हादसा / आॅल्टो-कैंटर भिड़ंत में बाप-बेटे समेत 3 की मौत, तख्त दमदमा साहिब से लौट रहे थे

3 die including father-son in Alto-Canter clash
X
3 die including father-son in Alto-Canter clash

  • मरने वाले बाप-बेटे संगरूर और तीसरा व्यक्ति पटियाला का रहने वाले हैं

दैनिक भास्कर

Aug 05, 2019, 07:03 AM IST

भीखी/अमरगढ. तख्त श्री दमदमा साहिब से माथा टेककर लौट रहे श्रद्धालुआें की ऑल्टो कार भीखी की अनाज मंडी के पास विपरीत दिशा से आ रहे तेज रफ्तार कैंटर से भिड़ंत हो गई। हादसे में ऑल्टो सवार बाप-बेटे व उसके भांजे की मौके पर ही  मौत हो गई। मृतक बाप-बेटा संगरूर जिले के जबकि भांजा गोबिंदगढ़ छन्ना का था। हादसे में ऑल्टो के परखच्चे उड़ गए। वहीं, कैंटर भी बेकाबू होकर  पलट गया। 

 

घटना के बाद कैंटर चालक रमेश कुमार वासी दुगगलखेड़ी जिला संगरूर मौके से फरार हो गया। संगरूर जिले के गांव दौलतपुर वासी स्वर्ण सिंह (48), उसका बेटा मनपिंदर सिंह (24) और स्वर्ण सिंह का भांजा विश्वजीत सिंह वासी गोबिंदगढ़ छन्ना बठिंडा के तलवंडी साहबो स्थित तख्त श्री दमदमा साहिब से माथा टेककर लौट रहे थे। दोपहर करीब 1 बजे उनकी ऑल्टो की सामने से आ रहे कैंटर से सीधी भिड़ंत हो गई। भिड़ंत इतनी जबरदस्त थी कि ऑल्टो के परखच्चे उड़ गए। वहीं, गाड़ी में सवार इन तीनों लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। 
 

न्यूजीलैंड में रहता है मनपिंदर का भाई : 

स्वर्ण सिंह के पड़ोसी जगजीत सिंह ने बताया कि मनपिंदर सिंह का एक भाई न्यूजीलैंड में है। परिवार में अब उसका भाई, मां व दादी ही रह गए हैं। विश्वजीत नाभा के गांव गोबिंदगढ छन्ना का रहने वाला था जोकि स्वर्ण सिंह का ही भांजा था। विश्वजीत परिवार का इकलौता बेटा था।भीखी थाने के एएसआई दीप सिंह ने बताया कि पुलिस ने फरार कैंटर चालक रमेश कुमार वासी दुगगलखेड़ी जिला संगरूर के खिलाफ मामला दर्ज कर लाशों को पोस्टमार्टम के बाद उनके परिजनों को सौंप दिया हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना