• Hindi News
  • Punjab News
  • Hajipur News
  • संघर्ष कमेटी व ट्रक चालक थाना हाजीपुर में हुए आमने-सामने, मंगवानी पड़ी फोर्स
--Advertisement--

संघर्ष कमेटी व ट्रक चालक थाना हाजीपुर में हुए आमने-सामने, मंगवानी पड़ी फोर्स

मंगलवार को थाना हाजीपुर में खनन रोको जमीन बचाओ संघर्ष कमेटी व ट्रक चालकों के बीच होने बाली बैठक बेनतीजा रही।...

Dainik Bhaskar

Aug 01, 2018, 02:40 AM IST
संघर्ष कमेटी व ट्रक चालक थाना हाजीपुर में हुए आमने-सामने, मंगवानी पड़ी फोर्स
मंगलवार को थाना हाजीपुर में खनन रोको जमीन बचाओ संघर्ष कमेटी व ट्रक चालकों के बीच होने बाली बैठक बेनतीजा रही। मंगलवार सुबह यहां संघर्ष कमेटी दबाव बनाने के लिए बड़ी संख्या में लोगों को लेकर थाने पंहुची, वहीं शिकायतकर्ता चालक भी बडी संख्या में ट्रक चालकों को लेकर आए।

दोनों पक्षों के आमने-सामने होते स्थिति को बिगड़ता देख, तीन थानों की पुलिस व डीएसपी मुकेरियां रविन्द्र सिंह खुद मौके पर पहुंचे। डीएसपी के समक्ष बातचीत दौरान दोनों पक्ष अपनी-अपनी बात पर अड़े रहे। जिसके बाद संघर्ष कमेटी के सदस्य उठकर चले गए।बता दें कि गांव हंदवाल, टोटे, चक्क मीरपुर आदि गांव के लोग स्टोन क्रशर से आते हैवी वाहनों को अपने गांव से गुजरना बंद करने के लिए और अवैध माइनिंग को लेकर खनन रोको जमीन बचाओ संघर्ष कमेटी के बैनर तले संघर्ष कर रहे हैं। 25 जुलाई रात को लोगों ने गांव से गुजर रहे हैवी वाहनों का विरोध किया तो ट्रक चालकों से कहासुनी हो गई। इस पर दो ट्रक चालक अपने ट्रकों को वहीं छोड़ गए और हाजीपुर पुलिस ने ट्रक चालकों की शिकायत पर गांव के 2 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की। इस पर संघर्ष कमेटी के साथ गांव हंदवाल व चक्क मीरपुर के लोग थाना हाजीपुर पहुंचे और शिकायत रद्द करने और ट्रक चालकों पर कार्रवाई की मांग की थी। पुलिस ने मंगलवार को हाजीपुर थाने में दोनों पक्षों को बुलाय था लेकिन कोई हल नहीं निकला। संघर्ष कमेटी के धर्मेंद्र सिंबली ने बताया कि पुलिस का बर्ताव अच्छा नहीं था। वह माइनिंग पीड़ित 35 गांव के लोगों के साथ 3 अगस्त को बैठक रखेंगे। अगले प्रदर्शन के लिए उसमें विचार होगा। वहीं, ट्रक चालकों का कहना है कि उनका कोई कसूर नहीं है। उनका काम सिर्फ गाड़ी चलना है। ट्रक चालकों ने पुलिस से रास्ते के स्थाई हल व दोनों चालकों से मारपीट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

नहीं निकला कोई नतीजा, संघर्ष कमेटी बोली- पुलिस ने नहीं सुनी बात

पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन करते संघर्ष कमेटी के सदस्य और लोग।

कुछ लोग पुलिस को कर रहे बदनाम : डीएसपी

डीएसपी मुकेरियां रविन्द्र सिंह ने कहा कि कुछ लोग अपने फायदे के कारण पुलिस को बदनाम कर रहे हैं। पुलिस ने दोनों पक्षों को बुलाया था लेकिन कुछ लोग बीच से ही उठकर चले गए। शिकायतकर्ता ट्रक चालकों और दोनों गांव वासियों के बीच समझौता हो गया है। पुलिस ने किसी भी व्यक्ति के साथ कोई भी बदसलूकी नहीं की।

X
संघर्ष कमेटी व ट्रक चालक थाना हाजीपुर में हुए आमने-सामने, मंगवानी पड़ी फोर्स
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..