जालंधर

--Advertisement--

ससुरालियों ने विवाहिता को घर से निकाला, मारपीट कर दोनों बच्चे भी छीने

पीड़िता ने बताया कि वह पैदल मायके पहुंची मां ने उसे सिविल अस्पताल में भर्ती करया।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 06:07 AM IST
In-laws did not get the car from the in-laws

कपूरथला. माेहल्ला महताबगढ़ निवासी महिला ने आरोप लगाया कि ससुराल वाले टाटा एेस (छोटा हाथी) की मांग पूरी न होने पर कई सालों से उसके साथ मारपीट करते थे। शुक्रवार को भी सुसराल पक्ष ने उसे बुरी तरह पीटा और घर से निकाल दिया। यही नहीं उसके नवजात बच्चे को भी छीन लिया। पीड़िता ने बताया कि वह पैदल मायके पहुंची मां ने उसे सिविल अस्पताल में भर्ती करया।


उपचाराधीन मंजू ने बताया कि उसकी शादी 5 वर्ष पूर्व किशन सिंह वाला निवासी युवक से हुई थी। मायके पक्ष ने हैसियत के मुताबिक दहेज दिया था, परंतु ससुराल वाले संतुष्ट नहीं हुए। कुछ माह बाद मारपीट का सिलसिला शुरू हो गया। मायके पक्ष के गरीब होने के कारण दहेज की मांग पूरी नहीं हो सकी। मारपीट से तंग आकर कई बार वह मायके आई परंतु हर बार घरेलू व पंचायती फैसले होने के कारण वापस ससुराल चली गई।

25 किलोमीटर पैदल चलकर मायके पहुंची

इस दौरान उसने दो लड़को को जन्म दिया, एक लड़का 4 वर्ष व दूसरा 1 वर्ष का है। मारपीट कर ससुरालियों ने उससे दोनों बेटे छीन लिए और उसे मारपीट कर टाटा एेस (छोटा हाथी) लाने तक घर में न घुसने की चेतावनी देते हुए घर से निकाल दिया। वह 15 किलोमीटर पैदल मायके पहुंची। उसकी मां राज कौर ने उसे सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। मामले संबंधी पुलिस को सूचित किया है।

X
In-laws did not get the car from the in-laws
Click to listen..