Hindi News »Punjab »Jalandhar» Death Of Injured Sunil In Riyazpur Blast

रियाजपुर ब्लास्ट में जख्मी सुनील ने दम तोड़ा, फैमिली पर दबाव बनाने पर हंगामा

सुनील के जख्मी होने पर मध्यप्रदेश के छतरपुर के नौगांव में रहती बहन सुनीता और अन्य रिश्तेदार शुक्रवार को जालंधर आ गए थे।

Bhaskar News | Last Modified - Apr 01, 2018, 06:21 AM IST

  • रियाजपुर ब्लास्ट में जख्मी सुनील ने दम तोड़ा, फैमिली पर दबाव बनाने पर हंगामा
    सुनील जिसकी मौत हो गई।

    जालंधर.सेंट्रल टाउन के रियाजपुरा में मंगलवार शाम ब्लास्ट में झुलसे 23 साल के सुनील ने शनिवार तड़के 3.40 बजे दम तोड़ दिया। विक्टिम फैमिली थाने आई तो आरोपी गुरदीप सिंह की बहन ने दबाव बनाया कि वह उसकी मौजूदगी में स्टेटमेंट दे। विक्टिम फैमिली ने इनकार कर दिया और खूब हंगामा हुआ। एसीपी सतिंदर चड्‌ढा मौके पर पहुंचे और कहा कि आरोपी पक्ष का कोई शख्स थाने में नहीं रहेगा।

    राजन बोला- अवैध तरीके से बनाए जाते थे पटाखे

    राजन ने कहा- गुरदीप उसके भाई सुनील, राधिका, दीपा और कर्ण से गैर कानूनी तरीके से पटाखे बनवाता था। सुनील ने बताया था कि वहां आधा किलो पोटाश और गंधक रखी हुई थी, जिससे धमाका हो गया। उसने बताया- क्राइम सीन पर अभी भी काफी सामान है, मगर उसे कब्जे में नहीं लिया गया। एसीपी की हिदायत पर शाम को एएसआई बसंत सिंह ने अन्य सामान कब्जे में लिया। पोस्टमार्टम के बाद लाश भाई राजन और मनोज को सौंप दी गई। गौर हो कि इसी ब्लास्ट में चहार बाग की राधिका की मौत हो गई थी। धमाके में राधिका की मौसी दीपा और सुनील बुरी तरह से और कर्ण मामूली रूप से झुलस गया था।

    सुनील के जख्मी होने पर मध्यप्रदेश के छतरपुर के नौगांव में रहती बहन सुनीता और अन्य रिश्तेदार शुक्रवार को जालंधर आ गए थे। राजन ने तड़के घर कॉल कर बताया कि सुनील अब इस दुनिया में नहीं रहा तो मां का हाल बेहाल हो गया। भाई की मौत की खबर सुनकर सुनीता सदमे में चली गई। भाई की लाश देख वह रोई तक नहीं। डाक्टर ने कहा कि सदमे के कारण उसका ऐसा हाल है। बता दें कि सुनील मूल रूप से मध्य प्रदेश के जिला छतरपुर के गांव महेबा का रहने वाला है और वह यहां पर सिटी रेलवे स्टेशन के पास प्रताप रोड का रहने वाला था। उसके पिता की मौत हो चुकी है।

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jalandhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×