होशियारपुर

  • Home
  • Punjab News
  • Hoshiarpur News
  • मौलाना इमदादुल राशिदी को नोबेल पुरस्कार देने की सिफारिश करे सरकार : सवेरा
--Advertisement--

मौलाना इमदादुल राशिदी को नोबेल पुरस्कार देने की सिफारिश करे सरकार : सवेरा

भास्कर संवाददाता | होशियारपुर संस्था सवेरा ने पश्चिमी बंगाल के आसनसोल में मस्जिद के इमाम मौलाना इमदादुल राशिदी...

Danik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:35 AM IST
भास्कर संवाददाता | होशियारपुर

संस्था सवेरा ने पश्चिमी बंगाल के आसनसोल में मस्जिद के इमाम मौलाना इमदादुल राशिदी को शांति के लिए नोबेल पुरस्कार देने की मांग के साथ-साथ भारत सरकार से भी उन्हें शांति पुरस्कार दिए जाने की मांग की है। शनिवार को सवेरा की तरफ से श्री राम भवन चांद नगर, बहादुरपुर में मौलाना के 16 वर्षीय पुत्र सिद्धतुल्ला राशिदी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। इसमें सवेरा के संयोजक डॉ. अजय बग्गा व अन्य पदाधिकारियों में हरीश सैनी, डॉ. सरदूल सिंह, कुमकुम सूद, सुखविंदर ढिल्लों, रिटायर बैंक मैनेजर एसपी दीवान, टीआर वर्मा एवं शिवानी बहन शामिल हुए। सभी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी एवं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से अनुरोध किया कि वे सभी संयुक्त रूप से मौलाना राशिदी को शांति के लिए नोबेल पुरस्कार दिए जाने संबंधी नोबल पुरस्कार कमेटी से सिफारिश करें। डॉ. अजय बग्गा ने कहा कि मौलाना इमदादुल राशिदी ने अपने पुत्र की मृत्यु के उपरांत आसनसोल में शांति बनाए रखने के लिए एक अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया। 16 वर्षीय बेटे की मृत्यु के बाद एकत्र गुस्साई भीड़ को मौलाना का यह कहना कि अगर किसी एक भी व्यक्ति या सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया तो वह मस्जिद व आसनसोल को सदा के लिए छोड़कर चले जाएंगे। उनके इन कथनों ने शांति बनाए रखने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। डॉ. बग्गा ने कहा कि इमाम मौलाना इमदादुल राशिदी ने अपने पुत्र की मृत्यु पर शांति बनाए रखने की जो भूमिका अदा की उसकी उदाहरण मिलना कठिन है।

Click to listen..