--Advertisement--

विदेशी स्टूडेंट्स के साथ सरपंच ने रगड़ी दीवार, ये था कारण

24 दिसंबर तक काम पूरा करने का लक्ष्य, 25 दिसंबर को स्कूल में होगा समागम

Danik Bhaskar | Dec 18, 2017, 05:41 AM IST

रत्तोके (संगरूर). विदेशी छात्रों की टीम में शामिल लड़कियों को सर्द हवाओं के बीच गांव के सरकारी प्राइमरी स्कूल की दीवारों पर पेंट करने के लिए दीवारों को कुरेदे देख गांव के सरपंच ने जब हाथ बढ़ाया तो गांव के दूसरे लोग भी काम में जुट गए। अब विदेशी छात्रों के साथ गांव के सरपंच से लेकर सभी गणमान्य व्यक्ति भी पेंट करने में विदेशी छात्रों का साथ दे रहे हैं। ऐसे में विदेशी छात्र उनके साथ हाथ बंटाने वाले गांव के हर व्यक्ति को अपने हाथों से तोहफा देकर जाएंगे जोकि छात्र सिंगापुर से ही लेकर आए हैं। बता दें कि स्कूल में पेंट और निर्माण कार्य को टीम की ओर से 24 दिसंबर तक पूरा करना है।

जिसके लिए छात्र रोजाना 8 घंटे तक काम कर रहे हैं। कार्य पर नजर डाली जाए तो पेंट और निर्माण तक का 50 प्रतिशत काम पूरा कर लिया गया है। खास बात यह है कि पिछले तीन दिनों से गांव के सरपंच गुरचरण सिंह, सोसायटी डायरेक्टर कुलदीप सिंह, पूर्व सरपंच सरजा सिंह, पाल सिंह, गुरजीवन सिंह, गुलाब सिंह, नवदीप सिंह और जगसीर सिंह समेत गांव के कई लोग छात्रों के काम में हाथ बंटा रहे हैं। गांव के लोगों ने स्कूल की ईमारत की पिछली दीवारों और बाउंडरी वॉल को लोहे की पत्तियों और रेगमार के साथ साफ कर पेंट योग्य बना दिया है।


बच्चों को सर्द हवा में काम करते देख सहायता के लिए बढ़ाया हाथ
सर्द भरी हवाओं के बीच छात्रों को मजदूरों से भी अधिक मेहनत करते हुए देख रहा नहीं गया। जिस कारण छात्रों के साथ काम करने का फैसला लिया। उनके काम में उतरने के बाद गांव के दूसरे लोग भी उसके साथ लग गए। गुरचरणसिंह, सरपंच

सिंगापुर के छात्र गांव के लोगों को देंगे तोहफे
विदेशी छात्र गांव के लोगों की मेहमान निवाजी, अच्छे व्यवहार से काफी प्रभावित हैं। ऐसे में छात्रों की ओर से उनकी मेहमान निवाजी करने वाले और उनका 25 दिसंबर तक साथ देने वाले हर व्यक्ति को विशेष तौर पर तोहफा देकर सम्मानित किया जाएगा। टीम में शामिल कुछ छात्र रोजाना तोहफों की पैकिंग भी करते हैं। जहां तोहफे पैक किए जा रहे हैं वहां किसी को जाने की इजाजत नहीं है।