• Home
  • Punjab News
  • Hoshiarpur News
  • कश्मीर में 3 मुठभेड़ों में 13 आतंकी मारे, होशियारपुर के जवान समेत तीन शहीद
--Advertisement--

कश्मीर में 3 मुठभेड़ों में 13 आतंकी मारे, होशियारपुर के जवान समेत तीन शहीद

भास्कर न्यूज | श्रीनगर सुरक्षा बलों ने रविवार को कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सात साल का सबसे बड़ा ऑपरेशन चलाया।...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:30 AM IST
भास्कर न्यूज | श्रीनगर

सुरक्षा बलों ने रविवार को कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सात साल का सबसे बड़ा ऑपरेशन चलाया। तीन मुठभेड़ों में 13 आतंकी मारे गए, एक को जिंदा पकड़ लिया गया। सुरक्षाबलों के तीन जवान गनर अरविंदर कुमार निवासी सरियाना होशियारपुर (पंजाब), सिपाही हेत राम निवासी बीकानेर (राजस्थान), गनर नितेश सिंह निवासी सुल्तानपुर (यूपी) भी शहीद हो गए। 12 आतंकी शोपियां इलाके में मारे गए, जबकि एक अनंतनाग में ढेर हुआ। सुरक्षा बलों को सूचना मिली थी अमरनाथ यात्रा, सुरक्षाबलों और राजनेताओं पर हमलों की साजिश रचने के लिए बैठक करनी थी। इनमें हिजबुल और लश्कर दोनों के ही आतंकी शामिल थे। इसी आधार पर सेना ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया था, इसी दौरान मुठभेड़ हुई। महज कुछ घंटे में एक के बाद एक 13 आतंकियों की मौत की खबर फैलते ही शोपियां, अनंतनाग, कुलगाम और पुलवामा में तनाव फैल गया। जगह-जगह लोग सड़कों पर उतर आए। उन्हें खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले और पैलेट गन चलानी पड़ी। झड़पों में सेना, पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों सहित 90 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।

हेत राम

नितेश सिंह

लोगों ने सुरक्षाबलों को पत्थर मारे, कार्रवाई में दो मरे

सुरक्षा बलों पर पथराव करते युवक।

लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या करने वाले दो आतंकी भी मारे गए

जेएंडके के डीजीपी डाॅ. एसपी वैद्य ने बताया कि शोपियां के द्रगड़ में मारे गए 7 आतंकियों में लेफ्टिनेंट उमर फैयाज के हत्यारे भी शामिल हैं। मारे गए आतंकी रईस ठोकर और इशफाक मलिक पिछले साल मई में की गई लेफ्टिनेंट फैयाज की हत्या में शामिल थे। सभी आतंकी स्थानीय हैं और उनकी पहचान भी हो चुकी है।


रात में एक साथ 3 जगह ऑपरेशन | सुरक्षा बलों ने शोपियां के द्रगड़ और कचधूरा के गांवों और अनंतनाग के पेठ डायलगाम में शनिवार रात करीब 1 बजे तलाशी और घेरेबंदी शुरू कर दी। आतंकियों की ओर से फायरिंग होने पर सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई की। शोपियां के द्रगड़ में सात और कचधूरा में पांच आतंकी मारे गए। कचधूरा के जिस घर में आतंकी छिपे थे, वह ऑपरेशन में पूरी तरह तबाह हो गया। तीनों जवान कचधूरा में ही शहीद हुए। अनंतनाग के पेठ डायलगाम में एक आतंकी मारा गया। जबकि एक जिंदा पकड़ा गया। द्रगड़, कचधूरा और पेठ डायलगाम गांवों में मुठभेड़ के दौरान आतंकियों को भगाने के लिए स्थानीय नागरिकों ने सुरक्षा बलों को पत्थर मारे। इस दौरान क्रॉस फायरिंग की चपेट में आकर चार लोग मारे गए।

परिजन आधे घंटे तक सरेंडर करने को कहते रहे, नहीं माना, मारा गया

सेना की 15वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्‌ट ने बताया कि पेठ डायलगाम में एसएसपी ने आतंकियों से सरेंडर करवाने के प्रयास किए। एक आतंकी के परिवार को बुलवाया। वह लोग करीब आधे घंटे तक सरेंडर के लिए समझाते रहे, लेकिन आतंकी नहीं माना और मारा गया। उसका साथ जिंदा पकड़ा गया।