पंजाब / लिव इन में रह रही महिला के पार्टनर और भाई ने हाथ-पैर पकड़े, भाभी ने चाकू से आंखें गोद डाली



अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल में भर्ती घायल रानी। अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल में भर्ती घायल रानी।
X
अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल में भर्ती घायल रानी।अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल में भर्ती घायल रानी।

  • जालंधर के गढ़ा की महिला 13 महीने से टांडा में रह रही थी, सुबह वरियाणा के पास घायल मिली, पुलिस को दिए बयान में लगाए आरोप

  • घायल के मुताबिक झगड़े के दौरान भाभी बोली-तेरी चोंच बहुत चलती है, इसे बंद करती हूं, पहले मेरा होंठ काटा फिर आंखें फोड़ी दी

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 10:43 AM IST

जालंधर/अमृतसर. जालंधर में गुरुवार को एक महिला की आंखें फोड़ दी गई। आरोप किसी और पर नहीं, बल्कि उसकी अपनी भाभी और पार्टनर पर है। बताया जाता है कि यह महिला पिछले करीब 13 महीने से अपनी भाभी के भाई के साथ लिव इन में रह रही थी। किसी बात पर कहासुनी हुई और उसके बाद उसका ये हाल कर दिया गया। चाकू से उसका एक होंठ काट दिया गया, वहीं दोनों आंखें गोद दी गई। फिलहाल महिला गंभीर हालत में अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल में भर्ती है।

 

घायल की जुबानी...
मेरा नाम रानी और उम्र 48 साल है। मैं होशियारपुर के टांडा में रहती हूं। जालंधर के कृष्णा नगर में मेरा भाई शंकर अपनी पत्नी गीता के साथ रहता है। भाभी गीता के भाई विजय के साथ मेरी नजदीकियां थीं। मैं बुधवार को जालंधर आई तो रात भाई के घर ही रहना था। भाभी का भाई शंकर भी यहीं था। रात को सभी ने खाना खाया। इस दौरान मेरी पिछली जिंदगी को लेकर बातचीत शुरू हो गई, जोकि तकरार में बदल गई। इसके बाद भाई, भाभी और विजय ने मुझे पकड़ लिया और जबरदस्ती लेदर कांप्लेक्स में ले गए। वहां भाई शंकर और विजय ने मेरे हाथ-पैर पकड़ लिए। इसके बाद भाभी गीता ने चाकू निकाला और बोली- तेरी चोंच बहुत चलती है, आज इसे बंद कर दूंगी। उसने पहले मेरा होंठ काट दिया और फिर चाकू से मेरी दोनों आंखों पर वार कर दिए। मैं चिल्लाती रही लेकिन कोई सुनने वाला नहीं था। जाते-जाते तीनों मेरे कानों में पहने टाॅप्स भी उतारकर ले गए।

 

बेटी बोली-13 महीने बाद अस्पताल में देखा मां को

उधर जख्मी रानी की बेटी रीना ने बताया कि मां 13 महीने पहले मामा शंकर के साले विजय के साथ चली गई थी। वह 13 महीने टांडा में रही। गुरुवार सुबह सिविल अस्पताल आए तो देखा दोनों आंखों पर चाकू मारे गए थे। रानी के बेटे किशन लाल गौतम ने बताया कि बुधवार उन्हें मामी गीता ने फोन किया था कि रानी उनके घर में है और वो आकर मिल जाए। वह मां से मिलना नहीं चाहता था लेकिन बार-बार फोन आने पर वह रात 9 बजे मामा के घर मां को मिलने चला गया। घर में कोई नहीं था। सुबह 9 बजे मां की हालत का पता लगा। मां ने बताया कि मामा, मामी और उसके भाई ने 40 हजार रुपए मांगे थे। उसने पैसे दे दिए, फिर भी उसकी आंखें फोड़ दीं।


भाभी गीता और भाई शंकर गिरफ्तार, पार्टनर फरार
थाना बस्ती बावा खेल के एसआई मेजर सिंह ने बताया कि सुबह 7:30 बजे किसी ने पुलिस को महिला के बारे जानकारी दी। सिविल में इमरजेंसी में डॉ. राकेश चोपड़ा ने होंठ और आंखों पर जख्म देखे। आई स्पेशलिस्ट के आने के बाद तुरंत 108 एंबुलेंस में रानी को गुरु नानक मेडिकल काॅलेज अमृतसर रेफर कर दिया गया। पुलिस ने रानी की भाभी गीता और भाई शंकर को अरेस्ट करके धारा 323, 324, 326 और 379 के तहत केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल गीता का भाई विजय फरार है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना