Hindi News »Punjab »Jalandhar» पहले दिन सर्वे टीम के सवालों में उलझे निगम अफसर

पहले दिन सर्वे टीम के सवालों में उलझे निगम अफसर

स्वच्छ भारत मिशन के तहत सिटी में सफाई सर्वे-2018 के लिए केंद्र की टीम ने सर्वे शुरू कर दिया है। वीरवार पहले ही दिन निगम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 04:15 AM IST

स्वच्छ भारत मिशन के तहत सिटी में सफाई सर्वे-2018 के लिए केंद्र की टीम ने सर्वे शुरू कर दिया है। वीरवार पहले ही दिन निगम अफसर टीम के सवालों में घिर गए। निगम अफसर सर्वे को जितना आसान ले रहे थे, सर्वे टीम के सवाल उतने ही उलझाने वाले निकले।

टीम ने हेल्थ और सेनिटेशन ब्रांच का जनवरी से दिसंबर 2017 तक का रिकार्ड देखा। हेल्थ अफसर डॉ. श्रीकृष्ण शर्मा द्वारा मुहैया करवाए गए रिकॉर्ड और निगम अफसरों ने कागजों में किए दावों को टीम खुद चेक करेगी। दावे गलत निकलने पर नेगेटिव मार्किंग होगी। दावों की हकीकत जानने के लिए टीम आज बाद दोपहर पब्लिक से डायरेक्ट फीडबैक लेगी।

सर्वे के पहले दिन टीम ने निगम अफसरों को सफाई के इंतजाम पर घेरा और हेल्थ व सेनिटेशन डिपार्टमेंट का रिकार्ड जांचा। सर्वे तीन दिन से ज्यादा चलेगा। टीम में शामिल मदन लाल और सुजीत कुमार ने जॉइंट कमिश्नर डॉ. शिखा भगत से मुलाकात के बाद काम शुरू किया। निगम से मिले कागजों की जांच के बाद सर्वे टीम शहर में सफाई का मुआयना करने निकलेगी। स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 में कार्वी कंसलटेंट कंपनी जांच कर रही है।

सफाई सर्वे-2018

निगम के कागजी दावों की होगी ग्राउंड लेवल पर जांच, फीडबैक के बाद गलत रिपोर्ट की भी होगी नेगेटिव मार्किंग

सिटी रिपोर्टर | जालंधर

स्वच्छ भारत मिशन के तहत सिटी में सफाई सर्वे-2018 के लिए केंद्र की टीम ने सर्वे शुरू कर दिया है। वीरवार पहले ही दिन निगम अफसर टीम के सवालों में घिर गए। निगम अफसर सर्वे को जितना आसान ले रहे थे, सर्वे टीम के सवाल उतने ही उलझाने वाले निकले।

टीम ने हेल्थ और सेनिटेशन ब्रांच का जनवरी से दिसंबर 2017 तक का रिकार्ड देखा। हेल्थ अफसर डॉ. श्रीकृष्ण शर्मा द्वारा मुहैया करवाए गए रिकॉर्ड और निगम अफसरों ने कागजों में किए दावों को टीम खुद चेक करेगी। दावे गलत निकलने पर नेगेटिव मार्किंग होगी। दावों की हकीकत जानने के लिए टीम आज बाद दोपहर पब्लिक से डायरेक्ट फीडबैक लेगी।

सर्वे के पहले दिन टीम ने निगम अफसरों को सफाई के इंतजाम पर घेरा और हेल्थ व सेनिटेशन डिपार्टमेंट का रिकार्ड जांचा। सर्वे तीन दिन से ज्यादा चलेगा। टीम में शामिल मदन लाल और सुजीत कुमार ने जॉइंट कमिश्नर डॉ. शिखा भगत से मुलाकात के बाद काम शुरू किया। निगम से मिले कागजों की जांच के बाद सर्वे टीम शहर में सफाई का मुआयना करने निकलेगी। स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 में कार्वी कंसलटेंट कंपनी जांच कर रही है।

निगम की वर्किंग के 1400 नंबर, ऑनलाइन जाएगी केंद्र को रिपोर्ट

टीम सफाई मुलाजिमों की गिनती, वे किस एरिया में काम कर रहे हैं और कूड़ा उठाने के लिए क्या साधन इस्तेमाल किए जा रहे हैं, इस बारे जानकारी ऑनलाइन अपलोड करके केंद्र को सूचित करेगी। निगम जो काम कर रहा है, उसके लिए 1400 नंबर मिलने हैं और बताए गई वर्किंग की डायरेक्ट ऑब्जरवेशन होगी। टीम ने सवालों की जानकारी लिखित मांगी है। हेल्थ डिपार्टमेंट जो डॉक्यूमेंट देगा, वह कमिश्नर के अटेस्ट करने के बाद सर्वे टीम स्वीकार करेगी। निगम के दस्तावेजों की आज भी जांच होगी। टीम दोपहर बाद फील्ड में निकलेगी।

सर्वे टीम ने डिटेल में मांगे जवाब

कूड़ा उठाने के लिए क्या इंतजाम हैं?

कितनी गाड़ियां इस्तेमाल हो रही हैं?

वरियाना डंप साइट तक किस तरह कूड़ा पहुंचाया जाता है?

डंप पर कूड़ा कब से जमा है?

प्रोसेसिंग में क्या रुकावट है?

शहर में कितनी सड़कें है और सफाई के लिए क्या शेड्यूल है?

वार्ड लेवल पर कितने सफाई मुलाजिम हैं?

सफाई मुलाजिमों हाजिरी कैसे लगती है?

सेलरी किस तरह जारी होती है?

शाम को सफाई करवाई जाती है या नहीं?

अलग-अलग रंगों के डस्टबिन कितने पॉइंट्स पर लगाए?

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jalandhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×