हॉट स्प्रिंग में 1959 में चीन की फौज से लड़ते कितना के सरवन दास हुए थे शहीद

Hoshiarpur News - पुलिस यादगार दिवस मौके शहीद सरवन दास सरकारी मिडल स्कूल कितना में सीआरपीएफ द्वारा विशेष समागम आयोजित कर शहीद सरवन...

Oct 22, 2019, 07:50 AM IST
पुलिस यादगार दिवस मौके शहीद सरवन दास सरकारी मिडल स्कूल कितना में सीआरपीएफ द्वारा विशेष समागम आयोजित कर शहीद सरवन दास को श्रद्धांजलियां भेंट की गई। स्कूल इंचार्ज हरदीप कुमार के नेतृत्व में आयोजित समागम में सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर जालंधर से डीआईजी हरजिंदर सिंह मुख्यातिथि थे। समागम में पहुंचने से पहले डीआईजी हरजिंदर सिंह ने गांव में शहीद के स्मारक पर फूल मालाएं अर्पित कर श्रद्धांजलि भेंट की और परिवार द्वारा शहीद के पैतृक घर में बनाए स्मारक का उद्घाटन किया गया।

स्कूल में आयोजित समागम का आरंभ तिरंगा फहराने पश्चात राष्ट्रीय गाण से किया गया तथा सीआरपीएफ के जवानों ने सलामी दी। छात्रों ने धार्मिक, सांस्कृतिक व देशभक्ति का कार्यक्रम पेश किया। उल्लेखनीय है कि गांव कितना का जवान सरवन दास उन 10 शहीदों में अकेला पंजाबी शामिल था जो 21 अक्तूबर सन् 1959 में लद्दाख के क्षेत्र हॉट स्प्रिंग में चीन की फौज से लड़ते शहीद हो गए थे।

इस घटना के पश्चात प्रत्येक वर्ष 21 अक्तूबर को पूरे देश में पुलिस यादगार दिवस मनाया जाता है। डीआईजी हरजिंदर सिंह ने सरकारी स्कूल के बच्चों को विभाग की अोर शैक्षणिक टूर लगवाने का ऐलान किया। इस दौरान स्कूल प्रमुख हरदीप कुमार ने आए हुए सभी मेहमानों का स्वागत किया।

वहीं इस दौरान शहीद के भतीजे अमरजीत सिंह व परिवार ने सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों को बूट अौर स्वेटर दिए। स्कूल की ब्लॉक में द्वितीय स्थान पर आने वाली छात्रा सुमन कुमारी का सम्मान किया गया।

शहीद के पैतृक घर में बनाए स्मारक का डीआईजी ने किया उद्घाटन

शहीद सरवन दास को श्रद्धांजलि भेंट करते समय सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर जालंधर से डीआईजी हरजिंदर सिंह। साथ हैं शहीद का भतीजा अमरजीत सिंह, सहायक कमांडेंट अधिकारी अंकुश, सुलिंदर सिंह कंडी व सुच्चा सिंह।


शहीद सरवन दास को सलामी देते जवान। (दाएं) देशभक्ति के संगीत पर नृत्य करते बच्चे। -भास्कर

भास्कर संवाददाता | गढ़शंकर

पुलिस यादगार दिवस मौके शहीद सरवन दास सरकारी मिडल स्कूल कितना में सीआरपीएफ द्वारा विशेष समागम आयोजित कर शहीद सरवन दास को श्रद्धांजलियां भेंट की गई। स्कूल इंचार्ज हरदीप कुमार के नेतृत्व में आयोजित समागम में सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर जालंधर से डीआईजी हरजिंदर सिंह मुख्यातिथि थे। समागम में पहुंचने से पहले डीआईजी हरजिंदर सिंह ने गांव में शहीद के स्मारक पर फूल मालाएं अर्पित कर श्रद्धांजलि भेंट की और परिवार द्वारा शहीद के पैतृक घर में बनाए स्मारक का उद्घाटन किया गया।

स्कूल में आयोजित समागम का आरंभ तिरंगा फहराने पश्चात राष्ट्रीय गाण से किया गया तथा सीआरपीएफ के जवानों ने सलामी दी। छात्रों ने धार्मिक, सांस्कृतिक व देशभक्ति का कार्यक्रम पेश किया। उल्लेखनीय है कि गांव कितना का जवान सरवन दास उन 10 शहीदों में अकेला पंजाबी शामिल था जो 21 अक्तूबर सन् 1959 में लद्दाख के क्षेत्र हॉट स्प्रिंग में चीन की फौज से लड़ते शहीद हो गए थे।

इस घटना के पश्चात प्रत्येक वर्ष 21 अक्तूबर को पूरे देश में पुलिस यादगार दिवस मनाया जाता है। डीआईजी हरजिंदर सिंह ने सरकारी स्कूल के बच्चों को विभाग की अोर शैक्षणिक टूर लगवाने का ऐलान किया। इस दौरान स्कूल प्रमुख हरदीप कुमार ने आए हुए सभी मेहमानों का स्वागत किया।

वहीं इस दौरान शहीद के भतीजे अमरजीत सिंह व परिवार ने सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों को बूट अौर स्वेटर दिए। स्कूल की ब्लॉक में द्वितीय स्थान पर आने वाली छात्रा सुमन कुमारी का सम्मान किया गया।

इन्होंने दी श्रद्धांजलि... श्रद्धांजलि देते समय डीआईजी हरजिंदर सिंह के साथ सहायक कमांडेंट अधिकारी अंकुश कुमार, अमरजीत सिंह, सरबजीत कौर, अमनजोत कौर, प्रभजोत कौर, परमिंदर सिंह कितना, पूर्व सरपंच रनवीर राणा, ब्लॉक समिति सदस्य भूपिंदर सिंह राणा, सुलिंदर कंडी, सुच्चा सिंह, एसपी किसन सिंह, एसपी जसपाल सिंह, डीएसपी अनंत कुमार, जसविंदर सिंह, कुलदीप कालरा, ज्ञान सिंह पूर्व डीएसपी, नंबरदार बुद्ध सिंह राणा, राजकुमार, सुरिंदर सिंह खालसा, प्रिं. सोहन सिंह, प्रेम सिंह, इकबाल सिंह बांसल, कैप. मक्खन लाल, रेशम सिंह राणा, रनवीर सिंह रायपुर, सोहन सिंह, पंच काजल, पंच सतपाल, नवी, स्कूल प्रभारी हरदीप कुमार, कुलवरन सिंह, विजय कुमार, सुंदर मनियन, मनदीप कौर, स्वीटी, अवतार कौर, अवतार कौर, भाग सिंह उपस्थित थे।

पुलिस लाइन होशियारपुर में शहीद जवानों व अर्ध सैनिक बलों को याद करते हुए दी श्रद्धाजंलि

शहीदों की याद में हथियार उल्टे कर दी शोक सलामी

भास्कर संवाददाता | होशियारपुर

पंजाब पुलिस जिला होशियारपुर ने पुलिस लाइन होशियारपुर में देश के शहीद पुलिस जवानों व अर्ध सैनिक बलों को याद करते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस मौके अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर सामान्य हरप्रीत सिंह सूदन, एसपी मुख्यालय परमिंदर सिंह हीर, एसपी मंजीत कौर के नेतृत्व में पुलिस जवानों की ओर से हथियार उल्टे कर शोक सलामी दी गई व सभी अधिकारियों व पुलिस कर्मचारियों ने दो मिनट का मौन धारण कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर हरप्रीत सिंह सूदन ने पुलिस शहादत दिवस परेड (पुलिस कोमेमोरेशन डे परेड) की ऐतिहासिक महत्ता के बारे बताते हुए कहा कि 21 अक्टूबर 1959 को हॉट स्प्रिंग (लद्दाख) में चीनी फौजियों की ओर से घात लगा कर किए हमले में सीआरपीएफ के 10 जवानों के शहीद होने की याद में यह दिवस मनाया जाता है। पूरे भारत में ड्यूटी दौरान सैकड़ों अधिकारियों व कर्मचारियों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में बलिदान दिया। आज का दिन इन शहीदों के परिवारों के गौरव को बढ़ाने व पुलिस फोर्स ने उनके हर दुख -सुख में डट कर खड़े होने के प्रण को दोहराने के लिए मनाया जाता है। एसपी (एच) परमिंदर सिंह हीर ने कहा कि पंजाब पुलिस ने देश के हिंसाग्रस्त इलाकों में व आतंकवाद विरोधी लड़ाई के दौरान अपनी कुर्बानी देकर अमन कानून बहाल रखा है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष 1 सितंबर 2018 से 31 अगस्त 2019 तक भारत में 292 पुलिस व पैरा मिलिट्री फोर्स के अधिकारी व कर्मचारी अपनी ड्यूटी के दौरान शहीद हुए हैं। इस मौके डीएसपी दलजीत सिंह खख द्वारा गत 1 सितंबर 2018 से लेकर 31 अगस्त 2019 तक सुरक्षा और शांति बरकरार रखने के लिए विभिन्न राज्यों में 292 पुलिस कर्मियों के नाम पढ़े। इसके बाद शहीद परिवारों की मुश्किलें सुनीं गई व निपटारा करने के लिए पुलिस अधिकारियों को हिदायतें भी की। वहीं शहीदों के परिवारों को विशेष तौर पर सम्मानित भी किया। इस मौके डीएसपी एच दलजीत सिंह खख, डीएसपी टांडा गुरप्रीत सिंह व अन्य पुलिस अधिकारी भी उपस्थित थे।

शहीद पुलिस जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते डीएसपी दलजीत सिंह खख व दो मिनट का मौन रखे अन्य पुलिस अधिकारी। (दाएं) शहीदों के परिजनों को उपहार भेंट करते एडीसी हरप्रीत सिंह सूदन। -भास्कर

भास्कर संवाददाता | होशियारपुर

पंजाब पुलिस जिला होशियारपुर ने पुलिस लाइन होशियारपुर में देश के शहीद पुलिस जवानों व अर्ध सैनिक बलों को याद करते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस मौके अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर सामान्य हरप्रीत सिंह सूदन, एसपी मुख्यालय परमिंदर सिंह हीर, एसपी मंजीत कौर के नेतृत्व में पुलिस जवानों की ओर से हथियार उल्टे कर शोक सलामी दी गई व सभी अधिकारियों व पुलिस कर्मचारियों ने दो मिनट का मौन धारण कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर हरप्रीत सिंह सूदन ने पुलिस शहादत दिवस परेड (पुलिस कोमेमोरेशन डे परेड) की ऐतिहासिक महत्ता के बारे बताते हुए कहा कि 21 अक्टूबर 1959 को हॉट स्प्रिंग (लद्दाख) में चीनी फौजियों की ओर से घात लगा कर किए हमले में सीआरपीएफ के 10 जवानों के शहीद होने की याद में यह दिवस मनाया जाता है। पूरे भारत में ड्यूटी दौरान सैकड़ों अधिकारियों व कर्मचारियों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में बलिदान दिया। आज का दिन इन शहीदों के परिवारों के गौरव को बढ़ाने व पुलिस फोर्स ने उनके हर दुख -सुख में डट कर खड़े होने के प्रण को दोहराने के लिए मनाया जाता है। एसपी (एच) परमिंदर सिंह हीर ने कहा कि पंजाब पुलिस ने देश के हिंसाग्रस्त इलाकों में व आतंकवाद विरोधी लड़ाई के दौरान अपनी कुर्बानी देकर अमन कानून बहाल रखा है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष 1 सितंबर 2018 से 31 अगस्त 2019 तक भारत में 292 पुलिस व पैरा मिलिट्री फोर्स के अधिकारी व कर्मचारी अपनी ड्यूटी के दौरान शहीद हुए हैं। इस मौके डीएसपी दलजीत सिंह खख द्वारा गत 1 सितंबर 2018 से लेकर 31 अगस्त 2019 तक सुरक्षा और शांति बरकरार रखने के लिए विभिन्न राज्यों में 292 पुलिस कर्मियों के नाम पढ़े। इसके बाद शहीद परिवारों की मुश्किलें सुनीं गई व निपटारा करने के लिए पुलिस अधिकारियों को हिदायतें भी की। वहीं शहीदों के परिवारों को विशेष तौर पर सम्मानित भी किया। इस मौके डीएसपी एच दलजीत सिंह खख, डीएसपी टांडा गुरप्रीत सिंह व अन्य पुलिस अधिकारी भी उपस्थित थे।


होशियारपुर | पीआरटीसी जहानखेलां में पुलिस शहीद स्मारक में पुलिस शहीदी दिवस मनाया। इस मौके कमांडेंट पीआरटीसी दर्शन सिंह मान की अध्यक्षता में पीआरटीसी जहानखेलां के शहीदी समागम के समूह अधिकारी, स्टाफ सदस्यों और जवानों ने शहीदों को शोक सलामी दी। इस मौके 1 सितंबर 2018 से 31 अगस्त 2019 तक पूरे भारत में विभिन्न फोर्सों के कुल 292 शहीद अधिकारियों और जवानों के नाम पढ़कर सुनाए गए। कमांडेंट दर्शन सिंह मान, डीएसपी हरजीत सिंह, गुरजीतपाल सिंह, मलकीयत सिंह, अमित धवन, एडीए िदनेश काठिया, नितिन बेरी, डॉ. सर्बरिंदरजीत, डॉ. सौरभ, डॉ. सुमीत जौली मेडिकल अधिकारी और ट्रेनीज ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके कमांडेंट पीआरटीसी जहानखेलां ने भरोसा दिलाया कि पंजाब पुलिस शहीदों के परिवारों की बेहतरी के साथ विभाग हर समय खड़ा है और उनकी हर मुश्किल का हल करने के लिए वचनबद्ध है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना