Hindi News »Punjab »Hoshiarpur» भीम नगर में पाइप लाइन नहीं, बाल्टियों से पानी लाते हैं लोग

भीम नगर में पाइप लाइन नहीं, बाल्टियों से पानी लाते हैं लोग

भास्कर संवाददाता| होशियारपुर होशियारपुर के वार्ड-17 में भीम नगर के लोग 15 साल से पीने वाले पानी के लिए तरस रहे हैं।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:30 AM IST

भीम नगर में पाइप लाइन नहीं, बाल्टियों से पानी लाते हैं लोग
भास्कर संवाददाता| होशियारपुर

होशियारपुर के वार्ड-17 में भीम नगर के लोग 15 साल से पीने वाले पानी के लिए तरस रहे हैं। मोहल्ले में दो सरकारी सबमर्सिबल पंप हैं लेकिन पाइप लाइनें नहीं डाली गई। इसके अलावा शौचालय न होने के कारण लोग खुले में शौच जाने को मजबूर हैं। मोहल्ले के पास ही चोक में लोगों के घरों के गंदे पानी का बना छप्पड़ बदबू मार रहा है। धागा फैक्ट्री की चिमनियों से निकलता धुआं और कालिख मुसीबत बनी हुई है। भीम नगर वासी विनय, अकलेश, राजा राम, मानव, बुलिसा, धीरज सूद आदि ने बताया कि अकाली-भाजपा सरकार के समय मोहल्ले में दो सबमर्सिबल पंप लगाए गए थे लेकिन मोहल्ला बड़ा होने के कारण यह कम हैं। रिया ने बताया कि कुछ सालों से वह पड़ोसी के घर में लगे सबमर्सिबल से प्रति महीना 400 रुपए देकर पानी ले रहे हैं। कांग्रेस सरकार बनने के बाद मोहल्ले के विकास के लिए अब तक एक भी पैसा नहीं मिला और जो 32 लाख रुपए सड़कें बनाने के लिए मिला था वह भी सरकार ने वापिस ले लिए। लोगों ने कहा कि चुनाव में नेता पीने वाले पानी का जल्द प्रबंध करवा देने का भरोसा देकर पाइप मोहल्ले में फेंकवा देते हैं लेकिन बाद में यह पाइप उठा लिया जाता है। भीम नगर मोहल्ले में बिजली विभाग और नगर निगम की ओर से बिजली के खंभे खड़े कर दिए हैं लेकिन उन पर न ही तारें डाली है और न ही लाइटें लगाई गई हैं।

खाली बाल्टियों समेत सरकारी ट्यूबवेल के पास अपनी मुश्किलें बताते। -भास्कर

वार्ड की कुल आबादी 5000 और 2000 वोट

वार्ड की कौंसलर रीना और उसके पति विनय ने बताया कि वार्ड की कुल आबादी 5000 और 2000 के करीब वोट हैं। भीम नगर मोहल्ले में प्रवासी मजदूरों की करीब 300 झुगियां हैं। वह सीवरेज और पानी का प्रबंध न होने, गंदे पानी और फैक्ट्री की कालिख से परेशान हैं। रीना ने बताया कि पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने वार्ड के विकास के लिए 69 लाख रुपए दिए थे जिनसे वार्ड का शुरू काम आधा भी पूरा नहीं हुआ। सरकार की अमृत योजना स्कीम तहत वार्ड में वाटर सप्लाई और सड़कों का काम मंजूर हुआ था लेकिन वह काम अभी तक शुरू नहीं हो पाया। मोहल्ले में लगे दो पंपों से लोगों को पानी भरकर लाना पड़ता है। पानी भरते समय कई बार झगड़ा भी हो जाता है। कई लोगों को रोजाना पानी के लिए बाहर से टैंकर मंगवाकर पैसे देकर पानी खरीदना पड़ रहा है।

धीमा चल रहा है सरकारी ट्यूबवेल का काम

इस संबंधी बातचीत के दौरान कौंसलर रीना ने बताया कि पिछली सरकार के समय वार्ड में 19 लाख रुपए के प्रोजेक्ट से एक सरकारी ट्यूबवेल मंजूर हुआ था लेकिन उसका काम बहुत धीमा चल रहा है। उसकी इमारत पर कुछ दिन पहले ही लैंटर डाला गया है। ट्यूबवेल को अब तक कनेक्शन ही नहीं मिला। वार्ड में घरों तक पानी पहुंचाने के लिए पाइप भी नहीं डाले गए। उन्होंने बताया कि जिला होशियारपुर के लिए अमृत योजना तहत 43 करोड़ 55 लाख रुपए मिल चुके हैं लेकिन सरकार और जिला प्रशासन ने इस योजना तहत एक भी रुपया खर्च नहीं किया।

अमृत स्कीम के योजना तहत वार्ड के सभी अधूरे काम एक महीने में पूरे किए जा रहे हैं: विधायक संुदर शाम

इस संबंध में विधायक सुंदर शाम अरोड़ा ने कहा कि भीम नगर के लोगों की समस्या उनके नोटिस में है। अमृत स्कीम योजना तहत वार्ड के सभी अधूरे काम एक महीने में पूरे किए जा रहे हैं। सरकारी ट्यूबवेल की इमारत तैयार हो गई है और कनेक्शन भी मंजूर हो चुका है। वार्ड में सीवरेज, पाइप लाइन और गलियों का काम एक महीने में शुरू करवा दिया जाएगा। फैक्ट्री की कालिख की मुश्किल के बारे में वह फैक्ट्री प्रबंधकों और विभाग के अधिकारियों से बात करेंगे।

कांग्रेस सरकार बनने के बाद काम रुके : मेयर

इस संबंध में नगर निगम के मेयर शिव सूद ने बताया कि अकाली भाजपा सरकार के समय वार्ड के विकास कामों के लिए लाखों रुपए खर्च किए गए थे लेकिन कांग्रेस सरकार बनने के बाद विकास कार्य ठप हो गए। केंद्र सरकार की स्कीमों तहत वार्ड के अधूरे काम जल्द ही पूरे करवाए जा रहे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hoshiarpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×