जालंधर

--Advertisement--

पत्नी ने हत्या के लिए दिए थे ढाई लाख

गोराया में कैनेडा में रहते एनआरआई मक्खन सिंह को गोली मार जख्मी करने के मामले में सीआईए स्टाफ (देहाती) पुलिस ने...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 04:05 AM IST
गोराया में कैनेडा में रहते एनआरआई मक्खन सिंह को गोली मार जख्मी करने के मामले में सीआईए स्टाफ (देहाती) पुलिस ने आरोपियों को काबू किया है। पुलिस ने आरोपियों को उनके घर में रेड कर गिरफ्तार किया है।

एसएसपी गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने बताया कि 26 जनवरी की सुबह गोरायां से सटे गांव कोटली खखियां में करीब 6.30 बजे कैनेडा में रहते एनआरआई मक्खन सिंह को गोली मारी गई थी। जोकि उसके पेट में लगी थी। जिसके कारण वह जख्मी तो हुआ था। मगर उसकी जान बच गई। वहीं 30 जनवरी को सीआईए स्टाफ की पुलिस ने आदमपुर कठार मेहतपुर के कुलवंत सिंह (30) और होशियारपुर में चंडीगढ़ रोड पर स्थित राम कॉलोनी के राजिंदर कुमार उर्फ राजू (30) को गिरफ्तार किया। पूछताछ में आरोपी कुलवंत सिंह ने कहा कि उसने सुपारी लेकर गोली मारी थी। इस वारदात में उसके और भी साथी होशियारपुर के बजवाड़ा गांव के अरुण कुमार उर्फ जोगा, सूरज नाथ और नकोदर के सत्ता और भोला हैं।

आरोपी कुलवंत और साथी रिमांड पर, जसविंदर कौर पर भी साजिश का केस

एसएसपी ने बताया- फरार अरूण उर्फ जोगा, सत्ता, सूरज, भोला की गिरफ्तारी के लिए तलाश जारी है। जसविंदर कौर पर भी साजिश का केस किया गया है। पकड़े गए दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर तीन दिन का रिमांड लिया है।

वारदात के बाद कार छोड़ी और होशियारपुर में कार चोरी की एफआईआर दर्ज करवाई

26 जनवरी को सारे स्कोडा और ऑल्टो दो कारों में मक्खन के पास गए थे। गोली मारने के बाद उन्होंने वारदात स्थल से 2 किलोमीटर की दूरी पर कार को छोड़ दिया था। वहीं इसके बाद राजिंदर सिंह राजू ने सदर होशियारपुर में कार चोरी की एफआईआर दर्ज करवाई थी। जिससे पुलिस को कोई शक ना हो सके। एसएसपी ने बताया कि वारदात के दिन ही स्कोडा कार की मिसिंग की रिपोर्ट दर्ज हुई तो वहां से जांच शुरू की गई। रिकार्ड निकालने पर सामने आया कि स्कोडा कार 8 लोगों में बेची और खरीदी गई है। कुलवंत इस कार का आठवां ऑनर था। इनवेस्टिगेशन में हर एक खरीददार को एक के बाद एक करके बुलाया गया। आखिर में जब कुलवंत आया तो उसने बताया कि कार चोरी हो चुकी है। जिसकी रिपोर्ट भी उसने दिखा दी। इसके बाद पुलिस ने कुलवंत का रिकार्ड चेक किया। जिसमें आया कि सदर होशियारपुर में उसके ऊपर 28 नवंबर 2012 को उसके खिलाफ अटेम्पट टू मर्डर का केस दर्ज हुआ था। मामला संदिग्ध लगने पर सख्ती से पूछताछ की गई तो कुलवंत ने सारा कुछ बता दिया। पुलिस ने जांच में कुलवंत से स्कोडा कार और 30 हजार रुपए बरामद किए हैं। कुलवंत ने बताया कि बाकी के 20 हजार रूपए वह अय्याशी में उड़ा दिए थे।

आरोपी ने कहा, जसविंदर कौर ने दी थी सुपारी

कुलवंत ने बताया कि कैनेडा के वैंकुवर के रहने वाले मक्खन सिंह की दूसरी प|ी जसविंदर कौर ने मक्खन को मारने की ढाई लाख की सुपारी दी थी। मक्खन ने जसविंदर से कैनेडा में नागरिकता पाने के लिए शादी की थी। इसके बाद नागरिकता मिलते ही उसने तलाक दे दिया। वहीं जब मक्खन ने वापस दिसंबर में आकर गोराया आकर तीसरी शादी की तो पता चलने पर जसविंदर ने पति मक्खन सिंह को मारने के लिए कुलवंत से संपर्क साधा। जसविंदर उसकी दूर की रिश्तेदार भी है। जिसके कारण उसने सारी बात बताने के बाद सुपारी दी। एडवांस के तहत डेढ़ लाख रुपए दिए गए। जबकि दूसरी ओर मक्खन ने बाकी साथियों को वारदात में शामिल किया। जिसके चलते एडवांस में सभी को 25 -25 हजार रुपये बांट दिए गए, लेकिन उसने खुद के पास सिर्फ 50 हजार रूपए रखे थे। एसएसपी ने बताया कि जसविंदर की गिरफ्तारी के लिए देहात पुलिस रेड कार्नर नोटिस जारी कर रही है।

X
Click to listen..