--Advertisement--

केक मंगाकर बहन कर रही थी भाई के फोन का इंतजार, ऐसे मिली मौत की खबर

भाई की वीडियो कॉल का इंतजार था, ताकि सामने केक काट इकलौते भाई को खुश देख सके।

Dainik Bhaskar

Dec 23, 2017, 04:30 AM IST
मृतक सहज। मृतक सहज।

जालंधर. बैटरी/इन्वर्टर कारोबारी के 19 साल के इकलौते बेटे की कैनेडा के ओंटारियो में बुधवार सुबह हार्ट अटैक से मौत हो गई। सहज 18 दिसंबर को दो साल के स्टडी वीजा पर कैनेडा गया था। सहज ने 20 दिसंबर की रात 12 बजे के बाद बड़ी बहन को बर्थ-डे विश करनी थी। बहन का 21 दिसंबर को बर्थ-डे होता है तो बहन ने घर में केक मंगवा रखा था और भाई की वीडियो कॉल का इंतजार था, ताकि सामने केक काट इकलौते भाई को खुश देख सके। सुषमा स्वराज से की अपील...


फैमिली ने सहज की लाश जल्द से जल्द इंडिया लाने के लिए केंद्रीय मंत्री विजय सांपला और सांसद संतोख चौधरी से बात की है। जीजा प्रभजीत सिंह कैंडी ने कहा कि कैनेडा में क्रिसमस और नए साल की छुट्टियां होती हैं। उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अपील की है कि सहज की लाश को भारत जल्दी लाने के लिए वहां की सरकार से बात करें। सहज की बॉडी इंडिया लाने के मामले में केंद्रीय मंत्री विजय सांपला के पत्र पर विदेश मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि कैनेडा में जालंधर के युवा की अचानक मौत के मामले को वे लगातार देख रहे हैं। सहज का पार्थिव शरीर सरकार के खर्च पर भारत लाया जाएगा।

पूरी फैमिली के लिए स्पेशल था 25 जून


अर्बन इस्टेट-2 के रहने वाले वाणी के पति प्रभजीत सिंह कैंडी ने बताया कि 18 दिसंबर को सहज दो साल के स्टडी वीजा पर कैनेडा गया था। उसे वहां के लैंबटन कॉलेज ऑफ अप्लाइड आर्ट्स एंड टेक्नोलॉजी में एडमिशन मिली थी। कैनेडा में सहज अपने फैमिली फ्रेंड हरप्रीत कौर लांबा के घर में रुका था। वहां पहुंच सहज ने पूरी फैमिली को कैनेडा में क्रिसमस सेलिब्रेशन के बारे में बताया था। क्रिसमस की तैयारी देख उसने कहा था, यहां की तो लाइफ ही अलग है। वहां से उसने बहन को अपनी फोटो भी सेंड की थी। वाणी के पति प्रभजीत और सहज का बर्थ-डे एक ही दिन 25 जून को होने के कारण यह दिन पूरी फैमिली के लिए स्पेशल था।


सहज ने कैनेडा से कॉल कर कहा था, दीदी इस बार मैं आपके बर्थ-डे की पार्टी को बहुत मिस करूंगा इसलिए वाणी ने भाई को खुश करने के लिए पति प्रभजीत से बात की और प्रभजीत पत्नी के बर्थ-डे पर केक लेकर आया था। सहज ने उठकर सबसे पहले बहन को इंडिया कॉल करनी थी। बहन पति संग मिलकर तैयारी कर रही थी। प्रभजीत ने बताया कि आंटी हरप्रीत लांबा की कॉल आई तो सब समझे कि सहज का फोन आया है। हरप्रीत लांबा ने प्रभजीत को बताया कि डिनर के बाद सहज सुबह उठा ही नहीं। वह बेडरूम गई तो सहज की सांस चल रही थी। उसने तुरंत एबुलेंस बुलाई। यहां पर डॉ. हनीफ एस. कासम ने हरप्रीत लांबा को बताया, ही इज नो मोर।

माता-पिता को बेटी ने दी भाई की मौत की खबर

मां अनु और पिता इंदरजीत जुनेजा को बेटी ने भाई की मौत की खबर दी। फैमिली को दिलासा देने के लिए लोग उनके घर आ रहे थे। बेहाल पिता एक कमरे में चुप बैठे रिश्तेदारों की बात सुन रहे थे। बेटी वाणी मां अनु को कह रही थीं कि मां आपने कुछ नहीं खाया। अनु को दिलासा देने आई आंटी से भावुक होकर बोली- सहज को खुश छोड़कर आए थे। कैनेडा पहुंचकर बहुत खुश था। क्या पता था कि जवान बेटे को खो देंगे। अगर पता होता कि विदेश से बेटे की लाश आएगी तो कभी भी कैनेडा नहीं भेजते।

23 नवंबर को मिला था कैनेडा का दो साल का वीजा

सहज के दोस्त घर के बाहर बैठे थे। उन्हें यकीन नहीं हो रहा कि सहज अब इस दुनिया में नहीं रहा। एक दोस्त बोला, सहज ने बताया था कि वह जल्द ही कैनेडा जा रहा है। इसके लिए ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत थी। दोस्तों की मदद से लाइसेंस बनवाया था। सहज ने दिल्ली पब्लिक स्कूल से प्लस-2 की थी। उसका सपना कैनेडा जाकर आगे की पढ़ाई करना था। इसके लिए उसने मई 2016 में पासपोर्ट बनवाया था। सहज को 23 नवंबर को कैनेडा का दो साल का वीजा मिला था। लैंबटन कॉलेज में सहज ने इंटरनेशनल बिजनेस स्टडी प्रोग्राम में एडमिशन ली थी।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

पैरेन्टस के साथ सहज। पैरेन्टस के साथ सहज।
सहज की लास्ट सेल्फी। सहज की लास्ट सेल्फी।
सहज ने कनाडा से ये फोटो भेजी थी अपनी दीदी को। सहज ने कनाडा से ये फोटो भेजी थी अपनी दीदी को।
पैरेन्टस के साथ सहज। पैरेन्टस के साथ सहज।
सहज की मां के साथ एक पुरानी फोटो। सहज की मां के साथ एक पुरानी फोटो।
सहज स्टडी वीजा पर गया था कना़डा। सहज स्टडी वीजा पर गया था कना़डा।
सहज 2 साल के लिए गया था कनाडा। सहज 2 साल के लिए गया था कनाडा।
X
मृतक सहज।मृतक सहज।
पैरेन्टस के साथ सहज।पैरेन्टस के साथ सहज।
सहज की लास्ट सेल्फी।सहज की लास्ट सेल्फी।
सहज ने कनाडा से ये फोटो भेजी थी अपनी दीदी को।सहज ने कनाडा से ये फोटो भेजी थी अपनी दीदी को।
पैरेन्टस के साथ सहज।पैरेन्टस के साथ सहज।
सहज की मां के साथ एक पुरानी फोटो।सहज की मां के साथ एक पुरानी फोटो।
सहज स्टडी वीजा पर गया था कना़डा।सहज स्टडी वीजा पर गया था कना़डा।
सहज 2 साल के लिए गया था कनाडा।सहज 2 साल के लिए गया था कनाडा।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..