Hindi News »Punjab »Jalandhar» Father Wanted Son To Become Engineer, Remove Home Poverty

सपने टूटे: पिता चाहता था बेटा इंजीनियर बन घर की गरीबी को दूर करे, फिर ऐसे हुई मौत

​बड़ा भाई सन्नी मेहनत-मजदूरी कर मुश्किल से चला रहा था घर का खर्च, पिता भी करके हैं मजदूरी।

bhaskar news | Last Modified - Dec 14, 2017, 06:53 AM IST

  • सपने टूटे: पिता चाहता था बेटा इंजीनियर बन घर की गरीबी को दूर करे, फिर ऐसे हुई मौत

    फिरोजपुर.मल्लावालां रोड स्थित गांव कालू वाला के पास हुए सड़क हादसे में मृतक 21 वर्षीय जसविंद्र सिंह उर्फ जस्सी मोगा के शिक्षण संस्थान से बीसीए की पढ़ाई पूरी कर कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहता था। घर में छह सदस्यों की जिम्मेदारी संभाले जस्सी का पिता जगतार सिंह मजदूरी करता है।

    मजदूरी की आमदन में से पैसे बचाकर पिता अपने बेटे जस्सी को कंप्यूटर इंजीनियर बनाने के सपने संजोए हुए था। कुछ महीने बाद बेटे की शादी के संजोए गए सपने चूर-चूर हो गए। जस्सी की शादी के बाद पिता दूसरी बेटी के हाथ पीले करने की सोच रहा था, मगर बुधवार सुबह उसे दोनों बेटों की मौत की खबर मिली। बड़े बेटे सन्नी का विवाह भी चार साल पहले ही सरोज के साथ हुआ था, जिससे उनका एक तीन वर्षीय बेटा युवराज है। बड़ा बेटा सन्नी भी मजदूरी कर अपने पिता का हाथ बंटा रहा था, लेकिन अब परिवार में जगतार सिंह के अलावा कोई कमाने वाला नहीं रहा। मृतकों की माता मांगो को जब इस घटना के बारे जानकारी मिली तो उसके पैरों तले से जमीन निकल गई, मगर किसी तरह दिल पर पत्थर रखकर जब उसने अपनी बहू सरोज को घटना की खबर दी तो वह अपनी सास को चिपककर जोर-जोर से रोने लगी। अपने दोनों भाईयों की मौत की खबर के बाद बहन अमरजीत बेहोश हो गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jalandhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×