Hindi News »Punjab »Jalandhar» 20 Years Later The Donkey Circus Will Reach The Fair

20 साल बाद मेले में पहुंचेगा गधा सर्कस, प्रशासन ले रहा है 46 लाख

18 तरह के बड़े झूले होंगे मेला ग्राउंड में, 7 लाख ज्यादा भरने के बाद भी ठेकेदार नहीं बढ़ाएगा एंट्री टिकट।

bhaskar news | Last Modified - Jan 06, 2018, 05:37 AM IST

  • 20 साल बाद मेले में पहुंचेगा गधा सर्कस, प्रशासन ले रहा है 46 लाख

    मुक्तसर. माघी के अवसर पर लगने वाले मनोरंजन मेले को लेकर तैयारियां जारी है। मनोरंजन मेले के लिए करीब 6 एकड़ जगह किराए पर ली गई है। इस बार 20 साल बाद लोगों को गधा सर्कस देखने को मिलेगी। ठेकेदार प्रवीन कुमार ने बताया कि करीब 20 साल पहले माघी मेला में चर्चा का विषय रही गधा सर्कस में एक गधा अपने ट्रेनर द्वारा पूछे हर सवाल का लोगों के बीच में से ढूंढ़कर उत्तर देता है। इस सर्कस में लोगों का खासा मनोरंजन होता है।

    मेले की बोली करीब 46 लाख रुपए में हुई है और जगह के पैसे करीब 6 लाख रुपए अलग से ठेकेदार ने दिया है।

    इस बार ज्यादातर कॉन्फ्रेंस रद्द हो जाने के कारण भले ही 13 14 जनवरी को मेला ग्राउंड में बहुत ज्यादा भीड़ होने की उम्मीद नहीं है, परंतु मेला ठेकेदार के हौसले बुलंद हैं। चंडोल, किश्ती, टोरा-टोरा, चांद-तारा, जंपिंग आदि सहित करीब 18 तरह के बड़े झूले लगाएं जाएंगे। इसके अलावा छोटे बच्चों के लिए पानी वाली मोटर किश्ती, मोटरसाइकिल ड्राइव, प्लास्टिक घोड़ सवारी, रेलगाड़ी जैसे झूले मेले का श्रृंगार बनेंगे। झूलों के अलावा मौत का कुआं, मैजिकल शो भी होगा। इसके अलावा इस बार पंजाब की विरासत से जुड़ी विशाल प्रदर्शनी भी मेला ग्राउंड में लगेगी।

    टिकट 10 रुपए ही रहेगी
    भले ही इस बार मेला ठेकेदार को करीब 17 लाख रुपए गत वर्ष से अधिक देने पड़े हैं, लेकिन ठेकेदार ने बताया कि इस बार भी मनोरंजन मेले की प्रवेश टिकट 10 रुपए ही रखी गई है और इसमें किसी तरह की बढ़ोतरी नहीं की गई। मनोरंजन मेला 10 जनवरी से शुरू हो जाएगा।

    मेले की परमिशन के लिए बोली करवाकर प्रशासन अकेले परमिशन के लिए ही करीब 46 लाख रुपए ले रहा है। मेला ठेकेदार मेले में पहुंचे अन्य झूले वालों ने बताया कि पंजाब हरियाणा में वह जहां भी ऐसा मेला लगाने जाते हैं वहां पर बोली के बाद जगह प्रशासन देता है, लेकिन यहां अकेली परमिशन की ही बोली होती है। जगह अलग से ठेकेदार को लेनी पड़ती है। अगर परमिशन की बोली का रेट ही कम हो या बोली के बाद जगह भी प्रशासन मुहैया करवाए तो लोगों के मनोरंजन के लिए यह माघी मेला और बड़ा हो सकता है जो छोटा होता जा रहा है।

    बाजार सजना शुरू
    मलोटरोड पर मनोरंजन मेले के साथ-साथ अब मेला बाजार सजना भी शुरू हो गया है। इसमे खजला मिठाई क्रॉकरी वाले पहुंचने शुरू हो गए हैं। माघी मेला मलोट रोड पर ही केन्द्रित होता है। 30 जनवरी तक यहां बाजार सजा रहता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jalandhar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 20 Years Later The Donkey Circus Will Reach The Fair
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Jalandhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×