वैज्ञानिक एवं प्रगतिवादी युग में मनुष्य के पास भौतिक सुख सुविधाएं तो हैं पर मानसिक शांति का अभाव : विज्ञानानंद

Hoshiarpur News - भास्कर संवाददाता | होशियारपुर दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से आश्रम में गुरु पर्व के उपलक्ष्य में आयोजित...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:51 AM IST
Hoshiarpur News - human beings have material comforts in scientific and progressive era but lack of mental peace vigyanand
भास्कर संवाददाता | होशियारपुर

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से आश्रम में गुरु पर्व के उपलक्ष्य में आयोजित दो दिवसीय विलक्षण योग एवं ध्यान शिविर के दूसरे दिन स्वामी विज्ञानानंद ने बताया कि 21वीं सदी के वैज्ञानिक एवं प्रगतिवादी युग में मनुष्य के पास भौतिक सुख सुविधाएं तो हैं परंतु मानसिक शान्ति का अभाव होने के कारण मनुष्य अशांत एवं अवसाद से ग्रसित है। ध्यान को मानसिक शान्ति का उपाय बताते स्वामी ने बताया कि हमारी सनातन भारतीय संस्कृति की मेधा प्रज्ञा इस तथ्य को सर्वसम्मति से स्वीकार करती है की ध्यान से ही मनुष्य मानसिक शान्ति को प्राप्त कर सकता है। ध्यान तो वैदिक सनातन पद्धति का विशुद्ध अंग है। जोकि ध्येय और ध्याता के संयोग से पूर्ण होता है। समस्त धार्मिक ग्रंथों में ईश्वर को प्रकाश स्वरुप बताया गया है। ध्यान देने योग्य है की आज संस्थान की ओर से सम्पूर्ण विश्व में नि:शुल्क ध्यान शिविर आयोजित कर विश्व को ध्यान की सनातन प्रक्रिया से जोड़ा जा रहा है। कार्यक्रम में उपस्थित साधकों ने सामूहिक ध्यान कर जहां मानसिक शांति एवं परम आनंद को प्राप्त किया। वहीं साध्वी राजविंदर भारती व दविंदर भारती व धर्मा भारती ने प्रेरणादायक भजनों व दिव्य मंत्रों का उच्चारण कर विश्व शान्ति और सर्व जगत कल्याण की मंगल प्रार्थना भी की। कार्यक्रम के उपरांत सभी साधकों के लिए भंडारे की व्यवस्था भी की गई।

पंडाल में प्रवचन सुनतीं संगत। -भास्कर

X
Hoshiarpur News - human beings have material comforts in scientific and progressive era but lack of mental peace vigyanand
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना