पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रचनात्मक ऊर्जा राष्ट्र निर्माण में लगाएं युवा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
स्वस्थ जीवन शैली ही हमारे अच्छे जीवन की नींव है : प्रो. गुरमीत सिंह

देश की उन्नति और सामुदायिक विकास में युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है। भारत में क्षमता की कोई कमी नहीं। जिस दिन भारतीयों ने बुराइयों को दूर करने का प्रण ले लिया तो फिर वो दिन दूर नहीं जब भारत पुनः सोने की चिड़िया कहलाएगा। यह बात सामाजिक कार्यकर्ता गगन राणा ने नेहरू युवा केंद्र होशियारपुर द्वारा सभ्याचारक रंगमंच के सहयोग से एसपीएन कालेज में आयोजित ‘युवा नेतृत्व एवं सामुदायिक विकास प्रशिक्षण शिविर’ के दूसरे दिन व्यक्त किए। इससे पहले डीएवी यूनिवर्सिटी जालंधर से विशेष मेहमान डॉ.आरके सेठ ने युवाओं को राष्ट्र निर्माण के प्रेरित कहा कि सुखपूर्ण जीवन के लिए निराशा तथा अन्य नकारात्मक विचारों को त्याग दें। हमारे दृष्टिकोण तथा अन्य क्षमताओं पर माइंड सेटअप का विशेष असर होता है। प्रो. गुरमीत सिंह ने कहा कि स्वस्थ जीवन शैली एक अच्छे जीवन की नींव है। हालांकि इस जीवनशैली को हासिल करने में ज्यादा मेहनत नहीं लगती। अगर हम अपनी आदतों को बदल लें तो यह हमारे लिए वाकई लाभकारी सिद्ध होगा।

प्रो. विक्रमजीत सिंह ने शारीरिक शिक्षा पर ज़ोर देते हुए कहा कि इसका उद्देश्य एक छात्र को स्वस्थ शरीर, मन और आचरण का प्रशिक्षण देना है। नियमित शारीरिक व्यायाम की आवश्यकता होती है।

प्रो. सुनील अग्रवाल ने कहा कि युवा रचनात्मक ऊर्जा का उपयोग समाज और राष्ट्र निर्माण में लगाएं। सामुदायिक विकास में युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है।

मेनेजमेंट गुरु विक्रांत ने समय प्रबंधन और डॉ.गुलशन कुमार ने साइबर कानूनों से युवाओं को अवगत करवाया। प्रो. तरुण घई ने बताया कि किसी भी प्रोफेशन के लिए कम्यूनिकेशन स्किल्स सबसे जरूरी हैं। जब तक आप अच्छे से कम्युनिकेट नहीं कर पाएंगे, आपकी ग्रोथ नहीं होगी। इस अवसर पर विजय राणा, पीएस राणा, आशुतोष शर्मा आदि गणमान्य उपस्थित थे।

युवा नेतृत्व प्रशिक्षण एवं सामुदायिक विकास शिविर के दूसरे दिन के कार्यक्रम को संबोधित करते गणमान्य वक्ता।-भास्कर
खबरें और भी हैं...