गांव गोलियां के मंदिर की गद्दी को लेकर स्व. बाबा प्रगट पुरी की शिष्या अौर गांववासी आमने-सामने

Hoshiarpur News - मंदिर की गद्दी को लेकर गद्दीनशीन स्व: बाबा प्रगट पुरी की शिष्या व गांव निवासियों में तकरार हो गया। जानकारी के...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:25 AM IST
Mukerian News - the village itself is about the throne of the temple baba prakash puri39s disciples and villagers face face to face
मंदिर की गद्दी को लेकर गद्दीनशीन स्व: बाबा प्रगट पुरी की शिष्या व गांव निवासियों में तकरार हो गया। जानकारी के अनुसार गांव कोलियां के प्राचीन मन्दिर में बाबा प्रकट पुरी सेवा निभा रहे थे जोकि 1 अप्रैल अपना शरीर छोड़ गए। इसके बाद स्व: प्रकट पुरी के 13वें पर उनकी शिष्या ज्योति पुरी को साधू समाज ने उनकी गद्दी पर बैठाना था ताकि वह मंदिर की सेवा कर सकें। मगर गांव निवासियों ने स्व: बाबा के गुरुभाई कैलाश पुरी को गद्दी पर बैठाना चाहा। इसी बात को लेकर गांव निवासियों व ज्योति पुरी में तनाव हो गया। हालात इतने खराब हो गए कि पुलिस को मौके पर आ दखल देना पड़ा। शिष्या ज्योति पुरी ने बताया कि बाबा ने उनके नाम पर लगभग 17 साल पहले ही वसीयत कर दी थी कि उनकी मृत्यु के उपरान्त ज्योति पुरी ही गद्दी की वारिस होंगी। लेकिन गांव निवासियों का कहना है कि वह लोग उक्त ज्योति पुरी को नहीं बल्कि स्व: बाबा के गुरुभाई कैलाश पुरी को गद्दी पर बैठाना चाहते हैं। गौर हो कि कुछ समय पहले ही ज्योति पुरी ने गांव के सरपंच व अन्यों के खिलाफ एक शिकायत की थी कि वह लोग उन्हें तंग परेशान करते हैं। इसी बात से खफा गांव निवासी इकट्ठे हो गए व तर्क देने लगे कि शिव मंदिर में एक महिला कैसे गद्दीनशीन हो सकती हैं। इस बात को लेकर विवाद इतना बढ़ गया कि प्रशासन की तरफ डीएसपी रविंदर सिंह व नायब तहसीलदार को आकर मौके पर दखल देना पड़ा। दोनों पक्ष इस बात पर राजी हुए कि एक साल तक ज्योति पुरी व बाबा के गुरुभाई कैलाश पुरी मंदिर में सेवा निभाएंगे तथा उसके उपरांत गांव निवासी ही निर्णय लेंगे की दोनों में से किसको गद्दी पर बैठाना है।

गांववासियों के साथ पुलिस प्रशासन बातचीत करते हुए।

X
Mukerian News - the village itself is about the throne of the temple baba prakash puri39s disciples and villagers face face to face
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना