विज्ञापन

भक्ति एेसी हो कि अंतिम समय में भी प्रभु स्मरण रहे : सौम्य भारती

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 03:11 AM IST

Hoshiarpur News - भास्कर संवाददाता|टांडा/उड़मुड़ श्री राम कृष्ण आराधना मंंच पंजाब द्वारा श्री विश्वकर्मा मंदिर टांडा में पांच...

Tanda News - devotee should be remembered that lord should remember in the last time soumya bharti
  • comment
भास्कर संवाददाता|टांडा/उड़मुड़

श्री राम कृष्ण आराधना मंंच पंजाब द्वारा श्री विश्वकर्मा मंदिर टांडा में पांच दिवसीय श्री कृष्ण कथा का आयोजन किया जा रहा है। शनिवार को चौथे दिन की सभा में साध्वी सौम्य भारती ने कहा कि गीता ज्ञान वेदों का सार युगों-युगों से मानव जाति तक पहुंचता रहा है। यह उसी सनातन ज्ञान की पयस्विनी है जो वेदों से बहकर चली आ रही है। इसीलिए गीता को वेदों का सार कहा गया है।

उन्होंने का कि ईश्वर की कृपा से प्राप्त मनुष्य जन्म का लाभ यही है कि हम ज्ञान और भक्ति से अपने जीवन को ऐसा बना लें कि जीवन के अंत समय में भी प्रभु का स्मरण बना रहे। पंडाल में होली का पर्व मनाते हुए साध्वी ने इस पर्व का अध्यात्मिक अर्थ समझाते हुए बताया कि हो+ली से भाव है जो प्रभु की हो गई कौन किसका हो गया? यहां आत्मा और परमात्मा की बात की है। आत्मा उस परमात्मा की हो गई। ऐसी ही होली खेली थी, गोपियों ने कान्हा के संग। यहां स्वामी सज्जनानंद, चौधरी बलवीर सिंह मियानी पूर्व मंत्री, कुकू सैनी, जगजीवन सिंह जग्गी, हरी कृष्ण सैनी, देश राज डोगरा, भूपिंद्र कलसी, गुरमुख सिंह, जतिंद्र सिंह जैजा भीम मंदिर, डॉ. संदीप कुमार, शिव चरण कुमार सिंह, बलराज भंडारी, डॉ. बीएस मरवाहा, सतपाल बाली, किशन कुमार आरती उपस्थित हुए। साध्वी त्रिपुंड धारनी, योगिनी भारती, सदया भारती, कत्रिका भारती, हरविंद्र भरती, रविंद्र भारती ने भजनों का गायन किया।

समागम के दौरान मौजूद श्रद्धालुओं ने होली का पर्व मनाया। -भास्कर

X
Tanda News - devotee should be remembered that lord should remember in the last time soumya bharti
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन