Hindi News »Punjab »Jalandhar» NSG To Be A Documentary Of Pathankot Airbase Attack

पठानकोट एयरबेस हमले की डाक्युमेंटरी बना रहा NSG, हिस्ट्री चैनल कर रहा मदद

हिस्ट्री चैनल कर रहा मदद।

bhaskar news | Last Modified - Dec 14, 2017, 06:24 AM IST

  • पठानकोट एयरबेस हमले की डाक्युमेंटरी बना रहा NSG, हिस्ट्री चैनल कर रहा मदद

    पठानकोट.दो साल पहले पाकिस्तान सीमा पार कर पठानकोट एयरबेस में घुसे छह आतंकियों के नेशनल सिक्योरिटी गार्ड्स (एनएसजी) द्वारा सफाई की डाक्यूमेंट्री खुद एनएसजी हिस्ट्री चैनल के साथ मिलकर बना रहा है। आतंकियों के खिलाफ एनएसजी के सबसे लंबे चले आपरेशन को उसकी दूसरी वर्षगांठ पर प्रसारित करने की योजना है।

    चार दिनों तक चले आपरेशन में एनएसजी ने छह आतंकियों को मार गिराया था और एक एनएसजी कमांडो समेत 7 सुरक्षा कर्मी भी शहीद हुए थे। डाक्यूमेंट्री के लिए अभी तक लगे गोलियों के निशान से लेकर आतंकियों के एयरबेस के भीतर दाखिल होने तक की घटना को कैद किया जा रहा है। देश के अति संवेदनशील एयरबेस को फिल्माने के लिए बाकायदा गृह मंत्रालय की परमिशन ली गई है।

    31 दिसंबर 2015 की रात भारत में दाखिल हुए थे आतंकी

    जिले की बमियाल के साथ लगती सीमा से 31 दिसंबर 2015 की रात आतंकी भारत में दाखिल हुए थे जिनमें से 4 ने पंजाब पुलिस के एसपी सलविंदर सिंह को गनप्वाइंट पर लेकर एयरफोर्स की बाउंड्री के पास पहुंचे। एसपी और उनके साथियों को कुछ दूरी पर फेंककर 1 जनवरी की तड़के आतंकी एयरबेस के अंदर दाखिल हो गए थे। 24 घंटे तक भीतर छिपे रहे और 2 जनवरी को तड़के 3 बजे हमला किया। सलविंदर सिंह के बयान और इंटेलीजेंस इनपुट के कारण रात को ही दिल्ली से एनएसजी कमांडो की टीम को लैंड कर तैनात कर दिया गया था। चार दिनों तक चले आपरेशन में एनएसजी ने छह आतंकी ढेर किए थे।

    सबसे लंबा चला आपरेशन

    एयरबेस में घुसे आतंकियों ने 2 जनवरी रात 3 बजे हमला किया। 2 को ही शाम तक एनएसजी ने 4 आतंकियों को ढेर कर दिया। बाकी बचे 2 आतंकी रुक-रुक कर फायरिंग करते रहे। एनएसजी ने 5 जनवरी को आपरेशन खत्म करने की जानकारी दी। आपरेशन 4 दिन और 3 रात चला। मुंबई हमले में भी एनएसजी को इतना समय नहीं लगा था। खुद रक्षा मंत्री मनोहर पारिकर ने यहां पहुंचकर आपरेशन के पूरा होने का एलान किया। आईईडी विस्फोट में एनएसजी के लेफ्टिनेंट कर्नल ईके निरंजन शहीद हो गए थे। पूरे आपरेशन में अत्याधुनिक हथियारों से लैस 300 एनएसजी कमांडो एयरबेस में लगाए गए थे। बाद में खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सुरक्षा सलाहकार एयरबेस पहुंचे थे।

    एनएसजी कमांडो आतंकी बन री-कंस्ट्रक्ट कर रहे हमले की तस्वीर

    एयरफोर्स सूत्रों के मुताबिक एक हफ्ते से एनएसजी की टीम उन खास प्वाइंट्स को फिल्मा रही है जिस प्रकार आतंकियों का सफाया किया गया था। हमले को री-कंस्ट्रक्ट करने के लिए कमांडो आतंकी बनकर शूटिंग रहे हैं कि किस प्रकार आतंकी टेक्निकल एरिया और एयरफोर्स के रेजीडेंशियल एरिया की ओर बढ़ना चाहते थे लेकिन एनएसजी और सेना ने उन्हें एरिया में ही घेरकर सफाया कर दिया। गोलियों के निशान अभी भी वैसे हैं, जिन्हें फिल्माया जा रहा है। डाक्यूमेंट्री शूटिंग की सिविल प्रशासन को जानकारी नहीं दी गई थी। पुलिस प्रशासन को पता तब लगा जब टीम बाउंड्री वाल के बाहर उन प्वाइंट्स की शूटिंग करने लगी जहां से आतंकी भीतर दाखिल हुए थे। एनएसजी के 4 कमांडो आतंकी बने हुए थे। एसएसपी विवेकशील सोनी का कहना है कि हमें एयरफोर्स द्वारा इसकी कोई जानकारी नहीं दी गई थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jalandhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×