजपुर द्वारा एसडीएम जोगिंद्र कुमार जीरा का तबादला कर दिया गया है। वहीं, लंबे समय से पंजाब सरकार द्वारा मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा, जिसके चलते बुधवार को पंजाब के डीसी कार्यालयों में कर्मचारी यूनियनों की प्रदेश बाॅडी द्वारा फैसले अनुसार 3 दिवसीय हड़ताल के पहले दिन आफिसों, उपमंडल मैजिस्ट्रेट आफिस, तहसील व उप तहसीलों में काम करते कर्मचारियों ने कलम छोड़ हड़ताल की। इस दौरान मुकम्मल तौर पर काम बंद रखा गया तथा धरना दिया गया।

इस बारे में प्रदेश प्रधान गुरनाम सिंह विर्क की अध्यक्षता में वर्किंग कमेटी व पंजाब स्टेट मनिस्ट्रियल सर्विसेज यूनियन जिला यूनिट फिरोजपुर, भारतीय किसान यूनियन, ब्राह्मण सभा, बजरंग दल, राम लीला क्लब, डाक्टर बीआर जागरण मंच, प्रेस क्लब, रविदास सभा, बाल्मीकि समाज तथा एससी सैल जीरा के नेताओं की बैठक में जोगिंद्र कुमार जीरा को जाति तौर पर डीसी फिरोजपुर द्वारा किए जा रहे तंग परेशान व धक्केशाही का विरोध किया गया। वक्ताओं ने कहा कि 3 मई को पंजाब के डीसी आफिसों, उपमंडल मैजिस्ट्रेट आफिस, तहसीलों व उप तहसीलों के समूह कर्मचारियों द्वारा सामूहिक छुट्टी लेकर जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स फिरोजपुर के सामने पंजाब स्तरीय रोष रैली करने का फैसला किया गया है। उन्होंने कहा कि इसके संबंध में 3 मई को फिरोजपुर रैली में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया जाएगा। इस मौके पर हरजिन्दर सिंह, लखविन्दर सिंह, रघुबीर सिंह, सर्बजीत सिंह, कुलविन्दर सिंह, सुरिन्दर कुमार, परमजीत सिंह, नीलम कुमारी, दर्शना देवी, नरिंदर देव भी उपस्थित थे।

तबादला रद्द करवाने और डीसी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की

डीसी आफिस में धरने के दौरान सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते कर्मचारी।

धरने के दौरान मोबाइलों में व्यस्त दिखे कर्मी

धरने के दौरान कुछ कर्मी अपने-अपने मोबाइलों पर सोशल मीडिया पर व्यस्त दिखे। जहां तक कि जिला प्रधान हरजिन्दर सिंह बार-बार उन्हें सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने व एकसाथ होकर बैठने के लिए कहते रहे, लेकिन कर्मचारी उनकी बात सुनने की बजाए फोन पर ही बिजी दिखे।