--Advertisement--

चंडीगढ़ से टीम ने जालंधर में लिए सबूत

यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी आफ इंडिया (यूआईडीएआई) के चंडीगढ़ कार्यालय से टीम वीरवार जालंधर पहुंची। टीम ने शाम 6...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 04:15 AM IST
चंडीगढ़ से टीम ने जालंधर में लिए सबूत
यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी आफ इंडिया (यूआईडीएआई) के चंडीगढ़ कार्यालय से टीम वीरवार जालंधर पहुंची। टीम ने शाम 6 बजे फूड एंड सिविल सप्लाई डिर्पाटमेंट के दफ्तर में आधार कार्ड से संबंधित सॉफ्टवेयर की शिकायत करने वाले भारत भूषण गुप्ता के साथ मुलाकात की।

मामला आधार कार्ड की पीडीएफ बनाने का

टीम के सामने सॉफ्टवेयर बेचने वालों से गुप्ता ने की बात

रामा मंडी के रहने वाले गुप्ता ने कुछ दिन पहले यूआईडीएआई को शिकायत भेजी थी कि अभी भी मार्केट में दोबारा आधार कार्ड के पीडीएफ प्रिंट निकालने वाला सॉफ्टवेयर उपलब्ध है। ये सॉफ्टवेयर 2500 रुपये में मिल रहा है। कोई भी आधार कार्ड होल्डर इस सॉफ्टवेयर में अपना फिंगर प्रिंट देकर आधार कार्ड का प्रिंट ले सकता है। एक बार आधार कार्ड होल्डर का फिंगर प्रिंट दर्ज होने का बाद आधार कार्ड की पीडीएफ फाइल जेनरेट हो जाती है, जिसे किसी को भी ई-मेल किया जा सकता है। गुप्ता ने टीम को बताया कि सॉफ्टवेयर खरीदने वाले एजेंट पैसे लेकर लोगों को आधार कार्ड प्रिंट करके दे रहे हैं। टीम ने गुप्ता से आधार कार्ड सॉफ्टवेयर बेचने वाले लोगों के मोबाइल नंबर व जरूरी विवरण लिए। गुप्ता ने दावा किया कि उन्होंने अथॉरिटी के सीनियर अफसरों के सामने आधार कार्ड सॉफ्टवेयर बेचने वालों से अपने मोबाइल फोन के जरिए हैंड फ्री मोड पर बातचीत की है।

X
चंडीगढ़ से टीम ने जालंधर में लिए सबूत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..