--Advertisement--

जज ने कहा- ‘आप निर्दोष हैं आपको बरी कर रहे हैं’ कोर्ट रूम से बाहर हार्ट अटैक, मौत

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2018, 05:43 AM IST

न्यू डिफेंस कॉलोनी दीप नगर कैंट के रहने वाले प्यारे लाल आर्मी में कैप्टन थे।

man death from Hart attack after court decision

जालंधर. चेक बाउंस मामले में जैसे ही जज ने कहा- ‘कैप्टन प्यारे लाल जी, आप और आपका बेटा रजिंदर सिंह मरवाहा निर्दोष हैं। आपको बरी किया जाता है।’ प्यारे लाल ने जैसे ही ये शब्द सुने, खुशी में वे इतने भावुक हो गए कि कोर्ट रूम में बाहर निकलते ही उन्हें हार्ट अटैक आ गया। वे 4 साल से केस लड़ रहे थे। न्यू डिफेंस कॉलोनी दीप नगर कैंट के रहने वाले प्यारे लाल आर्मी में कैप्टन थे। उनकी उम्र 89 साल थी और शायद वे इसी दिन के इंतजार में थे कि कब उनके ऊपर चेक बाउंस का लगा झूठा दाग साफ हो।

कोर्ट से निकलते आंखों में आंसू थे- बीस कदम चलने के बाद पड़ा दिल का दौरा

प्यारे लाल के बेटे रजिंदर (मेडिकल प्रोफेशन) ने बताया कि मंगलवार सुबह घर से निकलने से पहले करीब 9 बजे उन्होंने पिता जी कहा कि हम लेट हो रहे हैं, 10 बजे कोर्ट पहुंचना है। जरा जल्दी करें। पिता शेव कर रहे थे, उन्होंने टोकते हुए कहा- बेटा चिंता न करो... हम समय पर भी पहुंचेंगे और मुझे यकीन है कि आज फैसला भी हमारे हक में ही होगा। इसलिए मुझे अच्छी तरह तैयार होकर जाना है। सुबह करीब 9.30 बजे वे अपने घर से निकले और 10 बजे तक जालंधर कोर्ट में पहुंच गए। चंद मिनटों बाद अर्दली ने केस की सुनवाई के लिए आवाज दी। वे अंदर गए। 15 मिनट में फैसला जज ने उनके हक में सुना दिया था। बाहर निकलते वक्त पिता जी की आंखों में आंसू थे। उन्होंने मुझे गले लगाया और बाहर निकल आए। कोर्ट रूम से 20 कदम आगे जाते ही उन्हें हार्ट अटैक आ गया, अस्पताल जाते-जाते ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

अदालत विच आण वाला हर बंदा मुजरिम नहीं हुंदा

कैप्टन प्यारे लाल ने बेटे को गले लगाया। कोर्ट रूम से बाहर आते समय उनका केस लड़ने वाले वकील बलराज सिंह काहलों भी थे। कैप्टन ने उन्हें कहा, ‘वकील साब... अदालत विच आण वाला हर बंदा मुजरिम नहीं हुंदा। चाहे मैनूं केस विच चार साल लग गए पर अखीर सच्च ही जित्तेआ।’ उन्होंने कोर्ट परिसर में डिस्पेंसरी बनाने पर भी जोर दिया।

man death from Hart attack after court decision
X
man death from Hart attack after court decision
man death from Hart attack after court decision
Astrology

Recommended

Click to listen..