पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

50 हजार संगत ने कहा... जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल...

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | टांडा उड़मुड

धन-धन श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित अंतरराष्ट्रीय नगर कीर्तन बुधवार को गुरुद्वारा तप-स्थान बाबा बलवंत सिंह टांडा पहुंचने पर 50 हजार की संगत ने श्रद्धा व सत्कार के साथ स्वागत किया। करीब दो दिन की देरी से पहुंचे इस नगर कीर्तन के दर्शन के लए संगत ने लंबा इंतजार किया। संत बाबा गुरदयाल सिंह के प्रयास के चलते कीर्तन का टांडा पहुंचते ही नानक नाम लेवा संगत द्वारा पूरे जोशो-खरोश के साथ फूलों की वर्षा करके स्वागत किया गया। वहीं प्रबंधकों की ओर से जगह-जगह पर बड़े स्वागती गेट, झालरें और पुलिस बैंड के साथ इस नगर कीर्तन का खालसाई अंदाज में स्वागत किया।

48 घंटे लेट पहुंचा नगर कीर्तन, संगत करती रही इंतजार

निर्धारित समय (5 अगस्त) से 48 घंटे देरी से पहुंचने के बावजूद भी इस नगर कीर्तन के दर्शन के लिए संगत पूरी रात सड़कों पर इंतजार करती रही। पांच प्यारों की अगुवाई में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी को फूलों के साथ सजाई पालकी में लाया गया। गुरुद्वारा नानक दुख भंजन सत्संग घर पहुंचने पर पांच प्यारों को सिरोपा भेंट करके सम्मानित किया, वहीं गुरु साहिब के शस्त्रों की बस में लगाई गई प्रदर्शनी आर्कषण का केंद्र रहीं।

खबरें और भी हैं...