--Advertisement--

इस चीफ जस्टिस ने पाकिस्तान से आजाद कराया था शहर को, जारी होगा डाक टिकट

गुरदासपुर को भारत का हिस्सा बनाने में अविस्मरणीय भूमिका निभाई थी।

Dainik Bhaskar

Dec 31, 2017, 01:41 AM IST
1889 में जन्मे मेहरचंद ने ब्रिटेन में बैरिस्टरी की। 1889 में जन्मे मेहरचंद ने ब्रिटेन में बैरिस्टरी की।

पठानकोट. चीफ जस्टिस मेहर चंद महाजन, जिनका डाक टिकट कल रविवार को दिल्ली में वित्तमंत्री अरुण जेटली जारी करेंगे, ने बंटवारे के वक्त बार्डर जिला गुरदासपुर को भारत का हिस्सा बनाने में अविस्मरणीय भूमिका निभाई थी। गुरदासपुर तीन दिन तक पाकिस्तान के कब्जे में रहा था।


जस्टिस के पोते राजीव महाजन बताते हैं कि भारत-पाक बंटवारे के दौरान दोनों देशों के बीच बाउंड्री निर्धारण के लिए बने रेडक्लिफ कमीशन के 3 मेंबर्स में मेहरचंद एक थे। सीमांत गुरदासपुर जिला तीन दिनों तक पाकिस्तान के हिस्से में रहा जिस पर उन्होंने सुझाया कि अगर वह पाक के कब्जे में रहा तो कभी भी हमले की हालत में पाक सेना का दिल्ली पहुंचना आसान हो जाएगा। उन्होंने भारत-पाक बाउंड्री गुरदासपुर के आगे निर्धारित करने के लिए कमीशन को मना लिया। 1971 की जंग में पाक टैंकों ने इसी तरफ बढ़ने की कोशिश भी की थी।

विलय के लिए महाराजा हरि सिंह को राजी किया था

कश्मीर पर पाक हमले के बाद 5 अक्टूबर 1947 को जस्टिस महाजन कश्मीर के प्राइम मिनिस्टर बने। उन्होंने महाराजा हरि सिंह को कश्मीर के भारत में विलय के लिए राजी किया ।

ग्लेशियर इंडस्ट्री और लीची के बागान लगाए

जस्टिस के पोते राजीव महाजन दिल्ली जाने की तैयारी कर रहे हैं। वह मेहरचंद महाजन द्वारा पठानकोट में स्थापित ग्लेशियर इंडस्ट्री संचालित कर रहे हैं। यहां पर लीची और आम के बाग लगवाए थे।

गर्व से कहा जाता है महाजन शिरोमणि

1889 में जन्मे मेहरचंद ने ब्रिटेन में बैरिस्टरी की। पंजाब हाईकोर्ट के जज रहे। 4 जनवरी 1954 को चीफ जस्टिस बने। पहले राष्ट्रपति डा. राजेंद्र प्रसाद को शपथ दिलाई। उन्हें महाजन शिरोमणि कहा जाता है।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

पंजाब हाईकोर्ट के जज रहे। 4 जनवरी 1954 को चीफ जस्टिस बने। पंजाब हाईकोर्ट के जज रहे। 4 जनवरी 1954 को चीफ जस्टिस बने।
पहले राष्ट्रपति डा. राजेंद्र प्रसाद को शपथ दिलाई। पहले राष्ट्रपति डा. राजेंद्र प्रसाद को शपथ दिलाई।
जस्टिस के पोते राजीव महाजन जस्टिस के पोते राजीव महाजन
X
1889 में जन्मे मेहरचंद ने ब्रिटेन में बैरिस्टरी की।1889 में जन्मे मेहरचंद ने ब्रिटेन में बैरिस्टरी की।
पंजाब हाईकोर्ट के जज रहे। 4 जनवरी 1954 को चीफ जस्टिस बने।पंजाब हाईकोर्ट के जज रहे। 4 जनवरी 1954 को चीफ जस्टिस बने।
पहले राष्ट्रपति डा. राजेंद्र प्रसाद को शपथ दिलाई।पहले राष्ट्रपति डा. राजेंद्र प्रसाद को शपथ दिलाई।
जस्टिस के पोते राजीव महाजनजस्टिस के पोते राजीव महाजन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..