--Advertisement--

थप्पड़ का बदला लेने के लिए की थी हत्या, डेढ़ दर्जन से ज्यादा हैं आरोपी

पूछताछ शुरू की है। हैप्पी मर्डर केस को ट्रेस करवाने में भाजपा नेता शीतल अंगुराल की भूमिका अहम रही है।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 04:30 AM IST
डेमो फोटो डेमो फोटो

जालंधर. बाबू जगजीवन राम चौक के पास वीरवार रात हमले में जख्मी अशोक कुमार हैप्पी की आधी रात 2.30 बजे सत्यम अस्पताल में मौत हो गई। हैप्पी के मर्डर का कारण यह निकल कर रहा है कि उसके भतीजे को बाइक सवार ने टक्कर मार दी थी। हैप्पी ने बाइक चला रहे हत्यारोपी रूप को थप्पड़ मार दिया था। वह धमकी देकर गया था कि उसे नहीं पता कि उसने किस पर हाथ उठाया है। हैप्पी मर्डर केस में पुलिस ने तीन संदिग्ध आरोपी राउंडअप कर उनसे पूछताछ शुरू की है। हैप्पी मर्डर केस को ट्रेस करवाने में भाजपा नेता शीतल अंगुराल की भूमिका अहम रही है।

केस में करीब डेढ़ दर्जन से ज्यादा आरोपी बताए जा रहे हैं। 9 की पुलिस की पहचान कर चुकी है। जबकि काला संघिया रोड का रूप और उसका दोस्त गेलू मुख्य आरोपी हैं। उनकी तलाश में रेड चल रही है। एडीसीपी सिटी-2 डी सुडरविजी ने कहा कि जब तक सारे आरोपी पकड़े नहीं जाते, पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकती। वैसे लगभग सारे आरोपी ट्रेस कर लिए गए हैं।

पुलिस ने सबसे पहले रूप के साथी सुखप्रीत को राउंडअप कर पूछताछ की तो उसने माना कि वह गेलू और रूप के साथ कोट सदीक जिम के बाद से जूस पीने वीरवार दोपहर सेंट सोल्जर कॉलेज के पास आया था। बाइक पर तीनों बस्ती दानिशमंदा के वाल्मीकि मोहल्ला से निकल रहे थे कि उनकी बाइक एक बच्चे से टकरा गई। इसके बाद लोग जमा हो गए। तभी हैप्पी घर से बाहर निकला और पूछा कि बाइक कौन चला रहा था? सुखप्रीत ने कहा कि वह चला रहा था। इस पर हैप्पी ने उसे थप्पड़ मारकर भगा दिया। लेकिन रूप भड़क गया था। वहां से निकलकर रूप और गेलू ने कॉल करनी शुरू कर दी। वह घर लौट आया था। शुक्रवार सुबह न्यूज पेपर से पता चला कि हैप्पी पर हमला हुआ है।

पुलिस ने केस से जुड़े दूसरे आरोपी रवि को हिरासत में ले लिया है। रवि कहता है कि उसे कॉल आई थी तो वह दोस्त जसपाल के साथ गेलू और रूप से मिला था। यहां पर पहले से ही काफी युवक मौजूद थे। पहले रेकी की तो पता चला कि हैप्पी मंडी में लाइट लगाता है। रूप ने इतना कहा था कि हैप्पी को सबक सिखाना है। वे लोग तो उसे पीटने गए थे, मगर उसे नहीं पता कि हैप्पी के सिर में दातर किसने मार दिए थे। हैप्पी गिर गया और सिर से खून बहने लगा था तो वे भाग गए थे।

पुलिस की ढीली कार्यप्रणाली
हैप्पी की मौत के बाद भाजपा के प्रदेश प्रधान और केंद्रीय राज्य मंत्री विजय सांपला ने लाॅ एंड आॅर्डर की स्थिति पर सवाल उठाए। उन्होंने फेसबुक पर लिखा- पुलिस नाके से कुछ दूरी पर दलित युवक की हत्या होना पुलिस की ढीली कार्यप्रणाली का नतीजा है। उनकी प्रतिक्रिया के बाद भाजपा की लीडरशिप एक्टिव रही।