--Advertisement--

चाचा ने भतीजी पर तेजाब फेंक लिया था इस बात का बदला, बंद था जेल में और कर ली सुसाइड

मजिस्ट्रेट की निगरानी में डॉक्टरों के पैनल ने किया मृतक का पोस्टमार्टम

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 05:37 AM IST
मोहल्ले वालों ने पकड़ा था चाचा को। मोहल्ले वालों ने पकड़ा था चाचा को।

कपूरथला. 8 फरवरी को युवती पर लिक्विड हमला करने वाले आरोपी चाचा ने माडर्न जेल में लोहे के जंगले से परने से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना सोमवार सुबह 7:45 बजे की है। आरोपी चाचा पिछले 66 दिन से जेल में बंद था। परिवार वालों का आरोप है कि उसे युवती की मां ने पैसे हड़पने के बाद लिक्विड हमले के मामले में झूठा फंसाया था। इस कारण उसने आत्महत्या की है। मृतक हरदीश सिंह के भाई बूटा सिंह की शिकायत पर थाना कोतवाली में महिला मनजीत कौर, उसकी बेटी कोमलप्रीत और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ धारा 306 के तहत केस दर्ज कर लिया है। ये था मामला...

बता दें कि पीड़ित युवती ढाई महीने से अस्पताल में उपचाराधीन है, इससे पहले पीड़िता के पिता ने उसकी पत्नी की ओर से बेटे से न मिलने देने पर सुसाइड की कोशिश की थी। वहीं, पुलिस ने जज पूनम कश्यप की अध्यक्षता में डॉक्टरों के पैनल ने मृतक हरदीश सिंह का पोस्टमार्टम किया। इसके बाद लाश परिजनों को सौंप दी गई है। थाना कोतवाली के एसएचओ हरगुरदेव सिंह ने कहा कि मृतक का पोस्टमार्टम मजिस्ट्रेट जांच में हुआ है। डॉक्टरों का विशेष पैनल शामिल था।

8 फरवीर की शाम कोमलप्रीत पर हुआ था हमला, 68 दिन से अस्पताल में है

8 फरवरी की शाम कोमलप्रीत पर लिक्विड हमला हुआ था। कोमलप्रीत का पूरा चेहरा और शरीर जल चुका था। घटना मौके उसे पहले सिविल अस्पताल में ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने हालत बिगड़ती देखकर उसे अमृतसर मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया। मां मनजीत कौर कोमलप्रीत को जालंधर में जौहल अस्पताल ले गई। कोमलप्रीत 20 दिन जालंधर के आईसीयू में रही। 27 फरवरी को डॉक्टरों ने कोमलप्रीत को चंडीगढ़ पीजीआई रेफर कर दिया। 2 दिन उसका इलाज वहां पर चला 1 मार्च से कोमलप्रीत जालंधर के बाठ अस्पताल में दाखिल है। अब तक उसकी 2 सर्जरी हो चुकी है। अब चेहरा तो काफी बदल चुका है लेकिन अस्पताल से छुट्‌टी नहीं मिली है।

पहले लाखों रुपए हड़पे फिर झूठे केस में फंसाकर मेरे भाई की जिंदगी उजाड़ी : बूटा सिंह

गांव तनोली जिला होशियारपुर निवासी बूटा सिंह ने आरोप लगाया कि उसका भाई हरदीश सिंह पिछले 14 साल से ग्रीस में था। ग्रीस में रहते हुए हरदीश से उनके मामे की बहू मनजीत कौर निवासी औजला फाटक कपूरथला ने अलग-अलग समय साढ़े 7 लाख रुपए मंगवाए थे लेकिन अब उसे देने से इंकार कर रही थी। हरदीश फरवरी महीने में पंजाब आया था। 8 फरवरी को जैसे ही हरदीश अपने पैसे मांगने के लिए मनजीत कौर के घर गया तो उसने अपनी बेटी कोमलदीप पर लिक्विड हमला होने का झूठा केस बना दिया। हकीकत में मनजीत कौर ने खुद ही ड्रामा रचा था। पुलिस ने उसपर जानलेवा हमले का मामला दर्ज कर दिया। 8 फरवरी को पुलिस ने उसे पकड़कर 10 फरवरी को जेल भेज दिया।

चाचा को मोहल्ले वालों ने आरोपी की पकड़कर धुनाई कर दी। चाचा को मोहल्ले वालों ने आरोपी की पकड़कर धुनाई कर दी।
झुलसी युवती ने खुद पर डाल लिया था पानी। झुलसी युवती ने खुद पर डाल लिया था पानी।
आग लगने से रसोई का सामान जल गया। आग लगने से रसोई का सामान जल गया।
भाई बूटा सिंह ने लिक्विड से झुलसी युवती की मां पर परेशान करने का आरोप लगाया। भाई बूटा सिंह ने लिक्विड से झुलसी युवती की मां पर परेशान करने का आरोप लगाया।
X
मोहल्ले वालों ने पकड़ा था चाचा को।मोहल्ले वालों ने पकड़ा था चाचा को।
चाचा को मोहल्ले वालों ने आरोपी की पकड़कर धुनाई कर दी।चाचा को मोहल्ले वालों ने आरोपी की पकड़कर धुनाई कर दी।
झुलसी युवती ने खुद पर डाल लिया था पानी।झुलसी युवती ने खुद पर डाल लिया था पानी।
आग लगने से रसोई का सामान जल गया।आग लगने से रसोई का सामान जल गया।
भाई बूटा सिंह ने लिक्विड से झुलसी युवती की मां पर परेशान करने का आरोप लगाया।भाई बूटा सिंह ने लिक्विड से झुलसी युवती की मां पर परेशान करने का आरोप लगाया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..