--Advertisement--

देश की सबसे बड़ी हेरोइन तस्करी रोकने वाले बीएसएफ कांस्टेबल हरीश लोकेंद्र होंगे सम्मानित

55 किलो हेरोइन की तस्करी को नाकाम करने वाले बीएसएफ जवान हरीश कुमार डी लोकेंद्र को सम्मानित किया जाएगा।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 05:41 AM IST

गुरदासपुर/ दीनानगर. थानाकलानौर के अंतर्गत आती रोसा पकीवां बीओपी के पास बुधवार शाम को पाक तस्करों द्वारा भारत भेजी गई 55 किलो हेरोइन की तस्करी को नाकाम करने वाले बीएसएफ जवान हरीश कुमार डी लोकेंद्र को सम्मानित किया जाएगा। बीएसएफ आईजी मुकुल गोयल ने बताया कि दोनों को 10-10 हजार रुपए की नगद राशि प्रशस्ति पत्र के अलावा पदोन्नति के लिए इनके नाम भी प्रस्तावित किया जाएगा। कहा दोनों की मुस्तैदी के चलते ही हेरोइन की इतनी बड़ी खेप बरामद हुई है। बता दें कि तस्करों को रोकने के लिए बीएसएफ के जवानों ने 17 राउंड फायर भी किए थे। गोलीबारी के दौरान किसी भी तरह का जानी नुकसान नहीं हुआ था। तस्करों की हरकत के बाद बीएसएफ अब पंजाब पुलिस की सहायता से सीमा पर तस्करों की तलाश शुरू कर दी है। बीएसएफ अधिकारियों ने बताया कि 2017 में कुल 257 किलो हेरोइन बरामद हो चुकी है।

धुंध से निपटने के लिए जवानों के पास ऑटोमैटिक यंत्र हैं: आईजी गोयल
आईजीगोयल ने कहा कि सर्दियों में पड़ने वाली धुंध के कारण तस्कर एक्टिव होते हैं। इन पर नजर रखने के लिए हमारे जवानों के पास ऑटोमैटिक रात के अंधेरे में देखने वाले यंत्र हैं, जिससे वह किसी भी प्रकार की तस्करी को रोकने में सक्षम हैं। उन्होंने कहा कि हमारे जवान सीमा पर पूरी तरह से मुस्तैद हैं और किसी भी मुश्किल का सामना करने के लिए तैयार हैं।
आईजी बीएसएफ मुकुल गोयल ने बताया कि सर्दियों में धुंध का फायदा उठाकर पाक तस्कर भारत में नशा सप्लाई करते हैं। बुधवार शाम को भी यही हुआ था। बीएसएफ कांस्टेबल हरीश कुमार कांस्टेबल डी लोकेंद्र ने शाम को सीमा पर कुछ लोगों को देखा। जब उन्हें रुकने को कहा तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। हमारे जवानों ने भी फायरिंग की। करीब 17 राउंड फायरिंग हुई। तस्कर पाकिस्तान की तरफ भाग गए। बाद में सर्च के दौरान 55 किलो हेरोइन, एक प्लास्टिक की पाइप 32 बोर की दो रिवाल्वर बरामद हुई। उन्होंने बताया हेरोइन की 2 अरब 75 करोड़ रुपये है।