--Advertisement--

दुल्हन ने ऐसा करने के बाद ससुराल में रखा कदम, सरपंच पति ने शगुन में लिए पौधे

अपने गांव को देश का पहला पटाखा मुक्त गांव का खिताब भी दिलवा चुके हैं चरणजीत

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 04:59 AM IST
पत्नी के साथ गांव पहुंचे तो सबसे पहले किया पौधरोपण पत्नी के साथ गांव पहुंचे तो सबसे पहले किया पौधरोपण

जालंधर. सुल्तानपुर लोधी के पास सराय जट्‌टां देश का ऐसा पहला गांव है, जहां इवेन्टस में पटाखे नहीं चलाए जाते। सरपंच जिनकी शादी हुई है उनका मकसद यही है कि वातावरण के प्रति लोग सचेत हों और पटाखे न चलाएं। युवा सरपंच का नाम चरणजीत सिंह ढिल्लों है, उन्होंने गांव को हरा-भरा बनाने के लिए ऐसा किया।

मेहमानों को दिए पौधे

- सरपंच ढिल्लों की शादी अमृतसर की कोमलप्रीत से हुई है।

- शादी में आए मेहमानों और परिवार को पौधे दिए गए।

- कमलप्रीत कहती हैं कि उन्हें खुशी है कि शादी पर परिवार को हरियाली निशानी के रूप में दी।

पत्नी के साथ गांव पहुंचे तो सबसे पहले किया पौधारोपण

- युवा सरपंच चरणजीत सिंह ढिल्लों और उनकी पत्नी कमलप्रीत जब गांव सराय जट्टां पहुंचे तो ढिल्लों ने घर में प्रवेश करने से पहले गांव में पत्नी के साथ पौधारोपण किया।

- ढिल्लों ने कहा कि वे वातावरण प्रेमी संत बलबीर सिंह सीचेवाल के दिखाए रास्ते पर चल रहे हैं। - इस नई परंपरा के लिए वातावरण प्रेमी संत सीचेवाल ने नवदंपति को बधाई दी।

X
पत्नी के साथ गांव पहुंचे तो सबसे पहले किया पौधरोपणपत्नी के साथ गांव पहुंचे तो सबसे पहले किया पौधरोपण
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..