--Advertisement--

कॉल सुनकर मोबाइल जेब में डाला, 5 मिनट बाद फट गया

टांग और जांघ जली, सिविल अस्पताल में भर्ती

Danik Bhaskar | Jan 19, 2018, 05:40 AM IST

जालंधर. दोपहर 12:30 बजे कॉल सुनने के 5 मिनट बाद 44 वर्षीय इलेक्ट्रीशियन प्रवीण शर्मा की जेब में रखा मोबाइल अचानक फट गया। सुलगती बैटरी से निकले केमिकल से जांघ और टांग जल गई। शर्मा को सिविल अस्पताल के बर्न वार्ड में दाखिल किया गया है। मामला ब्लास्ट और बर्न इंजरी का था तो इमरजेंसी के एमओ डॉ. सुरिंदर पाल सिंह ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस अधिकारियों ने शर्मा के बयान दर्ज कर लिए हैं। डॉ. सुरिंदरपाल ने बताया कि जख्म हलके हैं लेकिन ऐसे ब्लास्ट से जांघ की मांसपेशी में अंदरूनी चोट लग सकती है।

बैटरी शॉर्ट सर्किट या ओवर हीटिंग से फटती है : डॉ. सोहल
एनआईटी के पूर्व प्रो. इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन वैज्ञानिक डॉ. हर्ष सोहल ने बताया कि ‘लीथियम आयन बैटरियां हल्की होने के चलते अच्छा बैकअप देने के लिए मशहूर हैं। मोबाइल बार-बार गिरने से बैटरी कहीं से भी पंक्चर हो जाए तो शॉर्ट सर्किट से आग लग सकती है। तेजी से चार्ज करने वाले चार्जर से करंट तेजी से गुजरता है तो केमिकलों का संतुलन बिगड़ने से बैटरी फट सकती है।+

लगा शॉर्ट सर्किट से आग लग गई : प्रवीण शर्मा
प्रवीण शर्मा बाजार नौहरियां में कुमरा टेंट हाउस की पहली मंजिल पर काम कर रहे थे। जोरदार आवाज आई तो लगा कहीं शॉर्ट सर्किट हुआ है। देखा उनकी पेंट में आग लगी थी। मोबाइल से धुआं निकल रहा था। उन्होंने बेटे सुमित को कॉल कर मौके पर बुलाया और अस्पताल आ गए।

मोबाइल शॉप और फिर सर्विस स्टेशन गए : सुमित
मोबाइल महंगा होने के कारण सुमित दोआबा चौक स्थित मोबाइल शॉप पर ले गए। वहां से सर्विस सेंटर भेजा गया, जहां शिकायत दर्ज करके मोबाइल जमा किया गया और 24 घंटे बाद जवाब देने की बात कही। थोड़ी देर बाद ही हेडऑफिस से कॉल भी आई थी कि आपकी सहायता की जाएगी।

ध्यान देने वाली बातें
- चार्जिंग के वक्त फोन गर्म हो रहा है तो चार्जिंग बंद कर दें।
- जिस कंपनी का फोन हो उसी का चार्जर इस्तेमाल करें।
- सिरहाने रखकर न सोएं।
-लंबे समय तक चार्जिंग न करें। रसोई में चूल्हे के नजदीक या गर्म जगहों पर मोबाइल न रखें।
- रात को चार्जिंग लगाकर सोने से बैटरी कमजोर हो जाती है।