--Advertisement--

पत्नी के थे जीजा से अवैध संबंध, शक हुआ तो पति ने किया सुसाइड, दोनों को मिली सजा

नौ साल के बेटे और पिता के साथ कैंप में रह रहा था मृतक।

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 05:43 AM IST
दीपक बांगड़ दीपक बांगड़

जालंधर. भार्गव कैंप के मेन बाजार में 35 साल के खिलौना व्यापारी दीपक बांगड़ ने सोमवार शाम घर में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। दीपक की पत्नी बलजिंदर बेवी घरेलू झगड़े के कारण करीब तीन साल से मायके रह रही है। उसने पति पर खर्च देने का केस किया हुआ था। दीपक पत्नी को घर लाना चाहता था।


पिता का आरोप है कि दीपक के घर में उसका सांढू दखल देता था। ससुर को शक है कि बहू के जीजा रेशम से गहरे रिश्ते हैं। इसी बात को लेकर बहू घर नहीं लौट रही थी। जिससे दुखी होकर बेटे दीपक ने जान दी है। थाना भार्गव कैंप में दसूहा की बलजिंदर बेवी और उसके जीजा होशियारपुर के रेशम के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज किया है।
मकान नंबर-37 में शाम 6.30 बजे पिता ने बेटे की लाश फंदे से लटकती देखी। 20 मिनट पहले ही घर के नीचे बनी खिलौने की दुकान पर अपने एक्सईएन दोस्त के साथ बैठे पिता को वह कहकर गया कि - आप बैठो, मैं चाय बनाकर देता हूं। जब पिता को लगा कि काफी देर हो गई है तो वह ऊपर गए। दूसरी मंजिल पर बेटे ने चादर गले में लपेट पंखे से फंदा लगाया हुआ था। उसने दोस्तों को बुलाकर परिवार के बाकी सदस्यों को फोन किया। थाना भार्गव कैंप पुलिस जांच कर रही है।

बेटे की मौत के बारे में पोते को तीन घंटे बाद बताया
पिता श्याम लाल ने बताया कि दीपक की 10 साल पहले दसूहा निवासी बलजिंदर के साथ शादी हुई थी। उनका 9 साल का बेटा नवरत्न है। बेटे को टीबी थी। इसीलिए कलेश शुरू कर दिया। उसका जीजा रेशम बहू को भड़काने लगा। तीन साल पहले बेवी ने हमारे खिलाफ केस कर दिया और 9 साल के बेटे नवी को छोड़कर मायके चली गई। दीपक के पिता श्याम ने बताया कि व बिजली महकमे से एलडीसी रिटायर हुए हैं। पौते नवी को तीन घंटे बाद उसके पिता की मौत के बारे में बताया। उनका एक अबादपुरा में भी घर है। दुकान बेटा चलाता था। घर में कंस्ट्रक्शन चल रही थी।

X
दीपक बांगड़दीपक बांगड़
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..