जिले में फार्मेसी अफसरों के 36 पद खाली, जल्द भरे सेहत विभाग

Jalandhar News - जालंधर | प्रदेश के कई सरकारी अस्पतालों, कम्युनिटी हेल्थ सेंटरों और प्राइमरी हेल्थ सेंटरों में फार्मेसी अफसरों पर...

Nov 10, 2019, 08:06 AM IST
जालंधर | प्रदेश के कई सरकारी अस्पतालों, कम्युनिटी हेल्थ सेंटरों और प्राइमरी हेल्थ सेंटरों में फार्मेसी अफसरों पर काफी वर्कलोड बढ़ गया है। कारण है कि सरकार ने लंबे समय से सेहत विभाग में खाली पड़े फार्मेसी अफसरों के पदों को नहीं भरा। यह बात पंजाब स्टेट फार्मेसी आफिसर्स एसोसिएशन की जिला स्तरीय कन्वेंशन में एसोसिएशन के सदस्यों ने कही।

शनिवार को स्थानीय होटल में हुई इस कन्वेंशन की अगुवाई डिस्ट्रिक्ट प्रेंसिडेंट मीनाक्षी धीर ने की। स्टेट प्रेसिडेंट नरिंदर मोहन शर्मा और सेक्रेटरी रविंदर लुथरा मुख्यातिथि के रूप में शामिल हुए। स्टेट प्रेसिडेंट ने कहा कि एसोसिएशन की तरफ से फार्मेसी अफसरों की मांगों को सेहत विभाग के सामने रखा गया है। कई ऐतिहासिक फैसले फार्मेसी अफसरों के हक में भी करवाए गए। जैसे फार्मेसी की नौकरी के लिए फार्मेसी की पढ़ाई को अनिवार्य किया गया। दूसरा अब फार्मेसी अफसर रिटारयमेंट के बाद एक्सटेंशन ले सकते है। अगले महीने हो रहे हर डिस्ट्रिक्ट के चुनावों की रणनीति के बारे में भी विचार चर्चा की गई।

इस मौके पर राज कुमार, बलराज, शरणजीत बावा, भगवंत कौर, जगतार सिंह, रमन शर्मा, धरमिंदर कुमार, मनजीत सिंह, नवीन कुमार, धीरज धुरिया, निर्मल बब्बी, विजय कुमारी, कपिल शर्मा, अनिल शर्मा, हरीश भारती भी मौजूद रहे।

कनवेंशन में मौजूद प्रेसिडेंट मीनाक्षी धीर व अन्य। -भास्कर

एक फार्मेसी अफसर 2-3 अस्पतालों का कार्यभार संभाल रहा

डिस्ट्रिक्ट प्रेसिडेंट मीनाक्षी धीर ने बताया कि पिछले कई साल से जालंधर डिस्ट्रिक्ट में 26 फार्मेसी अफसर, सीनियर फार्मेसी अफसर की 7 और 3 चीफ फार्मेसी अफसरों की पोस्टें लंबे समय से खाली है। सेहत विभाग की तरफ से इस तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा। जिले में एक फार्मेसी अफसर 2-3 अस्पतालों का कार्यभार संभाल रहा है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना