Hindi News »Punjab »Jalandhar» सरकार की आमदनी और खर्च के एक-एक पैसे का हिसाब

सरकार की आमदनी और खर्च के एक-एक पैसे का हिसाब

बढ़ा फेसबुक का मुनाफा 2017 की चौथी तिमाही में सालाना आधार पर। अक्टूबर से दिसंबर में कंपनी को हुआ 423 करोड़ डॉलर (करीब 27,080...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 04:05 AM IST

बढ़ा फेसबुक का मुनाफा 2017 की चौथी तिमाही में सालाना आधार पर। अक्टूबर से दिसंबर में कंपनी को हुआ 423 करोड़ डॉलर (करीब 27,080 करोड़ रुपए) का मुनाफा हुआ।

बजट के कठिन आंकड़ों को हमने समझाने और सुलझाने की कोशिश की है। इसमें अलग-अलग मदों में सरकार की प्राप्तियां और खर्च दिखाए गए हंै। आसानी के लिए पिछले बजट से तुलना भी की गई है।



(नोट : इस दस्तावेज में पृथक-पृथक मदें पूर्णांकन के कारण संभवत: जोड़ से मेल न खाएं।)

संक्षेप

2016-2017 2017-2018 2018-19 ज्यादा/कम

वास्तविक संशोधित अनुमान बजट अनुमान (मूल्य) %

कुल प्राप्तियां (१+२+३ए) 14,39,575 16,22,901 18,17,937 1,95,036 12.0%

कुल खर्च 19,75,194 22,17,750 24,42,213 2,24,463 10.1%

फिस्कल डेफिसिट 5,35,619 5,94,849 6,24,276 29,427 4.9%

डॉलर 64.02  0.44

पाउंड 91.13  1.22

यूरो 79.58  0.41

येन (100) 58.35  0.11

सेंसेक्स 35,906.66  58.36

निफ्टी 11,016.90  10.80

सोना (99.5) (िदल्ली) 31,250  150

चांदी (.999) (िदल्ली) 40,300 100

जालंधर , शुक्रवार, 02 फरवरी, 2018



*सब्सिडी

2016-2017 2017-2018 2018-19 ज्यादा/कम

वास्तविक संशोधित अनुमान बजट अनुमान (मूल्य) %

1. उर्वरक 66,313 64,974 70,080 5,106 7.9%

2. खाद्य 1,10,173 1,40,282 1,69,323 29,041 20.7%

3. पेट्रोलियम 27,539 24,460 24,933 473 1.9%

एमएंडएम 801.00  37.95 4.97%

आयशर मोटर्स 28,210.05  1,286.45 4.78%

बजाज फाइनेंस 1,742.90  65.05 3.88%

एलएंडटी 1,458.00  41.50 2.93%

सन फार्मा 555.40  24.50 4.22%

ओएनजीसी 195.45  8.00 3.93%

डाॅ. रेड्‌डीज 2,160.00  65.35 2.94%

अरबिंदो फार्मा 611.20  18.35 2.91%

आंकड़ों से सामने आई यह तस्वीर...

कुल प्राप्तियों में से 81% (रु. 14,80,649 करोड़) नेट टैक्स रेवेन्यू से अनुमानित है। यह िपछले साल से 17% ज्यादा है।

सकल टैक्स रेवेन्यू में जीएसटी की सबसे अधिक हिस्सेदारी ३3% (‌‌रु. 7,43,900 करोड़) है। जबकि काॅर्पोरेशन टैक्स की 27% (रु. 6,21,000 करोड़), आयकर की 23% (रु. 5,29,000 करोड़) और एक्साइज ड्यूटी की 11% (रु. 2,59,600 करोड़) की हिस्सेदारी है।

सरकार ने बजट में इनकम टैक्स से आय 20% बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। यह सालाना आधार पर रु. 87,745 करोड़ अधिक है। कस्टम ड्यूटी से आय में 16.8% कमी का अनुमान है।

नॉन-टैक्स रेवेन्यू प्राप्तियां पिछले साल के मुकाबले 3.9% (रु. 9,115 करोड़) बढ़ने का अनुमान है। इसमें ब्याज से आय 11.9% (रु. 1,611 करोड़) बढ़ने का अनुमान है।

कुल खर्च का 23.58% (रु. 5,75,795 करोड़) ब्याज भुगतान के लिए अावंटित किया गया है।

कुल खर्च का 11.58% (रु. 2,82,733 करोड़) रक्षा खर्च में आवंटित किया गया है।

पेट्रोलियम सेक्टर पर सब्सिडी पिछले साल के मुकाबले 1.9% बढ़ी है। फूड सेक्टर के लिए इसे 20.7% बढ़ाया गया है। इस साल कुल-मिलाकर सब्सिडी 15.1% बढ़ा दी गई है।

राजस्व खर्चे पिछले साल के मुकाबले 10.16% बढ़ाए गए हैं। वहीं, पूंजीगत खर्चों में 9.87% बढ़ाेतरी की गई है।

कुल प्राप्तियां 12% बढ़ाने के बाद भी राजकोषीय घाटा (फिस्कल डेफिसिट) रु. 6,24,276 करोड़ का है। इसकी व्यवस्था ऋण प्राप्तियों से की जाएगी।

ट्रांसपोर्ट, आईटी-टेलीकॉम, सामाजिक कल्याण व कृषि के लिए खर्च पर बजट क्रमश: 26%, 26%, 15% व 13% बढ़ाया गया है।

एक रुपए में 19 पैसा उधार का*...

35%जीएसटी समेत अन्य अप्रत्यक्ष करों से

35%कॉर्पोरेशन और इनकम टैक्स से

...और 18 पैसे जाएंगे उसके ब्याज पर*

32%राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को देंगे

11%सब्सिडी

* कुल प्राप्तियों व व्ययों में करों का, शुल्कों में राज्यों का हिस्सा शामिल।

संयोजन : सीए एस.के. जैन और कपिल शर्मा

रुपया आएगा

रुपया जाएगा

19%पैसा उधार और अन्य तरीकों से

11%टैक्स और कर्ज के अलावा अन्य विकल्पों से

18%लिए हुए कर्ज पर ब्याज चुकाने में जाएगा

27%अन्य खर्च

12%हिस्सा रक्षा एवं उसकी सेवाओं पर खर्च होगा

7

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jalandhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×