--Advertisement--

मल्टीनेशनल कंपनी का डाटा चोरी कर डिलीट किया, महिला कर्मचारी ने किया भंडाफोड़

कंपनी के 3 कर्मचारियों की साजिश का महिला कर्मचारी ने किया भंडाफोड़

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 06:30 AM IST
डेमोफोटो डेमोफोटो

पठानकोट. मल्टीनेशनल कंपनी कर्मा सॉफ्ट वेब टेक्नोलॉजीस फर्म का डाटा व अन्य रिकार्ड चोरी कर उसे डिलीट कर दिया। पुलिस मोहल्ला नत्थू नगर निवासी अभिषेक के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच कर रही है कि उसके साथ इस रैकेट में और कौन-कौन शामिल है। एनआरआई थाना गुरदासपुर की एकनामिक सेल में शिकायत हुई थी कि आरोपी ने एनआरआई ग्राहकों के क्रेडिट कार्ड का नंबर लेकर लाखों रुपए निकाल लिए।

एनआरआई थाने से जांच अब पठानकोट थाना डिवीजन नं.1 व 2 की पुलिस कर रही है। एफआईआर में आरोपी अभिषेक फरार बताया जा रहा है। पुलिस मान रही है कि अभिषेक ने आफिस के दो कर्मियों को साथ मिलाकर मामले को अंजाम दिया है।


शिकायतकर्ता लमीनी के प्रताप नगर निवासी नीरज महाजन ने पुलिस को दी हुई शिकायत में बताया कि वह बिजनेस विजिट से यूएसए में थे। उनके आफिस में तैनात अभिषेक शर्मा ने आफिस में काम करने वाले दो कर्मियों को अपने साथ मिला लिया और उनसे सब ग्राहकों को डाटा व क्रेडिट कार्ड चोरी करवाए। आफिस से अप्रैल 2017 से अभिषेक को निकाल दिया था। लेकिन किसी न किसी बहाने वह दफ्तर पहुंच जाता था।

कर्मा सॉफ्ट वेब टेक्नोलॉजीस कंपनी में 80 हजार ग्राहकों के हैं एकाउंट्स

शिकायतकर्ता का कहना है कि कंपनी के यूएसए के 80 हजार ग्राहकों के अकाउंट हैं, जो उनकी कंपनी से सेल परचेज करते हैं। अभिषेक व उसके दो साथियों ने ग्राहकों से ठगी करने के लिए एक फेक वेबसाइट बनाई, जो कंपनी की मेन वेबसाइट से मिलती जुलती थी। इन लोगों ने एक और कर्मी को अपने साथ मिलाने की कोशिश की तो उसने फ्राड समझ आने पर सारी साजिश का भंडाफोड़ कर दिया और कंपनी चलाने वाले मालिक को इस संबंधी बता दिया। शिकायतकर्ता नीरज का कहना है कि वह जब यूएसए से वापिस आए तो इन कर्मियों ने बहाना बना कर कंपनी छोड़ने की बात करने लगे और और तीनों ने कंपनी के यूएसए के ग्राहकों के एकाउंट्स से पैसे निकालना जारी रखा। फिर कंपनी छोड़ते वक्त इन कर्मियों ने कंप्यूटर्स से सारा डाटा डिलीट कर दिया. और ऑफिस का ईमेल आईडी भी वापिस नहीं किया जिसमे कंपनी की सारी संवेदनशील जानकारियां थी। जब इन्हें आफिस में बुलाकर दोबारा जॉब कॉन्ट्रैक्ट साइन करने के लिए कहा तो इन लोगों ने फर्जी सिग्नेचर कर दिए। 14 नवंबर को कैनेडा की सुजैन के अकाउंट से 400 यूएस डालर की ठगी हुई और कुछ ग्राहकों के अकाउंट से पैसे उसी दिन चुरा लिए। शिकायतकर्ता ने मांग रखी है कि इन लोगों से कंपनी का सारा डाटा, क्रेडिट कार्ड नंबर्स रिकवर किए जाए। उधर थाना डिवीजन नं.2 प्रभारी रविंद्र रूबी का कहना है कि हम इस मामले की जांच कर रहे हैं।

X
डेमोफोटोडेमोफोटो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..